scorecardresearch
 

गोवा का बदनाम रिसॉर्ट और नशे की डबल डोज़, जानिए सोनाली फोगाट की मौत की पूरी दास्तान

नॉर्थ गोवा में अंजुना बीच के करीब वो क्लब है, जहां 22 और 23 अगस्त की रात सोनाली फोगाट सुधीर और सुखविंदर के साथ पार्टी कर रही थी. कर्लिस क्लब में ठीक उसी जगह पर उस रात पार्टी हो रही थी. उस रात की पार्टी की हर तस्वीर अब गोवा पुलिस के पास है.

X
सोनाली की मौत की पहेली गोवा पुलिस के लिए चुनौती बनती जा रही है
23:18
सोनाली की मौत की पहेली गोवा पुलिस के लिए चुनौती बनती जा रही है

टिकटॉक स्टार और बीजेपी नेता सोनाली फोगाट की मौत किसी हादसे और साजिश के बीच उलझी है. मगर इतना साफ है कि इस मौत की वजह साइलेंट किलर है. साइलेंट किलर यानी ड्रग्स. अब तक की तफ्तीश में पता चला है कि सोनाली की तबीयत ड्रग्स की ओवरडोज की वजह से बिगड़ी थी. मगर गोवा पुलिस के सामने सबसे बड़ी चुनौती ये है कि वो ये कैसे साबित करे कि ड्रग्स की ओवरडोज़ सोनाली को अनजाने में दी गई या फिर कत्ल के इरादे से?  

सीसीटीवी फुटेज में अहम सुराग!
नॉर्थ गोवा में अंजुना बीच के करीब वो क्लब है, जहां 22 और 23 अगस्त की रात सोनाली फोगाट सुधीर और सुखविंदर के साथ पार्टी कर रही थी. कर्लिस क्लब में ठीक इसी जगह पर उस रात पार्टी हो रही थी. उस रात की पार्टी की हर तस्वीर अब गोवा पुलिस के पास है. इतेफाक से क्लब वालों ने पार्टी की जगह पर सीसीटीवी कैमरा लगा रखा था. इस कैमरे में 22 और 23 अगस्त की रात की हर हरकत और हलचल कैद है. पुलिस ने इस कैमरे का डीवीआर कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है. वहीं से पुलिस को उस पार्टी का वो वीडियो मिला है, जिसमें सोनाली बाकायदा झूमते हुए दिखाई दे रही है. साथ ही सुधीर सोनाली को जबरन बोतल से कुछ पिलाता हुआ दिख रहा है. गोवा पुलिस के मुताबिक इसी बोतल में सुधीर और सुखविंदर ने एमडीएमए नाम का ड्रग्स मिला रखा था. हालांकि तस्वीर में ये भी दिख रहा है कि सोनाली सुधीर को रोक रही है.

ड्रग्स लेने के लिए बाथरूम का इस्तेमाल
गोवा पुलिस सूत्रों के मुताबिक गोवा के हर क्लब और बार में सीसीटीवी कैमरे लगाने का साफ निर्देश है. लेकिन कमरों या बाथरूम में जाहिर है कैमरे नहीं लगे होते. बहुत से लोग या यूं कहें कि ज्यादातर लोग जो ऐसी पार्टियों में ड्रग्स का मजा लेने आते हैं, वो कैमरों की नजर से बचने के लिए अमूमन बाथरूम या वॉशरूम का इस्तेमाल करते हैं. क्योंकि वहां पकडे जाने की गुंजाइश नहीं होती. अब गोवा पुलिस इस एंगल से भी मामले की जांच कर रही है कि 23 अगस्त की सुबह साढे चार बजे कर्लिस क्लब के बाथरूम में सुधीर और सोनाली ड्रग्स लेने गए थे? क्योंकि दोनों वॉशरूम के अंदर करीब दो घंटे तक रहे थे. पुलिस ये भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि सुबह साढे 4 बजे से पहले सोनाली सुधीर या सुखविंदर कितनी बार बाथरूम गए थे. 

शराब में मिलाई थी MDM ड्रग्स
पुलिस की अब तक की जांच में ये बात साफ हुई है कि सोनाली को सुधीर और सुखविंदर ने उस रात करीब डेढ ग्राम एमडीएम ड्रग्स बोतल में घोल कर पिलाई थी. इसके बाद पुलिस ने ड्रग्स एंगल से मामले की जांच शुरू की और गोवा के उस ग्रैंड लियोनी रिसॉर्ट के कमरों की भी तलाशी ली, जहां सोनाली, सुधीर और सुखविंदर ठहरे हुए थे. इस तलाशी में पुलिस को एक कमरे के बाथरूम से 2 गाम ड्रग्स भी मिली. जो सुखविंदर ने बाथरूम में छुपा कर रखी थी. पुलिस के मुताबिक सुखविंदर ने ही ये ड्रग्स एक पेडलर से खरीदी थी. 

क्लब का मालिक भी गिरफ्तार
अब पुलिस ये पता कर रही है कि ये पूरी की पूरी खेप सोनाली के लिए थी, या फिर इसका इस्तेमाल वो खुद भी कर रहे थे या करनेवाले थे. वैसे सोनाली क्लब में पार्टी कर रही थी ये बात अब पुख्ता है और ऐसे कई चश्मदीदों ने भी इसकी पुष्टि की है. चूंकि कर्लिस क्लब में ड्रग्स लेने की बातें सामने आईं, इसीलिए पुलिस ने क्लब के मालिक को भी गिरफ्तार कर लिया है. क्लब के मालिक के साथ-साथ गोवा पुलिस ने उस ड्रग पेडलर को भी गिरफ्तार कर लिया है, जिससे सुधीर और सुखविंदर ने ड्रग्स खरीदी थी. इसके अलावा सोनाली, सुधीर और सुखविंदर जिस ग्रैंड लियोनी रिसॉर्ट में ठहरे थे, उनके कमरों को भी सील कर दिया गया है.

10 दिन की पुलिस हिरासत में दोनों आरोपी
दूसरी तरफ गोवा पुलिस ने शनिवार को सुधीर और सुखविंदर को अदालत में पेश किया जहां से उन्हें अदालत ने 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. गोवा पुलिस सूत्रों के मुताबिक दोनों से पूछताछ और मौत को लेकर उनकी तफ्तीश जारी रहेगी. लेकिन सोनाली की मौत एक्सीडैंटल डेथ है या फिर ड्रग्स के ओवरडोज़ के जरिए इरादतन मारने की साजिश, इसका खुलासा तभी हो पाएगा, जब केमिकल और विसरा रिपोर्ट आ जाएगी.

तफ्तीश के लिए हरियाणा भी जाएगी गोवा पुलिस
गोवा पुलिस सोनाली और सुधीर के रिश्तों की भी पड़ताल कर रही है. जरूरत पडी तो इसके लिए गोवा पुलिस की टीम हरियाणा में सोनाली के गांव भी तफ्तीश के लिए जाएगी. इस बीच ये जानकारी आ रही है कि सोनाली गुरुग्राम में भी रहा करती थी. गुरुग्राम के सेक्टर 102 के गुडगांव ग्रीन्स में सुधीर ने एक फ्लैट किराये पर ले रखा है. जानकारी के मुताबिक 22 अगस्त को गोवा जाने के लिए सोनाली और सुधीर गुरुग्राम के इसी फ्लैट से दिल्ली एयरपोर्ट गए थे. सूत्रों के मुताबिक सुधीर ने जब ये फ्लैट किराये पर लिया था, तब उसने रेंट एग्रिमेंट में ये लिखा था कि वो यहां अपनी पत्नी के साथ रहेगा और पत्नी के नाम के तौर पर उसने सोनाली फोगाट का नाम लिखा था.

सोनाली के पति की मौत भी शक के घेरे में
हत्या का मुकदमा दर्ज करने और गोवा पुलिस की तफ्तीश शुरू होने के बाद सोनाली के घरवाले फिलहाल संतुष्ट हैं. उनका कहना है कि जो सच है वो सामने आना चाहिए. इस बीच कुछ लोग सोनाली के पति संजय की 2016 में हुई रहस्यमयी मौत को भी अब शक की निगाह से देख रहे हैं. 2016 में हिसार में उनके फार्म हाऊस में हुई थी. कहते हैं मौत के वक्त उनके मुंह से झाग आ रहा था. तब भी दबी जुबान में संजय को जहर देने की बात कही गई थी. 

23 अगस्त, मंगलवार, कर्लिस रेस्तरां गोवा, सुबह 4.27 मिनट
सोनाली फोगाट की आखिरी तस्वीर में साफ देखा जा सकता है कि सोनाली अपने होशो हवास में नहीं है. खुद से चल भी नहीं सकती. उसके हर बढ़ते कदम भी लडखडाने की गवाही दे रहे हैं. इसीलिेए सोनाली का पीए सुधीर सांगवान उसे सहारा देते हुए आगे बढ रहा है. तस्वीर में पीछे सुधीर का दोस्त सुखविंदर भी नजर आ रहा है. साथ ही रेस्तरां का एक मुलाजिम भी कैमरे में नज़र आ रहा है. इसके आगे सीसीटीवी कैमरा जो नहीं दिखा रहा है, उसकी कहानी कुछ यूं है. कैमरे के फेम से बाहर निकलते ही सोनाली को सुधीर बाथरूम ले जाता है. इसके बाद अगले दो घंटे तक सोनाली और सुधीर बाथरूम में रहते हैं. अब सवाल ये है कि दो घंटे तक सुधीर बाथरूम में क्या कर रहा था?

पार्टी में सोनाली ने पी थी ज्यादा शराब
तो कैमरे और पुलिस की कहानी के मुताबिक सोनाली की तबीयत सुबह साढे चार बजे के आस-पास ही बिगड़ी. पर सूत्रों के मुताबिक 22 और 23 दिसंबर की रात कर्लिस रेस्तरां में सोनाली सुधीर और सुधीर का दोस्त सुखविंदर पार्टी कर रहे थे. इनके अलावा पार्टी में और भी लोग थे. चश्मदीदों के मुताबिक पार्टी के दौरान सोनाली ने काफी शराब पी थी. यहां तक कि वो पार्टी में ही लडखडाना शुरू हो गई थी. सोनाली के करीबी सूत्रों के मुताबिक सोनाली शराब जरूर पीती थी. मगर ड्रग्स लेने के बाद में उन्हें कोई जानकारी नहीं है. 

शराब के नशे में थी सोनाली, फिर दिया गया ड्रग
अब यहां सवाल ये उठता है कि सुबह साढे चार बजे जब सोनाली इस हालत में कैमरे में कैद हुई, तब वो सिर्फ शराब के नशे में थी या फिर तब तक उसे शऱाब में कोई ड्रग्स मिला कर दिया जा चुका था. जिस कर्लिस रेस्तरां में ये पार्टी थी, वो रेस्तरां डग्स और रेव पार्टी को लेकर पूरे गोवा में पहले से बदनाम और कुख्यात है. आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक पार्टी के दौरान ही सोनाली को ड्रग्स दिया जा चुका था. शराब की वजह से वो पहले से ही नशे में थी. ऊपर से ड्रग ने और भी अपना असर दिखाया. इसी के बाद उसकी तबीयत बिगडी. जिस पर सुधीर उसे बाथरूम ले गया. शराब और ड्रग के कॉकटेल का नशा सोनाली के लिए खतरनाक हो चुका था. यही वजह है कि उसे नॉर्मल करने के लिए सुधीर करीब दो घंटे तक सोनाली के साथ बाथरूम के अंदर था. 

सोनाली बेहोश थी या मर चुकी थी?
सूत्रों का कहना है कि सुबह होने पर सोनाली की तबीयत में थोडा सुधार हुआ. इसी के बाद सुधीर और सुखविंदर सोनाली को लियोनी रिसॉर्ट ले गए. सोनाली इन दोनों के साथ इसी रिसॉर्ट में ठहरी थी. कर्लिस रेस्तरां से लियोनी रिसॉर्ट की दूरी करीब 2 किलोमीटर है. लेकिन रिसॉर्ट पहुंचने के बाद सुबह सोनाली की तबीयत फिर बिगडने लगी. इसके बाद उसे पहले पास के ही एक पाइवेट अस्पताल ले जाया गया. सोनाली को रिसॉर्ट का जो स्टाफ और जिस टैक्सी ड्राइवर ने अस्पताल पहुंचाया था, उनसे भी पुलिस पूछताछ कर रही है. सूत्रों के मुताबिक जब सोनाली अस्पताल पहुंची, तब वो बेहोश थी. हालांकि पुख्ता तौर पर ये नहीं कहा जा सकता कि वो सचमुच बेहोश थी या फिर तब तक उसकी मौत हो चुकी थी.

सोनाली की शराब में जानबूझ कर मिलाया था लिक्विड
अब सवाल ये है कि रात से लेकर सुबह तक आखिर हुआ क्या था. तो अब तक की तफ्तीश के बाद गोवा पुलिस को जो कुछ जानकारी मिली है उसके मुताबिक सोनाली सुधीर और सुखविंदर के साथ 22 अगस्त की देर रात कर्लिस रेस्तरां पहुंची थी. अंजुना बीच के करीब मौजूद ये रेस्तरां लेट नाइट पार्टी, तेज म्यूजिक, डांस और रेव पार्टी के लिए मशहूर भी है और बदनाम भी. पार्टी में चश्मदीदों और सीसीटीवी कैमरे से पता चलता है कि पार्टी के दौरान सोनाली ने शराब भी पी और डांस भी किया. गोवा पुलिस के मुताबिक कुछ कैमरों से साफ पता चलता है कि सुधीर और सुखविंदर सोनाली की शराब में कुछ मिला कर उसे पिला रहे हैं. गोवा पुलिस के आईजी ने दावा किया कि इन दोनों ने पुलिस की पूछताछ में कबूल किया है कि उन्होंने सोनाली की शराब में जानबूझ कर कुछ लिक्विड मिलाया था.

सोनाली को जबरन दी गई थी ड्रग
तो बकौल पुलिस सोनाली को सिंथेटिक्स ड्रग्स दिया गया. वो भी फोर्सफुली यानी जबरदस्ती. सवाल ये है कि सुधीर और उसके दोस्त ने आखिर सोनाली को जबरन ड्रग्स क्यों दिया. मकसद सिर्फ पार्टी में मस्ती करना भर था या फिर कुछ. और अगर ड्रग्स का ओवरडोज देकर सोनाली को मारना ही उनका इरादा था, तो फिर सोनाली के परिवार वालों का वो इल्जाम हल्का हो जाता है, जिसमें उन्होंने सोनाली को एक लंबे वक्त से खाने में कोई ड्रग या ज़हर देने की बात कर रहे हैं. अगर आरोपियों का इरादा स्लो प्वायजन देकर सोनाली को मारना था और जिसके लिए वो महीनों से कोशिश कर रहे थे, तो फिर वो अचानक सोनाली को ड्रग का ओवरडोज देकर मारने का जोखिम नहीं उठाएंगे, क्योंकि ऐसे में शक सीधे उन्हीं पर जाएगा.

सोनाली की मौत पर सवाल
हालांकि दूसरी तरफ गोवा पुलिस ने अब ये साफ कर दिया है कि सोनाली की मौत दिल का दौरा पड़ने से नहीं हुई. लेकिन मौत कैसे हुई, मौत की वजह क्या थी, ये डॉक्टरों ने अभी तक साफ नहीं किया है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सोनाली के शरीर पर चोट के जिन निशानों के बारे में कहा गया था, उस पर भी गोवा पुलिस ने सफाई दी है. गोवा पुलिस के डीजीपी के मुताबिक सोनाली के शरीर पर जो निशान मिले हैं, वो दरअसल सोनाली को रिसॉर्ट से अस्पताल पहुंचाते वक्त उसे उठाने और बिठाने के दौरान लगे थे. 

पुलिस और परिवार के दावों में अंतर!
सोनाली गोवा एक शूट के सिलसिले में गई थी. हालांकि घरवालों ने कहा है कि उन्हें इस शूट के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. यहां तक कि गोवा में सोनाली का कोई शूट था भी नहीं. लेकिन गोवा पुलिस के मुताबिक सोनाली गोवा में एक वीडियो शूट करनेवाली थी और इसके लिए मुंबई का एक ग्रुप गोवा आनेवाला था. सोनाली के घरवालों ने इल्जाम लगाया है कि सोनाली का पीए सुधीर सांगवान सोनाली को ब्लैकमेल कर रहा था. उसने सोनाली का रेप भी किया था. लेकिन गोवा पुलिस के मुताबिक सुधीर ने दावा किया है कि वो सोनाली के साथ रिलेशनशिप में था. 

फॉरेंसिक और विसरा रिपोर्ट का इंतजार
फिलहाल हत्या का मुकदमा दर्ज करने के बाद गोवा पुलिस ने सुधीर और सुखविंदर को शुक्रवार को धारा 302/34 के तहत गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन मामला कत्ल का ही है, डग्स के ओवरडोज का या जबरन डग देकर मारने का, इसका खुलासा तभी होगा, जब फॉरेंसिक और विसरा रिपोर्ट सामने आएगी. यानी फिलहाल सोनाली की मौत का मामला पूरी तरह से खुला हुआ है. ये मर्डर भी हो सकता है. ड्रग के ओवरडोज से हुई मौत भी और डग से जुड़ी साजिश भी. पर मान लीजिए कि अगर ये मर्डर है यानी सोनाली का कत्ल हुआ है, तो फिर कत्ल की वजह क्या है?

ड्रग की केमिकल जांच कराएगी पुलिस
इस बीच सोनाली की मौत को लेकर कई नए खुलासे हुए हैं. पुलिस सूत्रों की मानें तो उसके पास सोनाली केस में ड्रग्स एंगल पर सीधा सबूत है. गोवा पुलिस ने एक सीसीटीवी फुटेज जब्त की है, जिसमें सोनाली का पीए सुधीर एक बोतल से सोनाली को कुछ पिलाता दिख रहा है और सोनाली उसे रोकने की कोशिश कर रही है. सूत्रों की मानें तो आरोपियों ने पूछताछ में बताया है कि उन्होंने डेढ ग्राम एमडीएमए ड्रग्स बोतल में डाल कर तैयार किया था. जिसे सोनाली को पिलाया गया. पुलिस ने कहा है कि वो इस ड्रग की केमिकल जांच भी करवाएगी. एमडीएमए एक केमिकल ड्रग है, जिसका ऐसी पार्टियों में अक्सर इस्तेमाल होता है. दूसरे केमिकल ड्रग्स में एफेड्रोन, एमफिटामाइन, एक्सटैसी, म्याऊ-म्याऊ शामिल हैं. इन सभी ड्रग्स के साथ ओवरडोज की हालत में खतरा जिंदगी पर भी होता है.

इसी रेस्तरां में हुआ था ब्रिटिश लड़की स्कारलेट का रेप-मर्डर
अब बात एक बार फिर कर्लिज रेस्तरां की. ये वो रेस्तरां है, जो 14 साल की ब्रिटिश लड़की स्कारलेट किलिंग के साथ हुए रेप और कत्ल की वारदात के चलते भी सुर्खियों में रहा था. साल 2008 में इस वारदात ने कर्लिज रेस्तरां को अचानक सबकी निगाहों में ला दिया था. तब इस मामले में हाई प्रोफाइल लोग, पुलिस, पॉलिटिशियन और डग माफिया के ऐसे खतरनाक गठजोड का पता चला था कि लोग हैरान रह गए थे. बाद में इस मामले में गोवा के तत्कालीन गृह मंत्री रवि नायक के साहबजादे का भी नाम सामने आया था. तब स्कार्लेट की मां फियोना मैकइयोन ने इल्जाम लगाया था कि रॉय नायक ने ही उनकी नाबालिग बेटी की ड्रग देकर जान ले ली. लेकिन इसके बावजूद कर्लिज का नाम लेट नाइट और रेव पार्टीज की वजह से बदनाम होता रहा.

रेस्तरां को लाइसेंस दिए जाने भी सवाल 
वैसे सिर्फ नशे वाली पार्टीज के लिए ही नहीं इस रेस्तरां को लाइसेंस दिए जाने के मामले पर भी अनियमितता के इल्ज़ाम लगते रहे हैं. कर्लीज के मालिक और अंजुना पंचायत के पूर्व सरपंच एडविन न्यूनेस का नाम भी विवादों में रहा है. कहते हैं कि एडविन हमेशा सत्ता के चहेते रहे, चाहे गोवा में किसी भी पार्टी की सरकार रही हो. इससे पहले अगस्त 2017 में भी कर्लिज के मालिक एडविन न्यूनेस को रेस्तरां में ड्रग्स पार्टी के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था, जब केरल और तामिलनाडु के दो नौजवानों की ड्रग्स की ओवरडोज के चलते मौत हो गई थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें