scorecardresearch
 

दिल्ली से 700 फॉर्च्यूनर-इनोवा कार चुराने वाले गैंग का पर्दाफाश, 6 गिरफ्तार

देश की राजधानी दिल्ली में पुलिस ने दो हाई-प्रोफाइल कार चोर गैंग का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने गैंग के 6 सदस्यों को गिरफ्तार कर 13 लक्जरी कारें बरामद की हैं.

X
हाई-प्रोफाइल कार चोर गैंग हाई-प्रोफाइल कार चोर गैंग

दिल्ली पुलिस ने हाई प्रोफाइल कार चोरों के दो बड़े गैंग का पर्दाफाश किया है. इस गैंग के निशाने पर सिर्फ लग्जरी गाड़ियां ही होती थी. पुलिस ने गैंग के 6 सदस्यों को गिरफ्तार कर 13 लक्जरी कारें बरामद की है.  
 
दिल्ली में लगातार हो रही लग्जरी कारों की चोरी का खुलासा करने के लिए सेंट्रल जिले की एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वाड को लगाया गया था. पुलिस को 7 अगस्त को सूचना मिली थी कि गैंग के दो सरगना तरुन सेवरोन और कमल लाला पटेल नगर में मौजूद हैं. इसी के तहत टीम ने घेवरा मोड़ पहुंचकर जाल बिछाया. कुछ देर बाद बिना नंबर प्लेट की एक कार बहादुरगढ़ की तरफ से आती दिखी और दिल्ली के घेवरा मोड़ के पास यू-टर्न लेकर रुक गई. वे फिर बहादुरगढ़ की ओर जाने लगे. काफी देर तक पीछा करने के बाद दोनों को बहादुरगढ़ से कार सहित पकड़ लिया. कार की तलाशी के दौरान कार में चोरी करने के कई उपकरण मौजूद था. पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि उसने यह कार 4 लाख में नागालैंड का निवासी को बेची है. इसके अलावा उन्होंने हरियाणा, पंजाब, संभल, यूपी, धीमापुर और नागालैंड में कई चोरी की कारें बेची है. इसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया और बरामद कार को पुलिस के कब्जे में ले लिया गया. 
 
जांच में पता चला कि आरोपी तरुण सेरान ने पिछले साढ़े चार साल के दौरान दिल्ली क्षेत्र से 700 से अधिक फॉर्च्यूनर और इनोवा कारों की चोरी की है और इसको हरियाणा, पंजाब और यूपी में बेच दी थीं. इसके बाद 13 अगस्त को चोरी की कार खरीदने वाले परविंदर सिंह को गांव सिखोंवाला, मुक्तसर से गिरफ्तार किया गया. आरोपी के पास से चोरी की क्रेटा कार बरामद की गई. आरोपी परविंदर की निशानदेही पर दिल्ली के विकासपुरी इलाके से चोरी की एक और कार टोयोटा फॉर्च्यूनर बरामद हुई है. 
 
इसी तरह दिल्ली पुलिस ने 10 अगस्त को कुख्यात ऑटो लिफ्टरों के एक और रैकेट का भंडाफोड़ किया है. जिसमें रौनक अली और नफीस को इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम और आईटीओ से नकली नंबर गाड़ी के साथ गिरफ्तार किया है. आरोपी नफीस की तलाशी में उसके पास से एक देशी पिस्टल .315 बोर और एक अतिरिक्त जिंदा कारतूस बरामद किया गया. आरोपी नफीस और रौनक ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि उन्होंने अपने सहयोगियों के साथ पिछले ढाई साल में दिल्ली से 200 से अधिक कारों की चोरी की थी और उन्हे संभल, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में बेच दिया. दोनों गैंग के पास से 13 लग्जरी कारें बरामद की गई हैं. जिनमें 2 टोयोटा फॉर्च्यूनर, 4 हुंडई क्रेटा, 1 वर्ना, 1 टोयोटा इनोवा, 1 बलेनो, 3 हुंडई I-20 और एक स्कॉर्पियो बरामद की है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें