scorecardresearch
 

दिल्ली में लॉरेंस बिश्नोई गैंग से एनकाउंटर, सिपाही की बुलेटप्रूफ जैकेट में लगी गोली

पुलिस की ये मुठभेड़ दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 36 इलाके में हुई. यहां दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और बिश्नोई गैंग आमने-सामने आ गया. एनकाउंटर में दोनों तरफ से गोलियां चलीं. पुलिस के मुताबिक, बदमाशों की एक गोली पुलिसकर्मी की बुलेटप्रूफ जैकेट में लगी, जिसकी वजह से पुलिसकर्मी बाल-बाल बच गया.

X
दिल्ली पुलिस ने मुठभेड़ में तीन बदमाशों को पकड़ा है.
दिल्ली पुलिस ने मुठभेड़ में तीन बदमाशों को पकड़ा है.

दिल्ली में पुलिस और लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के बीच मुठभेड़ हो गई. दोनों तरफ से गोलियां चलाई गईं. घटना में एक पुलिस कर्मी को बुलेटप्रूफ जैकेट में गोली लगी है. मौके से तीन बदमाश गिरफ्तार किए गए हैं. पुलिस बदमाशों से पूछताछ कर रही है. पुलिस को बदमाशों के मूवमेंट की सूचना मिली थी.

पुलिस की ये मुठभेड़ दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 36 इलाके में हुई. यहां दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और बिश्नोई गैंग आमने-सामने आ गया. एनकाउंटर में दोनों तरफ से गोलियां चलाई गईं. पुलिस के मुताबिक, बदमाशों की एक गोली पुलिसकर्मी की बुलेटप्रूफ जैकेट में लगी, जिसकी वजह से पुलिसकर्मी बाल-बाल बच गया. जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी की और तीन बदमाशों को मौके से गिरफ्तार कर लिया. ये तीनों बदमाश लारेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग से जुड़े हुए हैं. पुलिस ने बताया कि इनसे पूछताछ की जाएगी और गिरोह की गतिविधियों के बारे में जानकारी ली जाएगी.

सिग्नल ऐप के जरिए संपर्क में थे तीनों बदमाश

पुलिस ने दावा किया है कि पकड़े गए तीनों बदमाश पिछले कई दिनों से नियमित रूप से सिग्नल ऐप के जरिए कनाडा में गोल्डी बरार के सीधे संपर्क में थे. अपने सोर्स के जरिए गोल्डी बरार ने पैसे, शेल्टर और हथियारों की व्यवस्था की है, जिसका जल्द खुलासा किया जाएगा.

मूसेवाला हत्याकांड में लॉरेंस और गोल्डी गैंग का हाथ

बता दें कि पंजाब में गायक शुभदीप सिंह उर्फ सिद्दू मूसेवाला हत्याकांड में लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग का हाथ होना सामने आया है. इस मामले में पुलिस कई शॉर्प शूटर्स को गिरफ्तार कर चुकी है. पिछले महीने अमृतसर में एक मुठभेड़ में दो शूटर्स मारे गए थे. दिल्ली पुलिस और पंजाब पुलिस ने आज नेपाल बॉर्डर से दीपक मुंडी समेत तीन लोगों को एनकाउंटर में गिरफ्तार किया है. दीपक मुंडी शॉर्प शूटर है और वह मूसेवाला की हत्या में शामिल था.

मूसेवाला की हत्या के वक्त बोलेरो में बैठा था दीपक

बताया गया कि सिद्धू मूसेवाला की गाड़ी का पीछा करने वाली बोलेरो में शूटर दीपक मुंडी ही बैठा था. इसी बोलेरो से गोलीबारी कर सिद्धू मूसेवाला की हत्या की गई थी. इस काम में कपिल पंडित और राजिन्दर ने लॉजिस्टिक, हथियार की सप्लाई की थी. वहीं बाद में छिपने की जगह भी उपलब्ध कराई थी.

लॉरेंस गैंग का सरगना लॉरेंस बिश्नोई है. वो इस समय दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है. जबकि गोल्डी बराड़ कनाड़ा में होना बताया जा रहा है. उसकी तलाश की जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें