scorecardresearch
 

Mathura Railway Station से चोरी बच्चा BJP पार्षद के घर मिला, 1.85 लाख में हुआ था सौदा

मथुरा के एक गांव की महिला 24 अगस्त को Mathura railway station पर सो रही थी, तभी उसका बच्चा गायब हो गया था. इसकी शिकायत मिलने के बाद जीआरपी ने जांच की. सीसीटीवी के आधार पर आरोपी को पकड़ा. इसके बाद पुलिस ने बच्चे को फिरोजाबाद की एक भाजपा पार्षद के घर से बरामद कर लिया.

X
आरोपियों को अरेस्ट कर ले जाती पुलिस.
आरोपियों को अरेस्ट कर ले जाती पुलिस.

मथुरा जंक्शन स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 8-9 से छह दिन पहले एक 7 माह का बच्चा चोरी हो गया था. जीआरपी पुलिस ने बच्चे को फिरोजाबाद से बरामद कर लिया है. बच्चा चोरी करने वाले गिरोह के 8 लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है. पुलिस का कहना है कि बच्चा फिरोजाबाद की भाजपा पार्षद के घर से मिला है. नवजात का 1 लाख 85 हजार रुपए में सौदा किया गया था. पुलिस ने 85 हजार रुपए बरामद किए हैं. 

दरअसल, मथुरा जंक्शन रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 8-9 पर 24 अगस्त की रात फरह इलाके की महिला सो रही थी. उसी दौरान उसका 7 माह का बच्चा किसी ने चोरी कर लिया था. यह घटना सीसीटीवी में कैद हो गई थी. जीआरपी पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर छानबीन की. इसके बाद पुलिस ने बच्चा चुराने वाले गिरोह के आठ लोगों को पकड़ लिया.

पकड़े गए लोगों में बच्चा खरीदने वाली फिरोजाबाद जिले की महिला विनीता अग्रवाल और विनीता के पति कृष्ण मुरारी अग्रवाल भी शामिल हैं. बताया जा रहा है कि जिनके घर से बच्चा बरामद हुआ है, वह विनीता अग्रवाल वार्ड नंबर 51 से नगर निगम पार्षद हैं. इसकी पुष्टि BJP महानगर अध्यक्ष राकेश शंखवार ने की है. 

रेलवे एसपी बोले- 8 आरोपी हो चुके हैं अरेस्ट 

पुलिस इस गिरोह के अन्य लोगों की तलाश कर रही है. रेलवे एसपी मुस्ताक अहमद का कहना है कि बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया गया है. पुलिस ने बच्चा चुराने वाले गिरोह के आठ लोगों को पकड़ा है. गिरोह के अन्य लोगों की तलाश की जा रही है.

पुलिस ने बच्चे को खरीदने के लिए दिए गए 85 हजार रुपए भी आरोपियों से बरामद किए हैं. बच्चे की सकुशल बरामदगी से उसके परिजन बेहद खुश हैं.

एसपी रेलवे का कहना है के बच्चे का सौदा 1 लाख 85 हजार रुपए में हुआ था. यह बच्चा यहां से हाथरस ले जाया गया. उसके बाद गिरोह के लोगों ने फिरोजाबाद के लोगों से बात कर उसे बेच दिया.

जब कृष्ण मुरारी अग्रवाल के भाई सुनील अग्रवाल से बात की, तो उन्होंने फोन पर बताया कि यह बच्चा उन्होंने एक बिचौलिये के माध्यम से गोद लिया है. उन्होंने कोई चोरी किए बच्चे को नहीं खरीदा है, लेकिन फिलहाल कैमरे के सामने कोई भी बोलने को तैयार नहीं है.

(फिरोजाबाद से सुधीर शर्मा के इनपुट के साथ)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें