scorecardresearch
 

आगरा: कोर्ट कैंपस में हेड कॉन्स्टेबल को लहूलुहान कर खूंखार क्रिमिनल को छुड़ा ले गए बदमाश

आगरा के कोर्ट में खूंखार अपराधी विनय शर्मा एक हेड कॉन्स्टेबल को घायल कर पुलिस की गिरफ्त से फरार हो गया. दरअसल उसे पेशी के लिए कोर्ट लाया गया था, जहां पहले से घात लगाए अपराधियों ने हेड कॉन्स्टेबल पर ईंट से हमला कर उसे छुड़ा लिया.

X
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आगरा में नामी बदमाश पुलिस की गिरफ्त से फरार
  • पेशी के दौरान कॉन्स्टेबल को घायल कर भागा अपराधी

उत्तर प्रदेश के आगरा में एक बदमाश हेड कॉन्स्टेबल पर हमला कर उसकी गिरफ्त से फरार हो गया. बदमाश के हमले से यूपी पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल अभय प्रताप सिंह लहूलुहान हो गए और उनके सिर से खून निकलने लगा. जिसने उनकी वर्दी को भी लाल कर दिया.

खूंखार और दुर्दांत अपराधी विनय शर्मा को उन्होंने पकड़ कर रखा था, जो हमला करने के बाद  हाथ छुड़ाकर अपने साथियों के साथ फरार हो गया. यह घटना आगरा के दीवानी कचहरी में दर्जनों लोगों के बीच हुई.

पुलिस के तमाम सिपाही और अधिकारी, वकील और आम आदमी किसी की समझ में नहीं आया कि पलक झपकते क्या हुआ है? जब तक लोग समझ पाते तक तक आगरा जोन में खौफ और आतंक का पर्याय विनय श्रोत्रीय उर्फ विनय शर्मा अपने साथियों के साथ रफू-चक्कर हो चुका था.

विनय श्रोत्रीय आगरा जिला जेल में बंद था. उसे बुधवार को अदालत में पेशी के लिए हेड कॉन्स्टेबल अभय प्रताप सिंह कस्टडी में लेकर आए थे लेकिन गैंगस्टर विनय श्रोत्रीय को उसके साथी पुलिस कस्टडी से दिनदहाड़े छुड़ा ले गए.

फिरोजाबाद के रहने वाले विनय के खिलाफ 30 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं. विनय श्रोत्रीय के खिलाफ फिरोजाबाद में लूट और डकैती के 21 मुकदमे दर्ज हैं. एटा में में भी एक मुकदमा दर्ज है. आगरा में अपराधी विनय श्रोत्रीय के खिलाफ 8 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं.

आगरा पुलिस ने अपराधी विनय श्रोत्रीय के गैंग को लिस्टेड कर रखा है और वो हार्ड कोर क्रिमिनल है. विनय पर लूट और डकैती के एक दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं. विनय पर हत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट का भी केस चल रहा है.

अपराधी विनय श्रोत्रीय आगरा के जिला जेल में बंद था और बुधवार की सुबह विनय श्रोत्रीय को पेशी के लिए दीवानी कोर्ट में लाया गया था. विनय श्रोत्रीय के साथ हेड कांस्टेबल अभय प्रताप सिंह मौजूद थे.

विनय श्रोत्रीय जैसे ही कोर्ट रूम के बाहर निकला पहले से घात लगाए बैठे उसके तीन चार साथियों ने हेड कॉन्स्टेबल अभय प्रताप सिंह के सिर पर ईंट से  हमला कर दिया और अपने साथी को लेकर वहां से फरार हो गए.

कैदी के भागने की सूचना मिलते ही जिले के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए. घटना के एक चश्मदीद से पुलिस टीम ने काफी देर तक पूछताछ की. दीवानी न्यायालय परिसर में पुलिस ने चश्मदीद के साथ क्राइम सीन को रीक्रिएट किया. 

एसएसपी आगरा का कहना है कि बदमाश की तलाश में रेंज स्कीम लागू कर चेकिंग की जा रही है. स्पेशल टीमों को बदमाश की गिरफ्तारी के लिए लगा दिया गया है. आगरा और आसपास के जिलों में भी संपर्क कर बदमाश की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें