scorecardresearch
 

महाराष्ट्र के अमरावती में दवा व्यापारी की गला काटकर हत्या, लोगों के दावे से उठ रहे सवाल

Amravati murder case: महाराष्ट्र के अमरावती में एक दवा व्यापारी की गला रेतकर हत्या कर दी गई. इस मामले में पुलिस अभी तक पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है, लेकिन किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है. मृतक के करीबी लोगों के दावे के बाद इस घटना को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं.

X
दवा व्यापारी उमेश कोल्हे. (File Photo) दवा व्यापारी उमेश कोल्हे. (File Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वारदात को लेकर किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंची पुलिस
  • भाजपा ने कहा- ATS से कराई जाए मामले की जांच

Amravati News: महाराष्ट्र के अमरावती में एक दवा व्यापारी उमेश कोल्हे की हत्या कर दी गई थी. आरोप है कि विशेष समुदाय के लोगों ने धारदार हथियार से बेरहमी के साथ इस वारदात को अंजाम दिया. इस मामले में पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

थानेदार नीलिमा आरज ने 'आजतक' से बात करते हुए कहा कि उमेश कोल्हे की हत्या के मामले में अब तक 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, लेकिन मुख्य आरोपी अभी भी फरार है. इस वजह से हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है. मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के बाद ही हत्या के पीछे का सही कारण पता चल सकेगा.

जानकारी के अनुसार, महाराष्ट्र के अमरावती में घंटाघर के पीछे 21 जून को अमित मेडिकल शॉप के संचालक उमेश कोल्हे अपने बेटे और बहू के साथ दुकान बंद कर घर लौट रहे थे. उसी समय तीन बाइक सवारों ने उन्हें रोका और छुरी से गर्दन पर हमला कर दिया. हमले में उमेश गाड़ी से नीचे गिर गए. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गए. घटना के बाद उमेश का बेटा और बहू उन्हें लहूलुहान हालत में अस्पताल लेकर गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

वारदात के बाद मौके पर जांच करती पुलिस.

वारदात के बाद पुलिस ने तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया. पुलिस ने तीन आरोपियों को 24 घंटे में गिरफ्तार कर लिया. तीनों से पूछताछ के बाद दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, लेकिन हत्या के पीछे की वजह अब तक स्पष्ट नहीं है. हत्या के समय उमेश के पास 35 हजार का कैश भी था. चौंकाने वाली बात है कि बदमाशों ने उनसे यह रकम नहीं लूटी.

नूपुर शर्मा का सपोर्ट करने के बाद डॉक्टर ने मांगी माफी

इस वारदात का मामला सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर कई लोगों को धमकियां मिलने की बातें भी सामने आ रही हैं. अमरावती के डॉक्टर गोपाल राठी ने कहा कि ऐसी जानकारी सामने आ रही है कि दवा व्यापारी ने नूपुर शर्मा को सपोर्ट किया. वह पोस्ट उन्होंने अपने स्टेट्स पर रखी, जिसके बाद उनके कई डॉक्टर दोस्त और दवा व्यापारियों ने भी उसे लाइक किया. कुछ डॉक्टरों को नूपुर शर्मा को सपोर्ट करने पर माफी मांगने तक की नौबत आई है. डॉ. राठी ने भी पोस्ट को सपोर्ट किया था. अब उनका कहना है कि अगर इस बात से किसी समाज का दिल दुखा है तो वह माफी मांगते हैं.

भाजपा ने कहा- एटीएस से कराई जाए मामले की जांच

अमरावती के भारतीय भाजपा पार्टी के नेता तुषार ने कहा कि दवा व्यापारी उमेश कोल्हे की मौत हादसा नहीं है, बल्कि नूपुर शर्मा के समर्थन में उतरने के बाद उनकी गला काटकर हत्या की गई है. इस मामले में जो आरोपी पकड़े गए, उनका पुराना कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है. पुलिस फिलहाल इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है, लेकिन बीजेपी ने इस मामले को नूपुर शर्मा के समर्थन में उतरने के बाद हत्या का आरोप लगाया है. तुषार ने मांग करते हुए कहा कि इस मामले की जांच ATS से कराई जाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें