scorecardresearch
 

IIT Kanpur में पीएचडी छात्र ने की आत्महत्या, हॉस्टल में फंदे से लटका मिला शव

कानपुर आईआईटी में पीएचडी के छात्र ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. बताया जा रहा है कि देर रात छात्र के दोस्तों ने उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया. काफी देर तक छात्र ने जब दरवाजा नहीं खोला तो उन्होंने आईआईटी प्रशासन को इसकी जानकारी दी. दरवाजा खोला गया तो वहां छात्र का शव फंदे से लटका मिला.

X
मृतक प्रशांत (फाइल फोटो)
मृतक प्रशांत (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के कानपुर में आईआईटी के छात्र ने देर रात फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली. हॉस्टल के कमरे में उसका शव लटकता मिला. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया. वहीं, मृतक के घर वालों को भी सूचित कर दिया गया है. जानकारी के मुताबिक, मृतक वाराणसी का रहने वाला प्रशांत यहां पीएचडी का स्टूडेंट था. उसके पिता वाराणसी में ट्रैवल एजेंसी चलाते हैं.

कल्याणपुर के एसीपी अशोक शुक्ल ने बताया कि मृतक के पास से किसी तरह का सुसाइड नोट नहीं मिला है. फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार है. तभी पूरी स्थिति साफ हो पाएगी. साथ ही मृतक का फोन और लैपटॉप भी जांच के लिए भेजा गया है.

एसीपी ने बताया कि मंगलवार देर रात हॉस्टल नंबर-8 में कुछ छात्रों ने काम के सिलसिले में प्रशांत के कमरे का दरवाजा खटखटाया. लेकिन प्रशांत ने दरवाजा नहीं खोला. काफी देर तक वह इंतजार करते रहे, उन्होंने कई बार प्रशांत को पुकारा भी. लेकिन फिर भी जब प्रशांत ने दरवाजा नहीं खोला तो उन्होंने आईआईटी प्रशासन को इसकी जानकारी दी. आईआईटी प्रशासन ने किसी तरह से दरवाजा खोलकर उसको फंदे से उतारा और अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने प्रशांत को मृत घोषित कर दिया.

वहीं, आईआईटी कानपुर प्रशासन ने घटना पर शोक जताया है. उन्होंने कहा कि प्रशांत की मौत का उन्हें दुख है. संस्थान ने एक प्रतिभाशाली छात्र और महत्वाकांक्षी वैज्ञानिक खो दिया. उधर, प्रशांत की मौत से उसके साथियों का रो-रोकर बुरा हाल है. उन्होंने कहा कि उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि प्रशांत ऐसा कदम भी उठा सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें