scorecardresearch
 

CBI के डिप्टी लीगल एडवाइजर ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट भी छोड़ा

सीबीआई के डिप्टी लीगल एडवाइजर जितेंद्र कुमार ने आत्महत्या कर ली है. मौके पर जो सुसाइड नोट छोड़ा गया है उसमें किसी को भी जिम्मेदार नहीं बताया गया. कहा जा रहा है कि जितेंद्र लंबे समय से डिप्रेशन में चल रहे थे. दो साल पहले ही उनका चंडीगढ़ से ट्रांसफर हुआ था. उनका परिवार हिमाचल में रहता है और वे यहां दिल्ली में अकेले थे.

X
CBI के डिप्टी लीगल एडवाइजर ने की आत्महत्या
CBI के डिप्टी लीगल एडवाइजर ने की आत्महत्या

साउथ दिल्ली के डिफेंस कालोनी इलाके में स्थित हुडको पैलेस में अपने सरकारी आवास में सीबीआई के डिप्टी लीगल एडवाइजर जितेंद्र कुमार ने आत्महत्या कर ली है. जितेंद्र कुमार की उम्र करीब 48 साल थी. यह घटना गुरुवार सुबह की बताई जा रही है. पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है. उस नोट में जितेंद्र ने स्पष्ट लिख रहा है कि उनकी मौत के लिए कोई भी जिम्मेदार नहीं है.

जितेंद्र कुमार हिमाचल प्रदेश के रहने वाले थे. वे पिछले कुछ समय से डिप्रेशन में चल रहे थे. जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक उन्हें कुछ स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां भी थीं. दो साल पहले ही उनका चंडीगढ़ से ट्रांसफर किया गया था. बड़ी बात ये है कि वर्तमान में वे ACB की उस यूनिट के लीगल एडवाइजर थे जो दिल्ली के शराब घोटाले की जांच कर रही थी. लेकिन जितेंद्र खुद किसी भी तरह से इस मामले से नहीं जुड़े हुए थे.

अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि किस कारण से जितेंद्र कुमार ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया. उनके शव को ऑटप्सी के लिए भेज दिया गया है. उसके बाद ही ज्यादा जानकारी सामने आ पाएगी. इतना जरूर पता चला है कि दिल्ली में जितेंद्र अकेले रह रहे थे, उनका परिवार हिमाचल के मंडी में रहता है. पुलिस को जैसे ही स्थानीय लोगों के जरिए सूचना मिली थी, एक टीम तुरंत मौके पर पहुंची थी. पुलिस को वहां पर जितेंद्र का शव तो मिला ही, इसके अलावा एक सुसाइड नोट भी पड़ा मिल गया. उस नोट में सिर्फ इतना लिखा गया कि उनकी मौत का कोई भी जिम्मेदार नहीं है. फिर भी डिफेंस कॉलोनी पुलिस मामले की जांच कर रही है, लोगों से सवाल जवाब भी हो रहे हैं और परिवार से भी संपर्क साधा जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें