scorecardresearch
 

ट्रक ड्राइवर ने फेसबुक से फोटो चुराकर 85 महिलाओं को बनाया शिकार, मंगवाए आपत्तिजनक वीडियो

फरीदाबाद पुलिस ने एक ऐसे आरोपी को अरेस्ट किया है, जो फेसबुक से महिलाओं के फोटो लेकर उन्हें एडिट कर अश्लील बना देता था. इसके बाद महिलाओं को भेजकर ब्लैकमेल करता था. आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह फोटो वायरल करने की धमकी देता था, जिससे महिलाएं डर जाती थीं.

X
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

फेसबुक और वॉट्सएप पर एडिट की हुई अश्लील फोटो भेजकर और वायरल करने की धमकी देकर महिलाओं को ब्लैकमेल करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि आरोपी 85 से अधिक महिलाओं को ब्लैकमेल कर चुका है. उस पर आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है.

महिलाओं को ब्लैकमेल कर आरोपी उनसे न्यूड फोटो और वीडियो मंगवाता था. फरीदाबाद की महिला थाना NIT प्रभारी इंस्पेक्टर माया और उनकी टीम ने 4 महीने की कड़ी मशक्कत के बाद आरोपी को गिरफ्तार किया है. पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया, "गिरफ्तार आरोपी की पहचान 42 वर्षीय गणेश के रूप में हुई है. पेशे से वह ट्रक ड्राइवर है."

गणेश के खिलाफ महिला थाना एनआईटी में आईटी एक्ट की धाराओं में केस दर्ज किया गया है. पीड़ित महिला ने शिकायत में कहा था कि 6 मई 2022 को वॉट्सएप पर उसे एक मैसेज मिला। इसमें उसकी अश्लील फोटो थी. उसका चेहरा किसी अश्लील फोटो से जोड़ा गया था. फोटो भेजने वाले आरोपी ने धमकी दी कि यदि उसका नंबर ब्लॉक किया, तो यह फोटो वायरल कर दी जाएगी.

इसके बाद महिला ने इस मामले की जानकारी अपने पति को दी. महिला के पति ने जब उस नंबर पर कॉल किया तो वह बंद था. इसके बाद मामले की शिकायत पुलिस से की गई. थाना प्रभारी इंस्पेक्टर माया के नेतृत्व में टीम बनाकर पुलिस ने छापेमारी की. करीब 4 महीने के बाद पुलिस ने आरोपी को रविवार को अलीगढ़ से अरेस्ट कर लिया.

फेसबुक पर महिलाओं से करता था संपर्क, मैसेंजर में भेजता था फोटो

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह फेसबुक पर लगातार महिलाओं को ढूंढ़ता रहता है और उनकी प्रोफाइल फोटो लेकर उसे किसी न्यूड महिला की फोटो से जोड़कर एडिट कर देता था. इसके बाद वह फेसबुक मैसेंजर और फेसबुक से महिला का नंबर लेकर वॉट्सएप पर फोटो भेज देता था.

साथ ही फोटो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करता था. आरोपी महिलाओं को ब्लैकमेल कर उनकी आपत्तिजनक फोटो और वीडियो मंगवाता था. बदनामी के डर से महिलाएं झांसे में आ जाती थीं और अपनी फोटो और वीडियो भेज देती थीं.

महिला पुलिस ने जब पीड़ित महिलाओं से बातचीत की, तो पता चला कि कई महिलाएं आरोपी से बहुत तंग आ चुकी थीं. बदनामी के डर से महिलाओं ने आरोपी के खिलाफ कभी पुलिस से शिकायत नहीं की. 

आरोपी के कब्जे से मिले मोबाइल में थे कई वीडियो

पुलिस ने आरोपी के कब्जे से बरामद मोबाइल को चेक किया. उसके फेसबुक मैसेंजर पर करीब 60 महिलाओं से हुई आपत्तिजनक चैट मिलीं. इसके अलावा आरोपी के वॉट्सएप पर भी 25 महिलाओं को किए गए आपत्तिजनक मैसेज मिले. आरोपी के मोबाइल में 485 अश्लील वीडियो मिले, जिसमें से कुछ उसने महिलाओं को ब्लैकमेल कर मंगवाए. कुछ इंटरनेट से डाउनलोड किए गए थे.

आरोपी से जब सिम के बारे में पूछताछ की गई, तो उसने बताया कि यह सिम उसे राजस्थान में एक ढाबे के पास मिला था. इसका उपयोग कर उसने महिलाओं को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. आरोपी ने बताया कि वह महिलाओं को पैसों के लिए ब्लैकमेल नहीं करता, सिर्फ टाइमपास करने के लिए करता था. आरोपी को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें