scorecardresearch
 

पूर्णिया में मरीज की मौत के बाद हंगामा, परिजनों ने की आगजनी और पथराव, पुलिस ने चलाई लाठियां 

पूर्णिया के नगरी लाइन बाजार में एक निजी नर्सिंग होम में मरीज के मौत के बाद जमकर तोड़ फोड़ हुई. मृत मरीज के परिजन सड़कों पर उतर कर आगजनी कर रहे हैं. पुलिस ने सड़क पर आगजनी के बाद यातायात को पूरी तरह से बंद करा दिया है. घटना की सूचना के बाद कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई है.

X
मरीज की मौत के बाद परिजनों ने सड़कों पर उतर कर आगजनी की.
मरीज की मौत के बाद परिजनों ने सड़कों पर उतर कर आगजनी की.

बिहार के पूर्णिया में एक मरीज के मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया. सैकड़ों की संख्या में इकट्ठा होकर भीड़ ने नर्सिंग होम में तोड़फोड़ की और उसके बाद एनएच 31 को जाम कर दिया. इसके साथ ही सड़क पर आगजनी भी कई. इसकी वजह से शहर के लाइन बाजार में दोनों तरफ से गाड़ियों की लंबी कतार लग गई.

देखें वीडियो...

दवा की अधिक डोज से हुई मरीज की मौत 

बताया जा रहा है राहुल नामक युवक पूर्णिया के मरंगा मिल्की का रहने वाला है. उसे गले के ऑपरेशन के लिए डॉक्टर रोहित रंजन के यहां भर्ती किया गया था. दवा की अधिक डोज देने के कारण उसकी मौत हो गई. इसके बाद आक्रोशित परिजनों ने अस्पताल में जमकर उत्पात मचाया. शव को रोड पर रखकर यातायात बाधित कर दिया.

बताते चलें कि केहाट थाना के तहत लाइन बाजार के बिहार टॉकीज रोड पर बने जीवन हॉस्पिटल में राहुल की मौत हो गई थी. इसके बाद मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा किया. अस्पताल के कमरे के शीशों में तोड़फोड़ की. कुर्सी को जमीन पर पटक कर तोड़ा और पूरे अस्पताल परिसर को क्षतिग्रस्त कर दिया.

मुख्य सड़क पर आगजनी और पथराव किया 

इसके बाद मुख्य सड़क को घंटों के लिए जाम कर आगजनी और पथराव किया. मामले को बढ़ता देखकर डॉक्टर और कर्मचारी हॉस्पिटल छोड़कर फरार हो गए. घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची दो थानों की पुलिस ने हालात को काबू करने की कोशिश की. 

मगर, बवाल थमने का नाम ही नहीं ले रहा था. स्थिति को बिगड़ते देखकर पुलिस ने उपद्रवियों पर जमकर लाठियां चलाई हैं. फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है. पूर्णिया डीएसपी सदर सुरेंद्र कुमार सरोज खुद घटनास्थल पहुंचे हैं. वह लोगों को समझाने का भरपूर प्रयास कर रहे थे.

इस दौरान गुस्साए लोगों ने पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाने के साथ ही पथराव भी शुरू कर दिया. ऐसे में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा. मरीज की मौत के बाद परिजनों में काफी आक्रोश है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें