scorecardresearch
 

कोर्ट के बाहर गैंगवॉर: लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ के 'दुश्मन' ने ली गैंगस्टर सेठी की हत्या की जिम्मेदारी

राजस्थान के नागौर कोर्ट में सोमवार को सब कुछ सामान्य था. तभी गोलियों की तड़तड़ाहट होने लगी. हमलावर गैंगस्टर संदीप बिश्नोई पर गोलियां बरसा रहे थे. सभी ब्लैक कलर की स्कॉर्पियो से आए थे. संदीप को 9 गोलियां मारी गईं थीं. इस शूटआउट की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग के विरोधी गैंग के कौशल चौधरी और बंबिहा गैंग ने ली है.

X
संदीप बिश्नोई (फाइल फोटो)
संदीप बिश्नोई (फाइल फोटो)

राजस्थान का नागौर सोमवार को गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. एक केस में गवाही देने आए हरियाणा के गैंगस्टर संदीप विश्नोई (सेठी) की गोली मारकर हत्या कर दी गई. वारदात को नागौर कोर्ट के बाहर अंजाम दिया गया. इस शूटआउट की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग के विरोधी गैंग के कौशल चौधरी और बंबिहा गैंग ने ली है. जानकारी के मुताबिक गैंगस्टर संदीप बिश्नोई को पेशी के दौरान ब्लैक कलर की स्कार्पियो में सवार होकर आए अपराधियों ने गोलियों से छलनी कर दिया.

कौशल चौधरी और बंबिहा गैंग ने इस शूटआउट को लेकर फेसबुक पोस्ट की है. साथ ही उन्होंने शूटआउट की जिम्मेदारी भी ली है. वहीं कौशल चौधरी और दविंदर पर दिल्ली पुलिस की स्पेशल और NIA ने UAPA के तहत FIR दर्ज की है. इतना ही नहीं, हाल ही में कौशल चौधरी और बंबिहा गैंग के लीडर दविंदर के ठिकानों पर NIA ने रेड की थी. 

कौशल चौधरी और बंबिहा गैंग के विरोधी लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ ने हाल ही में सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली थी. इतना ही नहीं, भारत के बाहर फिलिपिंस में बंबिहा गैंग के एक गैंगस्टर की कनाडा में बैठे गोल्डी बराड़ ने कुछ दिनों पहले गोली मरवा कर हत्या भी करवाई थी. अब संदीप विश्नोई की हत्या के बाद एक बार फिर से गैंगवार की आशंका बढ़ गई है. बताया जा रहा है कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद बंबिहा गैंग का पहला पलटवार है. दरअसल, दविंदर बंबिहा नाम के फेसबुक अकाउंट से नागौर हत्याकांड की जिम्मेदारी ली गई है.

फेसबुक पर ये पोस्ट शेयर किया गया है

 


गोल्डी बराड़ ने जारी किया था धमकी भरा ऑडियो


बताया जा रहा है कि 5 अगस्त को फिलिपिंस में बंबिहा गैंग के गैंगस्टर की हत्या के बाद गोल्डी बराड़ ने सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में फरार दीपक मुंडी का ऑडियो जारी किया था. इसमें कहा गया है कि 'जो हाल मूसेवाला का हुआ, वही इन सबका होगा'. इतना ही नहीं, ऑडियो में कौशल चौधरी, बंबिहा और बवानियां गैंग को टुच्चा गुंडा कहा गया था. साथ ही कहा था कि कौशल और बंबिहा गैंग को मारकर इस तरह बदला लिया जाएगा, जो इतिहास में दर्ज होगा. एक तरफ दिल्ली और पंजाब पुलिस के साथ सेंट्रल एजेंसियां इन इंटरनेशनल गैंग पर शिकंजा कसने में लगी हैं, तो दूसरी तरफ इन गैंग्स के बीच दिनदहाड़े खूनी गैंगवार का सिलसिला जारी है.
 

संदीप बिश्नोई को मारी गईं 9 गोलियां


पुलिस के मुताबिक संदीप विश्नोई को पेशी के लिए नागौर कोर्ट लाया गया था. इसी दौरान कार सवार बदमाशों ने 9 राउंड फायरिंग की, जिससे संदीप की मौके पर ही मौत हो गई. सभी शूटर ब्लैक कलर की स्कॉर्पियो में आए थे. घटना के बाद कोर्ट के बाहर भारी भीड़ जमा हो गई. संदीप विश्नोई के शव को अस्पताल में रखा गया है.

मामले की जांच से जुड़े एक पुलिसकर्मी ने बताया कि संदीप हरियाणा का मूल निवासी था और सुपारी लेकर वारदात को अंजाम देता था. इसके साथ ही अवैध शराब तस्करी में भी शामिल था. विश्नोई सेठी गिरोह से जुड़ा था. उसने नागौर में एक व्यापारी की भी हत्या की थी.

नागौर जेल में बंद था गैंगस्टर संदीप


तीन साल पहले 29 नवंबर 2019 को नागौर हत्याकांड में पहली बार संदीप विश्नोई का नाम सामने आया था. पूछताछ में पता चला कि एक महिला ने अपने पति की हत्या का बदला लेने के लिए साजिश रची थी. महिला ने हरियाणा के गैंगस्टर संदीप विश्नोई को हत्या के लिए 30 लाख रुपये सुपारी दी थी. इस मामले में गैंगस्टर संदीप नागौर जेल में बंद था.

ये भी देखें
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें