scorecardresearch
 

गोरखपुर: BJP नेता की मां-बेटे की फावड़े से काटकर हत्या

गोरखपुर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता परशुराम शुक्ला की मां और डेढ़ साल के मासूम बेटे की निर्मम हत्या कर दी गई है. जब दोनों की हत्या की गई तब बीजेपी नेता लुधियाना में किसी काम से मौजूद थे.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हमले में पत्नी-बेटी भी घायल
  • आरोपियों की तलाश में पुलिस

गोरखपुर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता परशुराम शुक्ला की मां और डेढ़ साल के मासूम बेटे की निर्मम हत्या कर दी गई है. पट्टीदारी के भाई के हमले में बीजेपी नेता की पत्नी और 10 साल की बेटी की हालत गंभीर है. चारों पर फावड़े से वार किया गया था. हमले के वक्त बीजेपी नेता घर में मौजूद नहीं थे.

गोरखपुर के हरपुर-बुदहट थानाक्षेत्र के तेनुआ गांव में मंगलवार 27 जुलाई की देर शाम 7 से 8 बजे के बीच भाजपा किसान मोर्चा के जिला कार्यकारिणी के सदस्य परशुराम शुक्ल के घर पर पट्टीदारी के भाई सीताराम शुक्ला और उसके परिवारवालों ने धावा बोल दिया. परशुराम शुक्ला किसी काम से लुधियाना गए हुए हैं.

क्या है पूरा मामला 

दरअसल, मंगलवार की दोपहर पुलिस आईजीआरएस पोर्टल की शिकायत की जांच और पूछताछ के लिए सीताराम शुक्ल के परिवारवालों के पास आई. पुलिस के जाने के बाद शाम 7 बजे के आसपास सीताराम ऑटो चलाकर वापस लौटा तो परिवारवालों ने इसकी जानकारी सीताराम को दी. इसके बाद उसके सिर पर खून सवार हो गया. 

सीताराम और उसके परिवारवालों ने फावड़ा लेकर भाजपा किसान मोर्चा के जिला कमेटी के सदस्य और पट्टीदारी के भाई परशुराम शुक्ल के घर धावा बोल दिया. वहां पर उसने परशुराम शुक्ल की मां 70 वर्षीय विमला देवी और उनके डेढ़ साल के मासूम रौनक की फावड़े से सिर और गर्दन पर वार कर निर्मम हत्या कर दी गई. 

दोनों को बचाने के लिए आईं परशुराम की पत्नी सुषमा शुक्ला और उनकी 10 साल की बेटी को भी हमलावरों ने फावड़े से सिर और शरीर के अन्य हिस्सों पर वार कर घायल कर दिया. घटना का अंजाम देने के बाद सीताराम शुक्ला और उसके परिवावाले फरार हो गए.

घटनास्थल पर पहुंचे आला-अफसर

घटना की सूचना मिलने के बाद गोरखपुर के एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु, एसपी नार्थ मनोज अवस्थी, एसपी साउथ एके सिंह, क्षेत्राधिकारी खजनी इंदुप्रभा सिंह और भारी संख्या में फोर्स गांव पहुंच गई. पुलिस ने दोनों लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. गांव में तनाव को देखते हुए पीएसी तैनात कर दी गई है.

एसपी साउथ एके सिंह ने बताया कि परशुराम लुधियाना में हैं, उनके ई-मेल द्वारा भेजी गई तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच, एसओजी के अलावा थाना हरपुरबुदहट, सिकरीगंज, बेलघाट, खजनी, नगर के शाहपुर, कैंट और रामगढ़ताल की टीम को लगाया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें