scorecardresearch
 

Bihar: 'महिला के पेट में दर्द था, ऑपरेशन के नाम पर डॉक्टर ने निकाल ली किडनी', परिजनों ने किया हंगामा

बिहार के मुजफ्फरपुर में लोगों ने डॉक्टर पर एक महिला की किडनी निकाल लेने का आरोप लगाते हुए एक क्लीनिक के बाहर जमकर हंगामा किया. महिला सामान्य तरीके से बातचीत कर रही है. पुलिस ने आरोप लगाने वाले परिजनों से वह मेडिकल रिपोर्ट देने के लिए कहा है जिसमें महिला की दोनों किडनी निकाल लिए जाने की बात कही गई है.

X
अस्पताल में भर्ती महिला
अस्पताल में भर्ती महिला

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में एक क्लीनिक के बाहर एक महिला के परिजनों ने जमकर हंगामा किया. हंगामा कर रहे लोग डॉक्टर पर महिला की किडनी निकाल लेने का आरोप लगा रहे थे. लोगों का आरोप था कि झोलाछाप डॉक्टर ने महिला के पेट में दर्द की शिकायत पर उसका ऑपरेशन कर दोनों किडनी निकाल लीं. हालांकि, महिला सामान्य रूप से बातचीत कर रही है.

बताया जा रहा है कि मामला मुजफ्फरपुर जिले के सकरा थाना क्षेत्र के बरियारपुर पुलिस चौकी के तहत आने वाले बाजीराउत गांव का है. परिजनों के मुताबिक महिला की किडनी निकाले जाने की जानकारी उन्हें तब हुई, जब महिला की तबीयत बिगड़ी और उसे दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया. पुलिस ने महिला की तहरीर पर मामला दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है. पुलिस ने आरोप लगाने वाले महिला के परिजनों से मेडिकल रिपोर्ट देने के लिए कहा है जिसमें उसकी दोनों किडनी निकाले जाने की बात कही गई है. 

इससे पहले आक्रोशित परिजन क्लीनिक पहुंच गए और जमकर हंगामा कर दिया. जहां से डॉक्टर और स्टाफ गायब थे. सूचना पाकर बरियारपुर पुलिस चौकी के प्रभारी भी दल-बल के साथ मौके पर पहुंच गए. जानकारी के अनुसार, बाजीराउत निवासी लालदेव राम की पुत्री सुनीता देवी की तबीयत 3 अगस्त को खराब हो गई थी. पेट में दर्द की शिकायत पर परिजन बरियारपुर क्षेत्र के एक निजी क्लीनिक में ले गए. वहां डॉक्टर पवन कुमार ने 20 हजार रुपये लेकर इलाज शुरू कर दिया.

अपने पिता के यहां इलाज कराने आई थी महिला

महिला के परिजन के अनुसार, डॉक्टर ने उनसे कहा कि पेट में अधिक दर्द है और इसके लिए ऑपरेशन करना होगा. आरोप है कि डॉक्टर ने ऑपरेशन के बहाने महिला की दोनों किडनी निकाल लीं. परिजन का कहना है कि अगर हालत नहीं बिगड़ती तो किडनी के बारे में जानकारी ही नहीं होती. पीड़ित सुनीता के तीन बच्चे हैं, वह अपने पिता के यहां इलाज के लिए आई थी.

पुलिस बोली- देखनी होगी मेडिकल रिपोर्ट

इस मामले में थाना अध्यक्ष का कहना है कि सुनीता देवी ने आवेदन दिया था कि उनके गाल ब्लैडर में कोई समस्या थी. झोलाछाप डॉक्टर से इलाज करवाया. आरोप है कि वहां उनकी किडनी निकाल ली गईं. पीड़िता बातचीत कर रही है. मेडिकल रिपोर्ट देखनी होगी कि किडनी निकाली गई है या नहीं. डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी और उन्हें गिरफ्तार भी किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें