scorecardresearch
 

अंकिता की हत्या के बाद सामने आया इंस्टाग्राम फ्रेंड, इसी ने दिलवाई थी रिसेप्शनिस्ट की जॉब, पुलिस को दी अहम जानकारी

उत्तराखंड के रिजॉर्ट की रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की मौत के मामले में तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच के दौरान पुलिस को अंकिता के एक जम्मू के रहने वाले दोस्त के बारे में पता चला है. उसने पुलिस को बताया कि दोनों की इंस्टाग्राम पर दोस्ती हुई थी और उसी ने अंकिता की जॉब रिजॉर्ट में लगवाई थी. उसने पुलिस को कई अहम जानकारियां दी हैं.

X
अंकिता की मौत के आरोपियों को लोगोंं ने जमकर पीटा अंकिता की मौत के आरोपियों को लोगोंं ने जमकर पीटा
1:42

उत्तराखंड के रिजॉर्ट की रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की मौत के मामले में पुलिस की मदद के लिए जम्मू का एक शख्स सामने आया है, जिसने बताया कि उसी ने रिजॉर्ट में अंकिता की जॉब दिलाई थी. शख्स का नाम दीप पुष्प है और दोनों की इंस्टाग्राम पर दोस्ती हुई थी. दीप ने पुलिस को जानकारी दी कि अंकिता को यह नौकरी OLX पर एक विज्ञापन के जरिए दिलाई गई थी. 

दीप ने पुलिस को बताया कि 28 अगस्त को अंकिता ने रिजॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट की जॉब जॉइन की थी. एक सितंबर को अंकिता ने उसे मैसेज करके बताया था कि किसी लड़के ने उसे जबरदस्ती गले लगाने की कोशिश की. दीप के मुताबिक, जॉइनिंग के बाद शुरुआती दिनों में पुलकित का व्यवहार अंकिता के लिए बहुत अच्छा था. वह अंकिता की इज्जत करता था. जब रिजॉर्ट के एक गेस्ट ने नशे की हालत में अंकिता को गले लगाने की कोशिश की तो पुलकित ने ही उसे बचाया था.

18 सितंबर को रिजॉर्ट छोड़कर घर जा रही थी अंकिता

दीप ने पुलिस को अंकिता के साथ बातचीत के ऑडियो भी सौंपे, जिसमें वो रिजॉर्ट के स्टाफ करण से अपना बैग सड़क पर लाने के लिए कह रही है. दीप ने बताया कि अंकिता 18 सितंबर को रिसॉर्ट से निकल रही थी और अपने घर जाना चाहती थी, लेकिन पता नहीं किस वजह से वह पुलकित के साथ ऋषिकेश चली गई.

दीप ने बताया कि अंकिता ने उसे 8:30 बजे फोन कर कहा, "सर (पुलकित) उससे बात करना चाहते थे. इसलिए उन्होंने उनके साथ ऋषिकेश आने के लिए पूछा है." दीप ने कहा कि यह बहुत अजीब है कि उन्होंने अंकिता को नदी में धक्का दे दिया. दीप ने बताया कि अंकिता काफी अच्छी लड़की थी. वह होटल मैनेजमेंट और कुकिंग में अपना करियर बनाना चाहती थी. उसे कुकिंग का शौक था.

आज ढूंढ़ा जाएगा अंकिता का शव

पुलिस ने फेसबुक पर पोस्ट कर सूचना दी कि प्रशासन की मदद से आज सुबह पशुलोक बैराज से पानी रोकने की उम्मीद है. इसके बाद अंकिता का शव ढूंढ़ने में मदद मिलेगी. आंकिता हत्याकांड के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के सभी रिजॉर्ट की जांच के लिए जिलाधिकारियों को आदेश दे दिए हैं. मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि जो रिजॉर्ट अवैध बने हैं या अवैधानिक रूप से संचालित हैं, उनके खिलाफ तत्काल आवश्यक कार्रवाई की जाए. इसके अलावा सीएम ने प्रदेश भर के होटल, रिजॉर्ट, गेस्ट हाउस के कर्मचारियों से उनकी स्थिति के बारे में जानकारी देने को कहा है. उससे संबंधित शिकायतों को गम्भीरता से लेने के आदेश दिए हैं.

हत्याकांड में तीनों आरोपी हुए अरेस्ट

अंकिता का पता लगाने के लिए पुलिस रिजॉर्ट मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित उर्फ पुलकित गुप्ता को पूछताछ के लिए थाने ले गई. पहले तो उन्होंने पुलिस को गुमराह किया लेकिन बाद में इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस और सीसीटीवी फुटेज देखकर उन्होंने जुर्म कबूल कर लिया. इसके बाद पुलिस ने आईपीसी की धारा 302, 201, 120-B के तहत केस दर्ज तीनों को अरेस्ट कर लिया.  

लोगों ने आरोपियों को जमकर पीटा

अंकिता भंडारी की मौत के बाद स्थानीय लोग गुस्से में हैं. पुलिस जब तीनों आरोपियों को अपनी जीप से ले जा रही थी तो लोगों ने जीप में ही उनकी पिटाई कर दी. इसके बाद ग्रामीणों ने पुलकित आर्य के रिजॉर्ट में जमकर तोड़फोड़ की है.

बीजेपी नेता का बेटा है पुलकित आर्य

हत्या का मुख्य आरोपी पुलकित आर्य पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्य का बेटा है और वनंत्रा रिजॉर्ट का मालिक है. पुलकित आर्य लॉकडाउन के दौरान भी उस वक्त विवादों में आया था जब उत्तर प्रदेश के विवादित नेता अमरमणि त्रिपाठी के साथ उत्तरकाशी में प्रतिबंधित क्षेत्र में पहुंच गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें