scorecardresearch
 

Alwar Mob Lynching case: अलवर मॉब लिंचिंग केस में 7 आरोपी गिरफ्तार, ठेले वाले को चोर बताकर ली थी जान

अलवर मॉब लिंचिंग मामले में पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी है. राजस्थान पुलिस ने मॉब लिंचिंग के मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि चिरंजी लाल को समुदाय विशेष के 20-25 लोगों ने चोर समझकर बुरी तरह से पीट दिया. इससे वह बुरी तरह से घायल हो गया और बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

अलवर मॉब लिंचिंग मामले में पुलिस का एक्शन शुरू हो गया है. मामले में राजस्थान पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों द्वारा इस्तेमाल कार भी बरामद कर ली गई है. अलवर में ठेला लगाने वाले शख्स को भीड़ ने चोर बताकर पीटा था. इसमें उसकी जान चली गई थी.

मॉब लिंचिंग में कथित रूप से शामिल आरोपियों के नाम सायबू, विक्रम खान, असद खान, पोला खान और तालिम हैं. इनको गिरफ्तार किया गया है.

मामला अलवर जिले के गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के रामबास गांव का है. खबर आई थी कि वहां 50 वर्षीय चिरंजी लाल सैनी शौच के लिए गए थे. उसी दौरान समुदाय विशेष के लोगों ने चोर समझकर चिरंजी की डंडों से बेरहमी से पिटाई कर दी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. इसके बाद चिरंजी लाल की जयपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई.

जानकारी के मुताबिक गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र में सब्जी का ठेला लगाने वाले चिरंजी लाल रामबास में शौच के लिए खेत में गया था. उसी दौरान अलवर के सदर थाना क्षेत्र से एक चोर ट्रैक्टर चुराकर भाग रहा था. पीछे से सदर थाना पुलिस और ट्रैक्टर मालिक चोरों का पीछा कर रहे थे. चोर खुद को पुलिस और ट्रैक्टर मालिकों से घिरा देखकर ट्रैक्टर को बिजली घर के पास स्थित एक खेत में छोड़कर भाग गए.

इतने में ही पुलिस से पहले ट्रैक्टर के मालिक आ गए. वहां मौजूद चिरंजी लाल को समुदाय विशेष के 20-25 लोगों ने चोर समझकर बुरी तरह से पीट दिया. इससे वह बुरी तरह से घायल हो गया. पुलिस जब तक मौके पर पहुंची और जानकारी ली तो मामले का खुलासा हुआ. पुलिस ने घायल चिरंजी को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे प्राथमिक उपचार देकर जयपुर रेफर कर दिया. जहां इलाज के दौरान चिरंजी ने दोपहर लगभग 3 बजे दम तोड़ दिया. आक्रोशित लोगों ने गोविंदगढ़ थाने का घेराव कर दिया और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की.

गोविंदगढ़ थाने के कार्यवाहक थानाधिकारी एएसआई श्याम लाल मीणा ने बताया कि मृतक के बेटे ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उसका पिता चिरंजी लाल सैनी सुबह शौच के लिए गया था, तभी कुछ लोगों ने उसके साथ लिंचिंग की. पिटाई से गंभीर घायल होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान मौत हो गई. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. उलाहेड़ी गांव के विक्रम खान, जुम्मा खान सहित समाज विशेष के लोगों पर चिरंजी लाल के साथ लिंचिंग करने का आरोप है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें