scorecardresearch
 

हरियाणा पुलिस में नौकरी लगवाने के नाम पर बड़ा फ्रॉड, गिरफ्त में मास्टरमाइंड

गुरुग्राम पुलिस ने नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार कर बाकी साथियों की तलाश की जा रही है. यह गैंग कई लोगों को अपना शिकार बना चुका है.

X
साइबर क्राइम पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
साइबर क्राइम पुलिस की गिरफ्त में आरोपी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एक आरोपी गिरफ्तार, दो की तलाश जारी
  • 2019 में युवक से वसूल लिए थे 7 लाख 20 हजार
  • 2021 में की गई थी साइबर क्राइम पुलिस थाना में शिकायत

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर लाखों रुपये की ठगी का खुलासा हुआ है. साइबर क्राइम पुलिस ने वारदात में शामिल मुख्य आरोपी सुधीर को गिरफ्तार कर दो अन्य की तलाश शुरू कर दी है. एसीपी साइबर इंदीवर शर्मा ने बताया कि आरोपी ने 2019 में स्टाफ सिलेक्शन बोर्ड की फर्जी मेल भेज कर शिकायतकर्ता के साथ हरियाणा पुलिस में भर्ती के नाम पर 7 लाख 20 हजार की ठगी की.

दरअसल, साल 2019 में सुधीर और उसके साथियों के संपर्क में आशीष आया था. हरियाणा पुलिस में भर्ती के नाम पर आशीष और सुधीर के बीच 7 लाख 50 हजार रुपये की डील हुई. आरोपी से सुधीर ने 7 लाख 20 हजार वसूल भी लिए. आशीष को शक न हो, इसके लिए मास्टरमाइंड सुधीर ने स्टाफ सिलेक्शन बोर्ड के नाम पर फर्जी मेल भेजे. जब पीड़ित के पास कोई कॉल नहीं पहुंचा तो उसे शक हुआ कि उसके साथ ठगी हुई. शिकायतकर्ता आशीष ने साइबर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई कि सुधीर और उसके साथियों ने उसके साथ नौकरी के नाम पर ठगी की.

गुरुग्राम के एसीपी साइबर क्राइम इंदीवर शर्मा का कहना है कि नौकरी के नाम पर ठगी की इस वारदात में बड़े सांठगांठ का खुलासा हुआ है. ऐसे दूसरे 20 पीड़ित भी साइबर क्राइम पुलिस के संपर्क में हैं. उनके साथ नौकरी के नाम पर लाखों की ठगी की गई. पुलिस ने सुधीर को गिरफ्तार कर उसके बाकी साथियों की तलाश शुरू कर दी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें