scorecardresearch
 

Ambala: पॉलिटेक्निक छात्र ने लगाए रैगिंग के आरोप, कहा-'अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने दी धमकी, ऐंठे 20 हजार रुपए'

सिविल इंजीनियरिंग करने वाले पॉलिटेक्निक के छात्र ने खुद के साथ रैगिंग होने की शिकायत की है. उसने अपने दो सीनियर पर अश्लील वीडियो बनाने और उसे वायरल करने की धमकी देने की भी बात कही. उसने कहा कि दोनों ने मुझसे 20 हजार रुपए भी ऐंठे है. वहीं, कॉलेज प्रिंसिपल ने छात्र के आरोप को गलत बताया है.

X
अंबाला पॉलिटेक्निक कॉलेज में रैगिंग का मामला आया सामने.
अंबाला पॉलिटेक्निक कॉलेज में रैगिंग का मामला आया सामने.

हरियाणा के अंबाला में पॉलिटेक्निक कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र ने अपने सीनियर्स पर रैगिंग करने का आरोप लगाया है. साथ ही सीनियर्स पर उसका अश्लील वीडियो बनाकर रुपए ऐंठने की भी शिकायत पुलिस में दर्ज कराई है. रैगिंग के इस मामले में कॉलेज प्रबंधन ने इस बात को सिरे से खारिज किया है.

वहीं, पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है. अंबाला शहर के गवर्मेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग करने वाला छात्र अपने पिता के साथ कॉलेज प्रिंसिपल के पास रैगिंग की शिकायत करने पहुंचा.

उसने प्रिंसिपल को बताया कि दो सीनियर छात्रों ने उसकी रैगिंग की है. जब मैं बाथरुम में था, तो दोनों ने मेरा अश्लील वीडियो बना लिया. इसके बाद दोनों मुझे वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगे.

जब मैंने उनसे ऐसा करने से मना किया तो मुझसे रुपए मांगे गए. वीडियो वायरल न हो जाए, इस डर में दोनों को अभी तक 20 हजार रुपए दे चुका हूं. मगर, अब भी मुझसे पैसे मांगे जा रहे हैं.

यूं हुआ मामले का खुलासा

सिविल इंजीनियरिंग कर रहे पीड़ित छात्र को पिता ने एटीएम कार्ड दे रखा था. जब पिता ने उससे एटीएम मांगा, तो छात्र ने पैसे नहीं होने की बात कही. पिता के पूछने पर उसने रैगिंग किए जाने और अश्लील वीडियो बनाए जाने की बात अपने परिवार को बताई. साथ ही कहा कि वीडियो बनाने वाले छात्रों ने उससे रुपए लिए हैं.

प्रिंसिपल ने सिरे ने नकारी रैगिंग की बात

इस मामले में संस्थान के प्रिंसिपल राजीव सपरा ने कहा, ''मामला मैरे संज्ञान में 2 दिन पहले ही आया है. छात्र अपने पिता के साथ शिकायत करने मेरे पास आया था. मैंने उससे रैगिंग के संबंध में उससे कुछ सवाल किए, तो वह बताने में असमर्थ रहा."

उन्होंने आगे बताया, "जिस बाथरूम में उसका अश्लील वीडियो बनाने की बात की जा रही है. उसके पास ही इलेक्शन की वजह से पुलिस हमेशा तैनात रहती थी. ऐसे में वीडियो बनाने जैसा कुछ होना संभव नहीं है. छात्र सिर्फ डर की वजह से कहानी बना रहा है.''

रैगिंग जैसी कोई बात नहीं आई सामने: एसएचओ

रैगिंग की शिकायत सिटी थाने में की गई है. मामले को लेकर सीटी थाना एसएचओ राम कुमार ने कहा कि पीड़ित छात्र ने 2 युवकों पर रैगिंग करने के आरोप लगाए हैं. जांच में अभी तक रैगिंग जैसी बात सामने नहीं आई है. पुलिस कॉलेज के सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है. पीड़ित छात्र ने किसी आरोपी की पहचान भी नहीं बताई. पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें