scorecardresearch
 

रुड़की: मामूली बात को लेकर दो पक्षों में जमकर चले लाठी-डंडे, कई घायल

रुड़की के माधोपुर हजरतपुर गांव में दो पक्षों के बीच हिंसक झड़प हो गई, जिसमें लगभग एक दर्जन लोग घायल हो गए. फिलहाल गंगनहर कोतवाली पुलिस ने जांच कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ग्रामीण बोले- आरोपी को है पुलिस का संरक्षण
  • घायलों को सिविल अस्पताल में कराया गया भर्ती

उत्तराखंड में रुड़की के एक गांव में मामूली बात को लेकर दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे और धारदार हथियार चले. इस घटना में करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए. एम्बुलेंस से सभी घायलों को रुड़की के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया. घायलों में एक बच्चा भी शामिल है. गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस अधिकारी नजर बनाए हुए हैं.

मामला माधोपुर हजरतपुर गांव का है, जहां दो पक्षों के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है. बुधवार सुबह कई ग्रामीणों ने कोतवाली में प्रदर्शन किया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि गांव का ही मुकेश अवैध शराब और सट्टे का कारोबार करता है और पुलिस उसे संरक्षण देती है. वह लोगों के साथ अक्सर मारपीट करता है. गांववालों की तहरीर पर पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है. एक युवक ने शिकायत की तो उसके खिलाफ पुलिस ने गोकशी के झूठे मामले में मुकदमा दर्ज कर दिया.

बुधवार शाम उस युवक का छोटा भाई गांव में किसी दुकान से सामान लेने गया था. तभी उसकी मुकेश के छोटे भाई से कहासुनी हो गई. मामला गाली-गलौच से मारपीट तक पहुंच गया. दोनों पक्षों से कई लोग मौके पर जमा हो गए. इस दौरान जमकर लाठी-डंडे और धारदार हथियार चले, जिसमें कई लोग घायल हो गए. परिजनों ने घायलों को सिविल अस्पताल रुड़की में भर्ती कराया. गंगनहर कोतवाली पुलिस ने जांच कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है.
 
इस पूरे मामले में एसपी देहात प्रमेंद्र सिंह डोभाल ने कहा कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं है. वहीं, इंस्पेक्टर गंगनहर ने बताया कि मुकेश पुलिस को छोटी-मोटी खबरें दिया करता था, इसलिए ग्रामीण उसके खिलाफ हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें