scorecardresearch
 

यूपी: मुख्तार अंसारी के गुर्गों ने बुलेट प्रूफ कराईं अपनी गाड़ियां, पुलिस जांच में खुलासा

लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने बुलेट प्रूफ गाड़ियों के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारियां जुटाई हैं जिसमें अधिकतर बुलेट प्रूफ गाड़ियां मुख्तार अंसारी के गुर्गों की बताई जा रही हैं.

मुख्तार अंसारी मुख्तार अंसारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने जानकारी जुटाई
  • यूपी में मुख्तार अंसारी के खिलाफ कार्रवाई जारी
  • धरपकड़ के दौरान कई बुलेट प्रूफ गाड़ियां मिलीं

यूपी के माफिया और बाहुबली मुख्तार अंसारी के कई गुर्गों ने अपनी गाड़ियां बुलेट प्रूफ कराई हैं. सूत्रों के मुताबिक गुपचुप तरीके से स्कॉर्पियो और फॉर्च्यूनर जैसी गाड़ियों को मेरठ और पंजाब से बुलेट प्रूफ कराया गया है. बुलेट प्रूफ कराई गई गाड़ियां मुख्तार के गुर्गों ने अपने करीबियों के नाम पर खरीदी हैं.

मुख्तार अंसारी के करीबी प्रदीप सिंह के पास से ऐसी गाड़ियां बरामद होने के बाद बुलेट प्रूफ का खुलासा हुआ है. सुरेंद्र कालिया के साथ भी ऐसा ही हुआ है. पुलिस पड़ताल में एक ऐसी ही गाड़ी सुरेंद्र कालिया के दोस्त की निकली थी जिसमें इस गाड़ी को बुलेटप्रूफ करवाने का कोई भी दस्तावेज कालिया पुलिस को नहीं दे सका था. वहीं मुख्तार के करीबी प्रदीप सिंह के पास से पुलिस को फॉर्च्यूनर गाड़ी की चाबी मिली थी. इस गाड़ी के भी दस्तावेज पुलिस को नहीं मिले.

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडे ने बुलेट प्रूफ गाड़ियों के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारियां जुटाई हैं जिसमें अधिकतर बुलेट प्रूफ गाड़ियां मुख्तार अंसारी के गुर्गों की बताई जा रही हैं.

सूत्रों की मानें तो मुख्तार अंसारी के गिरोह की धरपकड़ के दौरान बुलेट प्रूफ गाड़ियां मिली थीं जो कि मुख्तार के करीबी प्रदीप सिंह की बताई जा रही हैं. दावा किया जा रहा है कि मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद से माफिया द्वारा गाड़ियां बुलेट प्रूफ करवाई जा रही हैं. एक गाड़ी को बुलेटप्रूफ कराने का खर्च औसतन लगभग 15 से 20 लाख रुपये आता है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें