scorecardresearch
 

फतेहपुर: अपना दल विधायक जय कुमार जैकी की कार में टक्कर, 4 युवकों पर मामला दर्ज

यूपी के फतेहपुर (UP Fatehpur) के बिंदकी कोतवाली क्षेत्र में बिंदकी से अपना दल विधायक और पूर्व कारागार राज्य मंत्री जय कुमार जैकी की कार में अन्य कुछ कार सवारों ने जोरदार टक्कर मार दी. इससे विधायक व उनकी पत्नी बाल-बाल बच गए. पुलिस ने जान से मारने की मंशा से कार में टक्कर मारने का केस दर्ज किया है. विधायक पत्नी के साथ शादी से लौट रहे थे. पुलिस पूरे मामले की जांच-पड़ताल कर रही है.

X
अपना दल विधायक और पूर्व कारागार राज्य मंत्री जय कुमार जैकी. (Photo: Aajtak)
अपना दल विधायक और पूर्व कारागार राज्य मंत्री जय कुमार जैकी. (Photo: Aajtak)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फतेहपुर के बिंदकी कोतवाली क्षेत्र की घटना
  • जान से मारने की मंशा से कार में टक्कर मारने का केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले (UP Fatehpur) में अपना दल के बिंदकी से विधायकऔर पूर्व कारागार मंत्री जयकुमार जैकी पर शादी समारोह से लौटते समय कार सवार 4 युवकों ने जानलेवा हमला कर दिया. इसके बाद मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने दो लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया, वहीं दो लोग फरार हो गए. सूचना पर पहुंची पुलिस ने दो आरोपियों को ग्रामीणों से अपनी सुपुर्दगी में लेते हुए विधायक की तहरीर पर चार आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

जानकारी के अनुसार, फतेहपुर के बिंदकी कोतवाली क्षेत्र से जब विधायक अपनी पत्नी के साथ शादी समारोह से लौट रहे थे, तभी कोतवाली क्षेत्र के तेंदुली गांव के पास उनकी कार में अन्य कार सवार युवकों ने टक्कर मार दी. कार की टक्कर से विधायक और उनकी पत्नी बाल बाल बच गए, वहीं गाड़ी के ड्राइवर के हाथ में चोट आई है.

यह भी पढ़ें: UP: थाने में घुसा सांड, भगाने की कोशिश कर रहे दारोगा को उठाकर पटका

इसके बाद विधायक की तहरीर पर पुलिस ने 4 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है, जबकि दो आरोपियों की तालाश की जा रही है. पकड़े गए आरोपी मोहम्मद हाशिम और मोहम्मद मुशर्रफ हैं, जो सदर कोतवाली के मसवानी मोहल्ले के रहने वाले हैं. पुलिस ने इस मामले में जान से मारने की मंशा से टक्कर मारने का केस दर्ज किया है.

बिंदकी विधायक जय कुमार जैकी ने बताया कि वह शादी समारोह से आ रहे थे, तभी तेंदुली गांव के करीब कार सवार युवकों ने उनकी गाडी में टक्कर मार दी. हम और हमारी पत्नी बच गए, लेकिन ड्राइवर के हाथों में चोट आई है. उन्होंने कहा कि वे पिछली सरकार में पांच साल कारागार राज्य मंत्री रहे. इस दौरान न तो उन्हें किसी तरह की कोई धमकी मिली और न ही किसी से उनकी कोई दुश्मनी है. इस मामले में पुलिस ने दो नामजद व दो अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

रिपोर्टः नितेश श्रीवास्तव

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें