scorecardresearch
 

बदायूंः महिला को बचाने के लिए डॉक्टर से भिड़ा दरोगा, CHC स्टाफ की लापरवाही से मौत

सूचना मिलते ही थाना उघैती से सब इंस्पेक्टर सुशील पवार अपने हमराह पुलिस बल और महिला कांस्टेबल के साथ मौके पर पहुंच गए. उन्होंने देखा कि महिला जिंदा है. वे फौरन महिला और उसके बेटे को अपनी सरकारी जीप से लेकर सीएचसी बिल्सी पहुंच गए.

एसआई पवार की कोशिशों के बावजूद महिला नहीं बच पाई एसआई पवार की कोशिशों के बावजूद महिला नहीं बच पाई
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सड़क दुर्घटना में घायल हो गए थे मां-बेटे
  • एसआई अपनी टीम के साथ मदद को पहुंचे
  • घायलों को सीएचसी ले गए थे पुलिसकर्मी

उत्तर प्रदेश के बदायूं में एक सब इंस्पेक्टर ने सड़क दुर्घटना में घायल एक महिला को बचाने के लिए जी जान लगा दी. लेकिन बिल्सी सीएचसी के कर्मचारियों और डॉक्टर की लापरवाही से उस महिला की मौत हो गई. दुर्घटना के जिम्मेदार ट्रक चालक को पुलिस ने बाद में गिरफ्तार कर लिया.

घटना बदायूं के उघैती थाना क्षेत्र की है. जहां बदायूं-इस्लामनगर हाइवे पर नरैनी चौराहे के पास बीती 14 सितंबर को एक ट्रक ने बाइक सवार मां-बेटे को टक्कर मार दी थी. सूचना मिलते ही थाना उघैती से सब इंस्पेक्टर सुशील पवार अपने हमराह पुलिस बल और महिला कांस्टेबल के साथ मौके पर पहुंच गए. उन्होंने देखा कि महिला जिंदा है. वे फौरन महिला और उसके बेटे को अपनी सरकारी जीप से लेकर सीएचसी बिल्सी पहुंच गए.

मगर वहां घायलों को देखने वाला कोई नहीं था. एसआई सुशील पवार लगभग 20 मिनट तक स्टाफ से महिला को देखने का अनुरोध करते रहे. मगर महिला को देखने जीप तक कोई स्वास्थ्यकर्मी नहीं आया. ये देखकर वे खुद महिला सिपाहियों की मदद से महिला और उसके घायल बेटे को स्ट्रेचर पर लेकर अस्पताल में अंदर पहुंचे और डॉक्टर से उनका उपचार करने की गुहार लगाई.

इस बात पर घायल महिला को देखने की बजाय एक डॉक्टर एसआई पर ही रौब दिखाने लगे. इस बात पर दोनों के बीच नोंक-झोंक हो गई. नतीजा ये हुआ कि एसआई सुशील की कोशिश के बावजूद महिला को समय से इलाज नहीं मिला और उसकी मौत हो गई. सूचना मिलने पर महिला के परिजन भी सीएचसी पहुंच गए. वहां मौजूद लोगों ने एसआई और उनके स्टाफ की प्रशंसा की. 

महिला को लाने वाले एसआई सुशील पवार का कहना है कि एक बार डॉक्टर महिला को देख लेते तो शायद वो बच जाती. वीडियो वायरल होने पर एसआई की प्रशंसा और स्वास्थ्य विभाग की जमकर फजीहत हो रही है.

बदायूं के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने बताया कि थाना क्षेत्र में एक बाइक और ट्रक कैंटर की भिड़ंत हो गई थी. बाइक सवार मां-बेटा घायल हो गए. थाने में तैनात दरोगा दोनों घायलों को सरकारी जीप से बिल्सी स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे थे. आरोपी ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें