scorecardresearch
 

यूपी: हाथरस के बाद बलरामपुर में दलित युवती के साथ गैंगरेप, पीड़िता की मौत

बलरामपुर पुलिस ने कहा है कि इस प्रकरण में पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने कहा है कि इस मामले में पीड़िता की हाथ पैर और कमर तोड़ने वाली बात सही नहीं है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि नहीं हुई है.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हाथरस के बाद बलरामपुर में गैंगरेप
  • गैंगरेप के बाद पीड़िता की मौत
  • पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ गैंगरेप के सदमे से लोग उबरे भी नहीं थे कि अब यूपी बलरामपुर में एक दलित लड़की के साथ गैंगरेप और हत्या की सनसनीखेज खबर सामने आई है. पोस्टमॉर्टम के बाद देर रात ही पीड़िता का दाह संस्कार कर दिया गया.

बहरहाल, यहां पर दो लड़कों ने दोस्ती के बहाने एक दलित युवती को बुलाया और इसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया. इस जघन्य हरकत को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपियों ने लड़की को गंभीर हालत में एक रिक्शे पर बैठाकर घर भेज दिया, जहां उसकी मृत्यु हो गई. पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया है. 

पुलिस के मुताबिक एक आरोपी का नाम शाहिद है इसके पिता का नाम हबीबुल्ला है और ये गैंसड़ी का रहने वाला है. दूसरे आरोपी का नाम साहिल है. इसके पिता का नाम हमीदुल्ला है, ये शख्स भी गैंसड़ी का रहने वाला है. 

बलरामपुर पुलिस ने कहा है कि इस प्रकरण में पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने कहा है कि इस मामले में पीड़िता की हाथ पैर और कमर तोड़ने वाली बात सही नहीं है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि नहीं हुई है. 

 

पुलिस ने बताया कि बलरामपुर के थाना गैंसली में एक तहरीर प्राप्त हुई है. एक 22 साल की लड़की के परिजनों ने बताया कि वो एक प्राइवेट फर्म में काम करती थी. लड़की जब कल काम करने गई तो देर शाम तक घर नहीं आई तो परिजनों को चिंता हुई. उन्होंने फोन से संपर्क करने की कोशिश की. लेकिन लड़की से संपर्क नहीं हो पाया. लेकिन लड़की थोड़ी देर बाद रिक्शे से आई. लड़की हालत खराब थी. 

तहरीर के हवाले से पुलिस ने बताया कि लड़की के हाथ में ग्लूकोज चढ़ाने वाला लगा हुआ था. लड़की की हालत खाफी खराब लग रही थी. परिजन तुरंत लड़की को हॉस्पिटल लेकर गए. लेकिन लड़की की रास्ते में ही मौत हो गई. परिजनों ने अपनी तहरीर में दो लड़कों नामजद किया है और कहा है कि इन लड़कों ने हमारी लड़की का इलाज कराया. इन लोगों ने लड़की के साथ बलात्कार किया है. जब लड़की की हालत खराब हुई तो उन लोगों ने उसे घर भेज दिया. पुलिस ने तहरीर पर तुरंत कार्रवाई करते हुए दोनों नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस आगे की छानबीन करेगी और जो दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी.

एडमिशन कराने के लिए गई थी छात्रा

रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता कॉलेज की छात्रा है. छात्रा के भाई की तहरीर पर पुलिस ने दो नामजद लोगों पर रेप और हत्या का केस दर्ज कर लिया है. ये घटना गैंसडी कोतवाली क्षेत्र की है. मंगलवार को पचपेडवा के डिग्री कॉलेज में बी-कॉम दितीय वर्ष की छात्रा एडमिशन कराने के लिए गई थी.

घायल अवस्था में छात्रा को रिक्शाचालक छोड़ गया

शाम को अचेत अवस्था में छात्रा को एक रिक्शा चालक उसके घर के पास छोडकर चला गया. छात्रा को लेकर परिजन अस्पताल जाने लगे तभी रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि कॉलेज से लौटते समय छात्रा का अपहरण किया गया और उसके साथ गैंसडी कस्बे के एक कमरे में गैंग रेप किया गया. 

 इस घटना के बाद से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. पुलिस ने छात्रा के भाई की तहरीर पर दो नामजद युवकों को गिरफ्तार कर लिया है. गैंसडी बाजार के जिस कमरे में छात्रा के साथ गैंगरेप का आरोप लगा है उस कमरे के बाहर छात्रा के चप्पल पड़े हुए मिले. जिस रिक्शे से छात्रा को उसके घर पहुंचाया गया वह रिक्शा भी उसी घर के सामने खडा मिला है.

किराना स्टोर मालिक का नाम आया सामने

जिस कमरे में छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना होने की बात कही जा रही है वह एक किराना स्टोर के पीछे का कमरा है. किराना स्टोर चलाने वाला युवक ही इस घटना का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है. गैंगरेप के बाद जब लडकी की हालत बिगडने लगी तभी पडोस के युवकों ने एक निजी चिकित्सक को इलाज के लिए बुलाया.  लेकिन निजी चिकित्सक कमरे में अकेली लडकी को देखकर इलाज करने से मना कर दिया और युवकों से उसके घरवालों को सूचना देने को कहा. 

पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है और दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया है. 

अखिलेश और संजय सिंह का वार 

इस घटना पर यूपी के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. अखिलेश यादव ने कहा है कि हाथरस के बाद अब बलरामपुर में भी एक बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार और उत्पीड़न का घृणित अपराध हुआ है व घायलावस्था में पीड़िता की मृत्यु हो गयी है. श्रद्धांजलि! भाजपा सरकार बलरामपुर में हाथरस जैसी लापरवाही व लीपापोती न करे और अपराधियों पर तत्काल कार्रवाई करे.

वहीं आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने इस मुद्दे को लेकर राज्य सरकार पर हमला किया है. उन्होंने कहा है कि "बलरामपुर में दिल दहला देने वाली घटना हुई है, एक दलित की बेटी हैवानों की दरिंदगी का शिकार हो गई, योगी राज में बेटी होना अभिशाप बन गया है, बेटियों की रक्षा नही कर सकते तो सत्ता छोड़ दो योगी जी."

(बलरामपुर से सुजीत के इनपुट के साथ)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें