scorecardresearch
 

चार टीमें, 8 FIR और STF का इनपुट, बेहद दिलचस्प है बेगूसराय गोलीकांड की इनसाइड स्टोरी

बिहार के बेगूसराय में मंगलवार की शाम को 30 किमी के क्षेत्र में गोलीबारी की घटना हुई थी. संदिग्ध हमलावरों को आखिरकार 72 घंटे बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इस गिरफ्तारी के लिए चार टीमें बनाई गई थीं और एसटीएफ को भी इस काम में लगाया गया था.

X
पकड़े गए बेगूसराय में गोलीबारी करने वाले संदिग्ध आरोपी
पकड़े गए बेगूसराय में गोलीबारी करने वाले संदिग्ध आरोपी

बेगूसराय गोलीकांड में पुलिस ने चारों संदिग्ध हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में कुल 8 एफआईआर दर्ज की गईं हैं. सीसीटीवी की जांच करके पुलिस ने आरोपियों की फोटो निकाली. 

रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस मुख्यालय का निर्देश था कि इस मामले में सघन जांच की जाए. इसके बाद बेगूसराय में 4 टीमों का गठन किया गया था. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने 50 हजार रुपये के इनाम की भी घोषणा की थी. 

STF की मदद से पकड़े गए संदिग्ध हमलावर
इस मामले की जांच के लिए एक स्पेशल टास्क फोर्स यानी STF की टीम बनाई गई थी. STF को मिली गुप्त सूचना के आधार पर अलग-अलग टीमों की मदद से चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस ने गोलीबारी में इस्तेमाल किए गए पिस्तौल, मोटरसाइकिल और मोबाइल फोन बरामद कर लिए हैं. पकड़े गए आरोपियों की पहचान बेगूसराय के रहने वाले चुनचुन कुमार, केशव कुमार उर्फ नागा और युवराज सिंह के अलावा हाजीपुर के रहने वाले सुमित कुमार के रूप में हुई है.

रांची भागने की फिराक में था मुख्य आरोपी 
पुलिस के मुताबिक, केशव कुमार ही घटना का मास्टरमाइंड था. गुरुवार शाम को वो हथिदह स्टेशन पर मौर्य एक्सप्रेस ट्रेन में सवार होकर देवघर अपनी बुआ के घर जा रहा था. इसी दौरान पुलिस ने उसे झाझा रेलवे स्टेशन के पास गिरफ्तार कर लिया है.

केशव कुमार एफसीआई ओपी थाना क्षेत्र के बीच गांव का रहने वाला है. वह रांची भागने की फिराक में था.

दहशत फैलाना था मकसद 
इन अपराधियों के ताबड़तोड़ फायरिंग का मकसद पूरे क्षेत्र में दहशत फैलाना था. गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों की लोकेशन की जांच की जा रही है. सीसीटीवी फुटेज से हुलिया और पहने हुए कपड़ों को मिलाया जा रहा है.

इस मामले में फॉरेंसिक विभाग की भी मदद ली जा रही है. बेगूसराय पुलिस ने गोलीबारी और एक शख्स की हत्या के मामले में इन 4 आरोपियों की संलिप्तता का सबूत मिलने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया है.

पुलिस इस मामले में हर बिंदु पर जांच कर रही है. मंगलवार की शाम करीब साढ़े 5 बजे चार थाने क्षेत्रों में करीब 30 किलोमीटर तक गोलीबारी करने वाले इन आरोपियों को साजिश में शामिल होने के शक में गिरफ्तार किया गया है. बिहार पुलिस ने इस गोलीकांड का खुलासा तो कर दिया है, लेकिन जांच अभी जारी है.

FSL रिपोर्ट आने के बाद पूरे मामले से उठेगा पर्दा: एडीजी
एडीजी हेडक्वार्टर जीएस गंगवार ने कहा है कि FSL रिपोर्ट आने के बाद कुछ और तथ्य साफ होंगे. घटना में शुरुआती रूप से शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है.

बीजेपी ने की सीबीआई जांच की मांग
मुख्य विपक्षी दल बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने बिहार पुलिस की जांच पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि बेगूसराय गोलीकांड मामले में पुलिस के बयानों में भारी विरोधाभास है. लिहाजा, पूरे मामले की CBI से जांच कराई जाए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें