scorecardresearch
 

यूपी एसटीएफ ने बरामद किया चार करोड़ का गांजा, नौ तस्कर गिरफ्तार

यूपी एसटीएफ ने मथुरा से करीब 4 करोड़ का गांजा बरामद किया है. यूपी एसटीएफ ने करीब 15 कुंतल से अधिक गांजा के साथ नौ तस्करों को भी गिरफ्तार किया है. गिरोह के सरगना की पत्नी और साली पहले से ही ड्रग्स तस्करी के मामले में जेल में बंद हैं. गांजा बरामदगी और तस्करों की गिरफ्तारी की ये कार्रवाई मथुरा के मुगर्रा थाना क्षेत्र से हुई है.

X
यूपी एसटीएफ की कार्रवाई (प्रतीकात्मक तस्वीर)
यूपी एसटीएफ की कार्रवाई (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नशा तस्करी के खिलाफ यूपी की पुलिस ने अभियान छेड़ रखा है. यूपी की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) को बड़ी कामयाबी मिली है. मथुरा के मुगर्रा थाना क्षेत्र से यूपी एसटीएफ ने नौ नशा तस्करों को गिरफ्तार किया है. इन तस्करों के पास से 15 कुंतल से अधिक गांजा बरामद किया गया है.

तस्करों के पास से बरामद गांजा की अनुमानित कीमत तीन करोड़ 75 लाख रुपये बताई जा रही है. बताया जा रहा है कि नशा तस्करों के इस गिरोह के सरगना मोहम्मद आलम की पत्नी और साली बिहार की जेल बंद हैं. मोहम्मद आलम की पत्नी और साली भी नशा तस्करी के मामले में ही सलाखों के पीछे हैं.

यूपी एसटीएफ को सूचना मिली थी कि मथुरा के मुगर्रा थाना क्षेत्र में नशा तस्करों का गिरोह सक्रिय है. मिली जानकारी के आधार पर यूपी एसटीएफ की टीम एक्टिव हो गई. यूपी एसटीएफ ने जाल बिछाकर तस्करों के बड़े गिरोह को धर दबोचा. इसमें नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है. 

एक बार खेप पहुंचाने पर एक लाख रूपये

यूपी एसटीएफ ने 15 कुंतल से अधिक गांजा बरामद किया है. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि ओडिशा से गांजा की हर एक खेप पहुंचाने पर एक लाख रुपये मिलते थे. पुलिस यह भी पता लगाने में जुटी है कि यह बरामद खेप कहां पहुंचाई जानी थी. संभावना जताई जा रही है कि बरामदगी और गिरोह के नौ लोगों की गिरफ्तारी के बाद कई बड़े खुलासे हो सकते हैं.

नशा तस्करों पर टेढ़ी हैं सीएम की नजरें

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजरें नशा तस्करों पर टेढ़ी हैं. सीएम योगी ने यूपी पुलिस को साफ निर्देश दिए हैं कि ड्रग्स माफिया के नेटवर्क को नेस्तनाबूद कर दिया जाए. पुलिस ने ड्रग्स तस्करी के रूट के साथ ही कुछ ड्रग्स माफिया को भी चिह्नित कर लिया है. इसी क्रम में अंतरराष्ट्रीय और अंतरराज्यीय सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है.

8 सितंबर तक बढ़ाया गया अभियान

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने इस संबंध में बताया कि अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर और अंतरराज्यीय सीमा पर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं. मादक पदार्थों की तस्करी, अवैध शराब और हुक्का बार के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए 24 से 31 अगस्त तक विशेष अभियान चलाया गया, जिसे अब 8 सितंबर तक बढ़ा दिया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें