scorecardresearch
 

Gigolo और होटल में मसाज करने की नौकरी के नाम पर 100 लोगों से ठगी, चार गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जो जिगोलो की नौकरी देने के नाम पर लोगों से ठगी की वारदात को अंजाम देते थे. इस गैंग में दो लड़कियां भी शामिल है. पुलिस ने बताया कि ये शातिर बदमाश अब तक 100 से ज्यादा ठगी की वारदात को अंजाम दे चुके हैं.

X
जिगोलो सर्विस देने के नाम पर ठगी 4 गिरफ्तार (फोटो-आजतक)
जिगोलो सर्विस देने के नाम पर ठगी 4 गिरफ्तार (फोटो-आजतक)

दिल्ली पुलिस की नॉर्थ वेस्ट साइबर सेल ने जिगोलो (Gigolo) और महिलाओं की मसाज (Massage Services for Women) के नाम पर फ्रॉड करने वाले 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिसने दो लड़कियां भी शामिल है. यह गैंग लोगों को जिगोलो की नौकरी देने के नाम पर ठगी कर रहा था. इस गैंग ने पिछले 2 सालों में 100 से ज्यादा लोगों से साथ ठगी की.  

यह गैंग होटल बुकिंग, मसाज किट और रजिस्ट्रेशन के नाम पर लोगों से हजारों रुपये वसूलकर फरार हो जाता था. आरोपी सोशल मीडिया के जरिए लोगों से संपर्क कर मोटी कमाई के साथ मौज मस्ती का लालच देकर अपने जाल में फंसाता था. पुलिस ने दिल्ली के रहने वाले शुभम, उदित, नेहा और अर्चना को गिरफ्तार किया है. अब इनसे पूछताछ की जा रही है. नेहा और अर्चना टेलीकॉलिंग का काम करती थी.

साइबर नॉर्थ वेस्ट को शिकायत मिली थी कि किंग्सवे कैंप में रहने वाले अवनीत सिंह के साथ जिगोलो की नौकरी देने के नाम पर ठगी हुई है. उसने अपने शिकायत में पुलिस को बताया कि उसे अज्ञात नंबर से एक व्हाट्सएप मैसेज मिला. जिसमें महिलाओं के घरों में मसाज करने के लिए नौकरी की पेशकश की गई थी. जब उसने संपर्क किया तो उसे कहा गया कि काम मिलने से पहले उसे रजिस्ट्रेशन के लिए 3500 रुपये जमा कराने होंगे. फिर शिकायतकर्ता ने पेटीएम के माध्यम से राशि का भुगतान किया.  

इसके बाद मालिश किट खरीदने के लिए 12,600 और 15,500 रुपये मांगे. फिर आईकार्ड बनाने  और होटल की बुकिंग के लिए  9400 रुपये मांगे गए. इस तरह कुल 47 हजार रुपये उससे हड़प लिए गए. आरोपियों ने उसे कोई काम नहीं दिया. फिर उसे एहसास हुआ कि उसके साथ धोखा हुआ है. तुरंत ही उसने स्थानीय थाने में मामले की शिकायत दर्ज कराई. साइबर सेल ने मामले की जांच शुरू की और आरोपियों को पकड़ने के लिए जाल बिछा कर गिरफ्तार कर लिया.   

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वो गिगोलो, मसाज सर्विस देने के नाम पर लोगों से ठकी करते थे. इनके पास से 7 मोबाइल फोन, 1 लैपटॉप, एटीएम कार्ड और कुछ दस्तावेज बरामद हुए. जांच में पता चला कि उन्होंने दो साल में 100 से ज्यादा लोगों को धोखा दिया है. पुलिस ने बताया कि ये लोग सोशल मीडिया, WhatsApp पर मैसेज और डेटिंग ऐप पर विज्ञापन पोस्ट करते थे.

साथ ही होटल में महिलाओं की मसाज का भरोसा दिलाकर अपन झांसे में फंसाकर लोगों से पैसे वसूलते थे. मास्टरमाइंड शुभम दिल्ली के हरि नगर इलाके में किराये के मकान में रह कर इस धंधे को चला रहा था. गिरफ्तार लड़कियां टेलीकॉलर का काम  करती थीं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें