scorecardresearch
 

UP: VIP दर्शन करने को लेकर काशी विश्वनाथ मंदिर में बवाल, पुलिस ने लेखपाल को जमकर पीटा

यूपी के वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर में वीआईपी दर्शन को लेकर बवाल हो गया. इस दौरान पुलिस ने लेखपाल को जमकर पीट दिया. इसके अफरा-तफरी मच गई. मंदिर के कर्मचारी और पुलिस आमने-सामने आ गए. विश्वनाथ धाम के मंदिर पर दर्जनों की संख्या में मंदिर के सेवादारों ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए. इसके बाद धरना शुरू कर दिया.

X
मंदिर के कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन
मंदिर के कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर में लेखपाल को पुलिस ने जमकर पीट दिया. इसके बाद वहां अफरा-तफरी मच गई. मंदिर के कर्मचारी और पुलिस आमने सामने आ गए. वहीं, विश्वनाथ धाम के चौक पर दर्जनों की संख्या में मंदिर के सेवादारों ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए और धरना शुरू कर दिया.

दरअसल, काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर बनने के बाद श्रद्धालुओं की संख्या में इजाफा हुआ है. VIP दर्शन करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. इसके लिए मंदिर प्रशासन और पुलिस की तरफ से बिना टिकट के दर्शन कराया जाता है. शुक्रवार को पुलिस VIP दर्शन करवा रही थी. इस पर मंदिर प्रशासन के लेखपाल ने आपत्ति जताई. इस बात से पुलिसकर्मी नाराज हो गया और लेखपाल को पीट दिया.

लेखपाल का आरोप है कि पुलिस का जवान टिकट चेकिंग प्वाइंट पर कतार की दूसरी तरफ से दस लोगों को बिना टिकट प्रवेश करवा रहा था. इस पर लेखपाल रामदास ने टोका तो सिपाही ने थप्पड़ मारने शुरू कर दिए. इस मामले में लेखपाल रामदास ने कहा कि वे प्रोटोकॉल जांच अधिकारी के तौर पर मंदिर में हैं. उन्होंने इस बात पर आपत्ति की थी कि पुलिस वाले अपने लोगों को VIP दर्शन कराने वाले रास्ते से लाएं, जिससे भक्तों को दिक्कत का सामना न करना पड़े.

पुलिसकर्मी को सस्पेंड करने की मांग

लेखपाल ने कहा कि उनकी तरफ से कोई विवाद नहीं किया गया, न ही पुलिस वाले पर हाथ उठाया. वे चाहते हैं कि कम से कम आरोपी पुलिसकर्मी का सस्पेंशन हो. उन्होंने घटना की शिकायत मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी से भी लिखित तौर पर की है. लेखपाल ने कहा कि थाने में भी मामले की रिपोर्ट लिखाने जा रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें