scorecardresearch
 

गेमिंग एप की मदद से लापता लड़की का सुराग, जानें दिल्ली पुलिस ने कैसे ढूंढ निकाला

दिल्ली में एक लड़की के लापता होने की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने ढाई घंटे में लड़की का पता लगा लिया. लड़की के पास मोबाइल नहीं था, ऐसे में उसकी लोकेशन के बारे में पता लगाना पुलिस के लिए चुनौती था. जांच में पता चला है कि लड़की फ्री फायर गेम खेलती थी, जिसमें वह कई लोगों के संपर्क में थी.

X
दिल्ली पुलिस ने लापता लड़की को ढूंढ़ निकाला.
दिल्ली पुलिस ने लापता लड़की को ढूंढ़ निकाला.

दिल्ली पुलिस को एक नाबालिग लड़की के लापता होने की शिकायत मिली. शिकायत मिलने के ढाई घंटे के भीतर पुलिस ने इस मामले की गुत्थी सुलझा ली. पुलिस के अनुसार, 16 साल की लड़की अपने घर से लापता हो गई थी. लड़की की मां ने 14-15 अगस्त की दरम्यानी रात चाणक्य पुरी थाने में इस मामले की शिकायत की. महिला ने शिकायत में कहा कि उसकी बेटी शाम 5:30 बजे से लापता है.

शिकायत मिलने के बाद पुलिस की टीम बनाई गई. लड़की के पास कोई डिजिटल गैजेट नहीं था, इसलिए टेक्निकली उसे खोजना मुश्किल था. पुलिस ने सबसे पहले लड़की द्वारा इस्तेमाल किए गए मोबाइल की जांच की. इसमें पता चला कि वह 'फ्री फायर' ऑनलाइन गेम खेलती थी. वह इस खेल के जरिए अन्य खिलाड़ियों के संपर्क में भी थी. इसके अलावा उसके द्वारा पिता के मोबाइल से की गई कॉल रिकॉर्ड की भी जांच की गई. 

इस दौरान जांच में पता चला कि विक्रम चौहान निवासी राजस्थान के साथ भी लड़की संपर्क में थी. विक्रम चौहान के बारे में पता चलने के बाद उससे लड़की के बारे में पूछताछ की गई. विक्रम ने पुलिस के बताया कि 14 अगस्त की शाम करीब 5:45 बजे लड़की ने एक ऑटो रिक्शा चालक के मोबाइल से उसे फोन किया था.

इस दौरान उसने बताया कि वह नई दिल्ली के सरोजिनी मार्केट के पास राम मंदिर में है. इस सूचना पर पुलिस टीम तुरंत मौके पर पहुंची और तलाशी ली, लेकिन लापता लड़की का कोई सुराग नहीं लगा. इसके बाद विक्रम से फिर से संपर्क किया गया और इस दौरान पुलिस के हाथ एक और मोबाइल नंबर लगा. उस मोबाइल से लड़की ने फिर से संपर्क किया था.

इसके बाद मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर रखा गया. उसकी निगरानी के आधार पर पुलिस गुरुद्वारा बंगला साहिब नई दिल्ली पहुंची. लापता लड़की का पता लगाने के लिए वहां व्यापक तलाशी ली गई. टीम ने पवित्र स्थान की पवित्रता को ध्यान में रखते हुए वहीं तलाशी ली. इसके बाद दोपहर 2:30 बजे टीम को लड़की मिल गई. 

पूछताछ करने पर उसने बताया कि वह अपनी मां से किसी बात को लेकर विवाद के चलते घर से निकली थी. घर से निकलने के बाद वह नई दिल्ली के सरोजिनी नगर के पास राम मंदिर गई और एक ऑटो-रिक्शा चालक का मोबाइल फोन लेकर अपने दोस्त विक्रम को कॉल की थी.

इसके बाद वह गुरुद्वारा बंगला साहिब गई और फिर से विक्रम को गुरुद्वारे के एक सेवादार का मोबाइल लेकर कॉल किया. पुलिस ने लड़की को उसके परिजन के हवाले कर दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें