scorecardresearch
 

रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षाः 5 लाख में हुई थी पास कराने की डील, दूसरे की जगह बैठे सॉल्वर समेत 4 गिरफ्तार, UPSTF का एक्शन

यूपी एसटीएफ ने रेलवे की ग्रुप डी भर्ती परीक्षा में दूसरे की जगह बैठे सॉल्वर समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तारी की ये कार्रवाई यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर के गीडा थाना क्षेत्र के नौसढ़ स्थित ऑनलाइन परीक्षा केंद्र से की है. इस गैंग ने ग्रुप डी की ऑनलाइन परीक्षा में पास कराने की डील पांच लाख रुपये में की थी.

X
यूपी एसटीएफ के हत्थे चढ़े सॉल्वर गैंग के सदस्य
यूपी एसटीएफ के हत्थे चढ़े सॉल्वर गैंग के सदस्य

शासन-प्रशासन परीक्षा की शुचिता के लिए सख्ती बरत रहा है. परीक्षा नकलविहीन, शुचिता के साथ संपन्न हो, इसके लिए तमाम कदम उठाने के दावे भी किए जा रहे हैं. मगर दूसरी तरफ नकल माफिया हैं कि मानने को तैयार नहीं. वे तू डाल-डाल, मैं पात-पात वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए प्रशासन की सख्त कार्रवाई के बावजूद एक्टिव हैं.

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का है जहां रेलवे में ग्रुप डी भर्ती के लिए ऑनलाइन परीक्षा हो रही थी. रेलवे ग्रुप डी की भर्ती परीक्षा में उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स (यूपीएसटीएफ) ने नकल माफिया गिरोह का खुलासा किया है. यूपी एसटीएफ ने दूसरे की जगह परीक्षा दे रहे सॉल्वर समेत गैंग के चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

बताया जाता है कि यूपी एसटीएफ को रेलवे की ग्रुप डी परीक्षा में सॉल्वर के बैठने की जानकारी मिली थी. मिली जानकारी के आधार पर एक्टिव हुई यूपी एसटीएफ की टीम गोरखपुर गीडा थाना क्षेत्र के नौसढ़ स्थित स्वास्तिक ऑनलाइन सेंटर पर पहुंच गई. स्वास्तिक ऑनलाइन सेंटर पहुंची टीम ने सेंटर के बाहर से तीन युवकों को पकड़ लिया.

यूपी एसटीएफ ने ऑनलाइन परीक्षा केंद्र के बाहर से पकड़े गए युवकों से सख्ती से पूछताछ की तो मामले का खुलासा हुआ. पकड़े गए युवकों ने ये जानकारी दी कि इस सेंटर पर मिथिलेश कुमार की जगह रंजीत कुमार परीक्षा दे रहा है. यूपी एसटीएफ ने परीक्षा केंद्र से दूसरे की जगह परीक्षा दे रहे सॉल्वर रंजीत कुमार को भी परीक्षा केंद्र से गिरफ्तार कर लिया.

यूपी एसटीएफ ने पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ गीडा थाना क्षेत्र में मुकदमा दर्ज करा दिया है. बताया जाता है कि इस गैंग ने पांच लाख रुपये में रेलवे की ग्रुप डी भर्ती के लिए ऑनलाइन परीक्षा पास कराने की जिम्मेदारी ली थी. पकड़ा गया सॉल्वर रंजीत कुमार गोरखपुर ही नहीं, राजधानी लखनऊ, प्रयागराज से लेकर चंडीगढ़ और उत्तराखंड तक जाकर दूसरों की जगह परीक्षा देता था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें