scorecardresearch
 

दिल्ली: 2700 सिम एक्टिवेट करवाकर शख्स ने भेज दिया चीन, वहीं से हो रही थी ठगी

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल के मुताबिक सतेंद्र ने अपनी कंपनी के कर्मचारियों के नाम पर 2700 सिम कार्ड लिए और उन्हें एक्टिवेट करके चीन भेज दिया. इनमें से कई का चीन से ठगी में इस्तेमाल हो रहा है.

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल का एक्शन (प्रतीकात्मक तस्वीर) दिल्ली पुलिस की साइबर सेल का एक्शन (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बगैर केवाईसी 2700 सिम देने का आरोप
  • चीन से ठगी में हो रहा कई सिम का इस्तेमाल
  • दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने किया गिरफ्तार

चाइनीज ऐप से ठगी के मामले को लेकर दिल्ली पुलिस एक्शन में है. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में अंतरराष्ट्रीय टेलीकॉम कंपनी एसजी टेलीकॉम के मालिक को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार किया गया एसजी टेलीकॉम का मालिक सतेंद्र सिंह गाजियाबाद का निवासी बताया जा रहा है. दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने उसे नोएडा से गिरफ्तार किया है.

दिल्ली पुलिस की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक गाजियाबाद निवासी सतेंद्र को साइबर सेल ने नोएडा से गिरफ्तार किया है. वह नोएडा में एसजी टेलीकॉम नाम से एक अंतरराष्ट्रीय टेलीकॉम कंपनी चलाता है. दिल्ली पुलिस की साइबर सेल के मुताबिक सतेंद्र ने अपनी कंपनी के कर्मचारियों के नाम पर 2700 सिम कार्ड लिए और उन्हें एक्टिवेट करके चीन भेज दिया.

दिल्ली पुलिस के अनुसार इन 2700 सिम कार्ड में से कई का चीन से ठगी में इस्तेमाल हो रहा है. आरोप है कि सतेंद्र ने इस काम के लिए करीब 18 लाख रुपये की बड़ी रकम ली थी. सतेंद्र की ओर से 2700 सिम कार्ड के लिए ली गई 18 लाख रुपये की रकम देखें तो एक सिम कार्ड के लिए तकरीबन 667 रुपये लिए गए हैं. बताया जाता है कि सतेंद्र की कंपनी विदेश जाने वालों को अंतरराष्ट्रीय सिम कार्ड मुहैया कराती है.

आरोप है कि सतेंद्र ने ये सिम कार्ड खुद के कर्मचारियों के नाम से एक्टिवेट कराकर बगैर केवाईसी के ही दे दिए गए. सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि कहीं इन सिम कार्ड का उपयोग जासूसी करने के लिए न किया जा रहा हो. बता दें कि चाइनीज ऐप से ठगी के इस मामले में पहले ही दो सीए समेत 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ चल रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें