scorecardresearch
 

धर्मांतरण केसः वड़ोदरा पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट, गौतम के खिलाफ गंभीर आरोप

वडोदरा पुलिस ने आईबी इनपुट के आधार पर इस मामले में इन्वेस्टीगेशन शुरु की थी और आईपीसी की धारा 153ए, 406, 201, 465, 120बी के आधार पर मामला दर्ज कर लिया था.

वडोदरा पुलिस ने भी गौतम के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था वडोदरा पुलिस ने भी गौतम के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी में सामने आया था धर्मांतरण रैकेट
  • मोहम्मद गौतम को बनाया गया मुख्य आरोपी
  • वडोदरा पुलिस भी कर रही है मामले की जांच

यूपी के धर्मांतरण रैकेट केस में हवाला और फंडिंग के मामले में वडोदरा पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट फाइल की है. जिसके मुताबिक आरोपी बनाए गए मोहम्मद गौतम ने करीब सौ से दो सौ तक हिंदुओं का धर्म परिवर्तन करवाया है. 

वडोदरा पुलिस ने कोर्ट में 1807 पन्नों की चार्टशीट दाखिल की है. जिसमें वडोदरा पुलिस ने कहा कि सब से पहले लखनऊ जिले के गोमती नगर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420, 120बी, 153ए, 153बी के तहत मामला दर्ज किया गया था. इस मामले की जांच के दौरान यूपी एटीएस ने वडोदरा की आफमी चैरिटेबल ट्रस्ट के मुख्य ट्रस्टी सलाउद्दीन जैनुदिन शेख के जरिए फंडिंग का खुलासा किया था.

इसके बाद वडोदरा पुलिस ने आईबी इनपुट के आधार पर इन्वेस्टीगेशन शुरु की और आईपीसी की धारा 153ए, 406, 201, 465, 120बी के आधार पर मामला दर्ज कर लिया. 

इसे भी पढ़ें--- 'पत्नी कहती है कि दाढ़ी कटा नहीं तो तलाक ले लूंगी', इमाम ने की SSP से शिकायत 

चार्जशीट के मुताबिक 2017 में वडोदरा शहर के पानीगेट, हरणखाना रोड, मुस्लिम मेडिकल सेंटर पर आए हुए आफमी चैरिटेबल ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी सलाउद्दीन शेख को गिरफ्तार किया गया था. 2014 से लेकर अब तक उस ट्रस्ट के खाते में 19 करोड़ रुपये का ट्रांजेक्शन होने की बात सामने आई थी. ये पैसा दुबाई से हवाला के जरिए वडोदरा में पहुंचाया गया था.  

चार्जशीट में कहा गया कि 65 लाख रुपये की रकम दिल्ली में सीएए और एनआरसी के खिलाफ होने वाले प्रदर्शन और दंगे फैलाने वाले लोगों को छुड़ाने के लिए इस्तेमाल की गई थी. चार्जशीट में पुलिस ने दावा किया है कि आफमी चैरिटेबल ट्रस्ट के तहत आने वाले मुस्लिम मेडिकल सेंटर के सुपरवाइजर मोहम्मद हुसैन गुलाम रसूल के जरिए सलाउद्दीन ने उन पैसों से ग़ैरकानूनी धर्मांतरण कराया था. 

पुलिस ने अपनी चार्जशीट में सभी आरोपियों की भूमिका को लेकर भी जानकारी दी है. जिसके मुताबिक आरोपी मोहम्मद हुसैन गुलाम रसूल मंसूरी को 27 अगस्त 2021 को गिरफ्तार किया गया. आफमी चैरिटेबल ट्रस्ट के प्रमुख ट्रस्टी सलाउद्दीन ने ट्रस्ट की आड में विदेश से फंड लेकर FCRA और हवाला के जरिए पैसे इकट्ठा किया और उस पैसे का इस्तेमाल धर्मांतरण के लिए करने का आरोप है. जबकि  
मोहम्मद गौतम को मुख्य आरोपी बनाया गया है. इस मामले में 9 से 10 दिव्यांग लोग भी शामिल हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×