scorecardresearch
 

Hamirpur: GRP की हिरासत से भागा युवक अपनी गर्दन रेतकर पहुंचा थाने, जानें पूरी कहानी

हमीरपुर जिले में युवक अपनी गर्दन को रेतकर थाने पहुंच गया. तुरंत ही उसे इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया. जानकारी के मुताबिक भरुआ सुमेरपुर रेलवे स्टेशन में बीते दिनों बेतवा एक्सप्रेस ट्रेन में लूट की घटना हुई थी. जिसमें जीआरपी पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया था. युवक जीआरपी पुलिस को चकमा देकर भाग गया था.

X
कटी गर्दन के साथ युवक पुलिस स्टेशन पहुंचा
कटी गर्दन के साथ युवक पुलिस स्टेशन पहुंचा

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले से एक सनसनी खेज मामला सामने आया है. जहां एक युवक अपनी गर्दन को रेतकर थाने पहुंच गया. जिसे देखकर पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया. तुरंत ही उसे इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया. जानकारी के मुताबिक भरुआ सुमेरपुर रेलवे स्टेशन में बीते दिनों बेतवा एक्सप्रेस ट्रेन में लूट की घटना हुई थी. जिसमें जीआरपी पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया था. युवक जीआरपी पुलिस को चकमा देकर भाग गया था. जिसकी तलाश की जा रही थी.

युवक को इस बात का डर सता रहा था कि कहीं वो फिर से ना पकड़ा जाए. जिसके बाद उसने अपना गला रेतकर आत्महत्या करने का प्रयास किया और लहूलुहान हालत में थाने पहुंच गया. ऐसी अवस्था में युवक को देख पुलिसकर्मियों के हाथ-पैर फूल गए. पुलिस ने तुरंत ही युवक को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया. बताया जा रहा है कि अब उसकी हालत ठीक है. युवक के भाई विनीत गुप्ता ने आरोप लगाया कि जीआरपी बांदा के साथ परिवार को परेशान करने का आरोप लगाया. जीआरपी पुलिस उसके भाई को बेतवा ट्रेन लूटकांड में फर्जी ढंग से फंसाना चाहती है. 

वहीं युवक के भाई ने मुख्यमंत्री से इस मामले की शिकायत करने को कहा है. दरअसल शनिवार को सुमेरपुर कस्बे के वार्ड संख्या 15 में रहने वाले गोलू गुप्ता को जीआरपी हिरासत में लेकर बांदा लाई थी. गोलू की शिनाख्त लूट का शिकार हुई महिला से कराई गई थी. लेकिन महिला ने उसका घटना में होने से इनकार कर दिया था. बावजूद इसके जीआरपी उसे हिरासत में लेकर इधर-उधर घूम रही और उसे सुमेरपुर कस्बे लाया गया. गोलू ने मौका देखा और हिरासत से भाग निकला. उसी रात GRP पुलिस ने उसके घर पर छापा मारा पर वह नहीं मिला. 

अगले दिन भी जीआरपी पुलिस इसे ढूंढती रही. शाम करीब 6 बजे गोलू पेट्रोल पंप के पास कहीं बैठे होने की सूचना जीआरपी पुलिस को लगी और मौके से उसे घेर लिया गया. खुद को घिरता देख उसे लगा कि पकड़ में आने के बाद उसे प्रताड़ित किया जाएगा. इस डर से उसने धारदार हथियार से गला रेत लिया. यह देखकर जीआरपी पुलिस के होश उड़ गए और वो मौके से भाग खड़े हुए. लहूलुहान हालत में गोलू सुमेरपुर थाने जा पहुंचा और जीआरपी पुलिस द्वारा उत्पीड़न करने का आरोप लगाया. 

वहीं जीआरपी थानाध्यक्ष योगेंद्र प्रसाद ने उत्पीड़न करने की बात से इंकार किया. हिरासत से भागने की बात को भी वह नकार रहे हैं.  जबकि गर्दन काट लेने वाले गोलू का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है. बता दें,  एक महिला कानपुर स्टेशन से जबलपुर जाने के लिए बेतवा एक्सप्रेस ट्रेन में सवार हुई. सुमेरपुर रेलवे स्टेशन में अज्ञात लोगों ने  उसका बैग छीन लिया. बैग में उसके लाखों रुपये के जेवरात और नगदी थी. इस घटना की शिकायत महिला ने  GRP थाने बांदा में दर्ज करवाई थी.  इसी मामले में जीआरपी पुलिस ने कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें