scorecardresearch
 

Sidhu Moose Wala Murder: सचिन बिश्नोई के कहने पर की गई थी मूसेवाला की रेकी, फिर शूटर्स ने किया था हमला

भारत से 3,679 किमी दूर जाकर बैठे सचिन बिश्नोई ने कभी सोचा भी नहीं था कि वो विदेश में पकड़ा जाएगा. मगर ऐसा हुआ और वो गिरफ्तार कर लिया गया. ये वही सचिन बिश्नोई है, जिसका नाम सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पहले दिन से ही आ रहा था.

X
मूसेवाला की हत्या की साजिश में सचिन का नाम पहले दिन से आ रहा था
मूसेवाला की हत्या की साजिश में सचिन का नाम पहले दिन से आ रहा था

मशहूर पंजाबी सिंगर और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला के मर्डर की जांच में पहले दिन से ही विदेशी कनेक्शन सामने आ रहा था. क्योंकि इस घटना का एक मास्टरमाइंड कनाडा में बैठा गोल्डी बराड़ था और दूसरा जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई. इन दोनों के आपसी रिश्ते काफी मजबूत हैं. इसी गैंगस्टर जोड़ी का गुर्गा है सचिन बिश्नोई, जिसे अजरबैजान से गिरफ्तार किया गया है. सचिन का मूसेवाला हत्याकांड में अहम रोल था.

भारत से 3,679 किमी दूर जाकर बैठे सचिन बिश्नोई ने कभी सोचा भी नहीं था कि वो विदेश में पकड़ा जाएगा. लेकिन ऐसा हुआ और वो गिरफ्तार कर लिया गया. ये वही सचिन बिश्नोई है, जिसका नाम सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पहले दिन से ही आ रहा था. मगर वो कानून की पहुंच से बहुत दूर जा चुका था.

कौन है सचिन बिश्नोई

दरअसल, शातिर सचिन बिश्नोई जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का भांजा है. जो विदेशी में बैठकर लॉरेंस बिश्नोई गैंग को वहीं से ऑपरेट करता है. सचिन वही नाम है, जिसका जिक्र मूसेवाला मर्डर केस में एजेंसियां लगातार करती रही हैं. जांच एजेंसियां सचिन को इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड करार देती रही हैं. यही वजह है कि वो शुरू से ही जांच अधिकारियों के रडार पर रहा है. पुलिस का दावा था कि सचिन के कहने पर ही संदीप उर्फ केकड़ा ने सिद्धू मूसेवाला की रेकी की थी, क्योंकि वो सचिन का दोस्त है. यानी सीधे तौर पर सचिन का इस मर्डर केस से नाता है.

सचिन के दोस्त केकड़ा ने की थी रेकी

वारदात के दिन संदीप उर्फ केकड़ा सिद्धू मूसेवाला का फैन बनकर उनके घर पहुंचा था. वो काफी देर तक वहां जमा रहा और मौका मिलने पर उसने बाहर मूसेवाला के साथ सेल्फी ली थी. इसके बाद भी वो वहीं मौजूद था. जब मूसेवाला घर से बाहर निकले तो उसने फौरन इस बात की इत्तिला शूटरों को दे दी थी. उसकी जानकारी के आधार पर ही हमलावरों ने मूसेवाला को घेर मारने की योजना बनाई थी. इसके बाद उन्होंने अपनी साजिश को अंजाम भी दे डाला था.

सचिन बिश्नोई ने किया था चैनल में फोन! 

मूसेवाला की हत्या के बाद एक शख्स ने एक टीवी चैनल को फोन करके कहा था कि उनके गैंग अपने दोस्त विक्की मिद्दूखेड़ा की मौत का बदला लेने के लिए इस हत्याकांड को अंजाम दिया है. हालांकि, वो फोन कॉल चैनल के दफ्तर में सचिन ने ही की थी, इस बात की पुष्टि जांच एजेंसियों ने अभी तक नहीं की है. 

सचिन ने इस्तेमाल किया फर्जी पासपोर्ट

अजरबैजान में सचिन के पकड़े जाने के बाद पता चला है कि उसके पास से फर्जी पासपोर्ट भी मिला है. जिस पर तिलक राज टूटेजा का नाम लिखा है. जिसे वो इस्तेमाल कर रहा था. असल में सचिन अपना पूरा नाम सचिन थापन लिखता है, जबकि उसके पिता का असली नाम शिव दत्त है. लेकिन बरामद किए गए फर्जी पासपोर्ट पर उसके पिता का नाम भीम सेन दर्ज है. उसने पासपोर्ट में अपना पता भी गलत दर्ज कर रखा है. पासपोर्ट में उसका पता मकान नंबर 330, ब्लॉक एफ-3, संगम विहार, दिल्ली पाया गया है. जबकि उसका असली पता वीपीओ दतारियां वाली, जिला फजिल्का है.

गोल्डी और लॉरेंस ने रची थी पूरी साजिश

गौरतलब है कि 29 मई 2022 को पंजाब में सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी गई थी. उन्हें सरेआम गोलियों से भूना गया था, इस हमले की वजह से मौके पर ही मूसेवाला की मौत हो गई थी. जांच में पता चला कि कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के साथ मिलकर मूसेवाला की हत्या की साजिश रची थी और फिर उसे अपने शूटरों के जरिए अंजाम तक पहुंचाया था.

गैंगवार में मारा गया संदीप

हाल ही में गोल्डी बराड़ की दुश्मन गैंग का एक गैंगस्टर फिलीपींस में मारा गया था. मारे गए गैंगस्टर का नाम संदीप था, जो बमबीहा गैंग के लिए काम करता था. आपको याद दिलाते चलें कि बमबीहा और गोल्डी बराड़ गैंग के बीच लंबे समय से गैंगवार चली आ रही है. जिसकी वजह से पंजाब के मंदीप समेत दोनों ही गैंग के कई गुर्गे अपनी जान से हाथ धो चुके हैं. 

गोल्डी गैंग ने ली संदीप के कत्ल की जिम्मेदारी

संदीप की हत्या के बाद उसके मर्डर की जिम्मेदारी गोल्डी बराड़ गैंग ने ली थी. दरअसल, सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल और फिलहाल फरार शूटर दीपक मुंडी का एक ऑडियो सामने आया था. जिसमें वह दावा कर रहा था कि फिलीपींस में बंबिहा गैंग के मुख्य गैंगस्टर की हत्या गोल्डी बराड़ ने कराई है. दीपक मुंडी लॉरेंस और बराड़ गैंग का शूटर है, जिसे दिल्ली, पंजाब, हरियाणा की पुलिस तलाश रही है. सिद्धू मुसावाला पर गोली चलाने वाले इस शूटर पर पुलिस ने इनाम भी घोषित कर रखा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें