scorecardresearch
 

Chhapra: लिफ्ट देने के बहाने यात्रियों से करते थे लूट, ऐसे फंसाते थे अपने जाल में

छपरा में जक्कनपुर पुलिस ने शुक्रवार की सुबह बाइपास के पास से दो बदमाशों को गिरफ्तार किया. यह गिरोह पिछले एक महीने में लूट की सात घटनाओं को अंजाम दे चुका है. पिछले दिनों इसी गिरोह ने आईटीबीपी के जवान के साथ लूट की थी. इसी तरह श्रम संसाधन विभाग के एक कर्मी को लिफ्ट देने के बहाने लूटा था.

एक स्कॉर्पियो गाड़ी और कई चाबियां बरामद. एक स्कॉर्पियो गाड़ी और कई चाबियां बरामद.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एक स्कॉर्पियो गाड़ी और कई चाबियां बरामद
  • दो बदमाश गिरफ्तार, तीन गाड़ी से कूदकर फरार
  • यात्रियों को लिफ्ट देने के बहाने उनसे करते थे लूटपाट

बिहार पुलिस ने यात्रियों से लूटपाट करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. छपरा में दो बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है. बाकी तीन बदमाश गाड़ी से कूदकर फरार हो गए. ये बदमाश यात्रियों को लिफ्ट देने के बहाने उनसे लूटपाट करते थे. इनके पास से पुलिस ने एक स्कॉर्पियो गाड़ी और कई चाबियां बरामद की हैं.

छपरा में जक्कनपुर पुलिस ने शुक्रवार की सुबह बाइपास के पास से दो बदमाशों को गिरफ्तार किया. यह गिरोह पिछले एक महीने में लूट की सात घटनाओं को अंजाम दे चुका है. पिछले दिनों इसी गिरोह ने आईटीबीपी के जवान के साथ लूट की थी. इसी तरह श्रम संसाधन विभाग के एक कर्मी को लिफ्ट देने के बहाने लूटा था.

इसके बाद गुरुवार की रात जक्कनपुर थानेदार मुकेश वर्मा अन्य पुलिस कर्मियों के साथ मीठापुर बस स्टैंड पर नजर बनाए हुए थे. सुबह के साढ़े तीन बजे एक स्कॉर्पियो बस स्टैंड की तरफ आते दिखी. पुलिस ने जैसे ही हाथ दिया तो तीन बदमाश कूद कर भागने लगे. लेकिन पुलिस ने दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया.

ऐसे देते थे लूट को अंजाम
गिरोह के बदमाश हर दिन सुबह 3 बजे मीठापुर बस स्टैंड पहुंच जाते थे. हर दिन नई गाड़ी से पांच की संख्या में आते थे. दो कार लगाकर बाइपास पर रुक जाते थे. तीन बस स्टैंड चले जाते थे. जिन यात्रियों को बस नहीं मिलती थी, उन्हें तीनों बदमाश कार रिजर्व करने को कहते थे.

ये बदमाश यात्री को लेकर पहले से अपनी कार तक पहुंचते थे, फिर उसी से छपरा की तरफ चल देते थे. रास्ते में कोई बहाना बनाकर यात्री का बैग, पैसा आदि छीन लेते थे. कई बार पिस्टल के बल पर लूटपाट करते थे और यात्री को बीच में उतार कर फरार हो जाते थे. सुबह 6 बजे तक घटनाओं को अंजाम देकर छपरा चले जाते थे.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें