scorecardresearch
 

EMI पर सस्ते स्मार्टफोन का झांसा देकर 2,500 लोगों को लगाया चूना, ठग गिरफ्तार

9 सितंबर को, इरफान पठान नाम के शख्स ने गोविंदपुरी पुलिस स्टेशन में जितेंद्र के खिलाफ मामला दर्ज करवाया. इरफान ने बताया कि 14 दिसंबर 2019 को वह ईएमआई पर सेलफोन खरीदने के लिए गूगल के माध्यम से दुकान का पता खोज रहा था. तभी उन्होंने एक वेबसाइट www.mobilityworld.in देखी, जो सस्ते दरों पर ईएमआई विकल्प के साथ सेलफोन की पेशकश कर रही थी.

पुलिस के हत्थे चढ़ा ठग पुलिस के हत्थे चढ़ा ठग
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सस्ते मोबाइल फोन के नाम पर 25 लोगों को ठगने वाला आरोपी गिरफ्तार
  • EMI पर फोन दिलाने का देता था झांसा

सस्ता स्मार्टफोन दिलाने का झांसा देकर देशभर के करीब 2,500 लोगों को ठगने के आरोप में पुलिस ने गाजियाबाद के प्रताप विहार निवासी जितेन्द्र सिंह को गिरफ्तार किया है. 32 साल का जितेन्द्र आसान मासिक किस्तों (ईएमआई) पर लोगों को सस्ता मोबाइल फोन दिलाने का झांसा देकर ठगी करता था.

9 सितंबर को, इरफान पठान नाम के शख्स ने गोविंदपुरी पुलिस स्टेशन में जितेंद्र के खिलाफ मामला दर्ज करवाया. इरफान ने बताया कि 14 दिसंबर 2019 को वह ईएमआई पर सेलफोन खरीदने के लिए गूगल के माध्यम से दुकान का पता खोज रहा था. तभी उन्होंने एक वेबसाइट www.mobilityworld.in देखी, जो सस्ती दरों पर ईएमआई विकल्प के साथ सेलफोन की पेशकश कर रही थी.

वेबसाइट के कर्मचारी ने इरफान को वर्चुअल प्राइवेट एड्रेस (VPA) up paymobile (upi) के जरिए 1,499 रुपये जमा करने का निर्देश दिया था. बाद में, वेबसाइट के अधिकारियों ने इरफान से संपर्क किया, और उन्हें सेलफोन खरीदने के लिए और पैसे जमा करने के लिए कहा.

इरफान ने obile paymobile (upi) के माध्यम से तीन लेनदेन में 5,998 रुपये का भुगतान किया. हालांकि, जालसाजों ने न तो सेलफोन डिलीवर किया और न ही राशि वापस की. उन्होंने वेबसाइट से जब संपर्क किया तो सभी नंबर बंद पाए गए. इरफान ने धोखेबाजों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई.

15 सितंबर को, आरोपी जितेन्द्र को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में उसके घर से गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने अपराध में इस्तेमाल दो सेलफोन को भी जब्त किया है. पुलिस ने बताया कि जितेन्द्र के साथी - प्रवीण कुमार और रजत शुक्ला अभी भी फरार हैं.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें