scorecardresearch
 

दो शादीशुदा प्रेमी, अवैध संबंध और तांत्रिक की साजिश... दिल दहला देगी डबल मर्डर की ये खौफनाक कहानी

जंगल में सड़क से कुछ दूर दो लाशें पड़ी हुई थीं. मरने वालों में एक पुरुष था और दूसरी महिला. दोनों के जिस्म लहुलुहान थे. वे दोनों ही अर्धनग्न जैसी अवस्था में थे. ऐसा लग रहा था कि कातिलों ने उनके जिस्म को बुरी तरह से जख्मी किया था. यहां तक कि उन दोनों के प्राइवेट पार्ट भी जख्मी थे.

X
कातिल तांत्रिक भालेश कुमार को पकड़ने के लिए पुलिस ने 200 लोगों से पूछताछ की
कातिल तांत्रिक भालेश कुमार को पकड़ने के लिए पुलिस ने 200 लोगों से पूछताछ की

राजस्थान का उदयपुर जिला दो दिन से खबरों में बना हुआ है. इत्तेफाक कहें या कुछ और लेकिन दो दिनों के अंदर उदयपुर के गोगुंदा थाना इलाके से दूसरी बड़ी ख़बर सामने आई है, जिसने पुलिस को भी हैरान कर दिया है. अब हम आपको इस दूसरी ख़बर के बारे में तफ्सील से बताएं, उससे पहले आपको बता दें कि इसी इलाके में एक मकान से सोमवार की सुबह एक ही परिवार के 6 लोगों की लाशें मिलने से हड़कंप मच गया था. मरने वालों में एक दपंति और उनके चार मासूम बच्चे शामिल थे. पुलिस उस मामले की छानबीन कर ही रही थी कि मंगलवार को दूसरा बड़ा मामला सामने आ गया.

18 नवंबर 2022

जुर्म की इस सनसनीखेज कहानी का आगाज भी उदयपुर के गोगुंदा थाना इलाके से हुआ. जहां मौजूद है मजावद गांव. गांव से ही लगा हुआ केलाबावड़ी का जंगली इलाका. जिसके साथ-साथ सड़क बनी हुई है. लोग उसी सड़क के जरिए गांव में आते-जाते हैं. शुक्रवार की सुबह गांव के लोग रोज़ की तरह अपने-अपने काम पर जाने के लिए घरों से निकले. तभी मजावद से करीब 200 मीटर दूर ऊबेश्वरजी रोड के करीब जंगल में लोगों ने ऐसा मंजर देखा कि वे सहम गए.  

जंगल में पड़ी थीं लाशें

जंगल में सड़क से कुछ दूर दो लाशें पड़ी हुई थीं. मरने वालों में एक पुरुष था और दूसरी महिला. दोनों के जिस्म लहुलुहान थे. वे दोनों ही अर्धनग्न जैसी अवस्था में थे. ऐसा लग रहा था कि कातिलों ने उनके जिस्म को बुरी तरह से जख्मी किया था. यहां तक कि उन दोनों के प्राइवेट पार्ट भी जख्मी थे. ये सब देखकर किसी ने फौरन पुलिस को इत्तिला दी. तब तक ये खबर इलाके में आग की तरह फैल चुकी थी. 

सबसे पहले पहुंचे थे 2 पुलिसकर्मी

मौका-ए-वारदात पर लोगों की भीड़ बढ़ती जा रही थी. दो लाशों के बारे में सूचना मिलने के बाद सबसे पहले गोगुंदा थाने के कांस्टेबल विजेश कुमार और कांस्टेबल भवानी सिंह मौके पर पहुंचे. पुलिसवालों ने पास जाकर देखा तो लाश एक युवक और युवती की थी. मृत लड़की ने कुर्ती और लेगी पहन हुई थी. जबकि मृतक युवक जींस-टीशर्ट पहले हुए था. 

दोनों के प्राइवेट पार्ट भी थे जख्मी

दोनों पुलिसवालों ने अपने थानाध्यक्ष और आला अधिकारियों की इस खौफनाक वारदात के बारे में फोन पर सूचना दी. मौके की नजाकत को समझते हुए पलिस के आला अफसर भी मौके पर पहुंच गए. दोनों लाशों की जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि युवक का प्राइवेट पार्ट कटा हुआ था और लड़की के प्राइवेट पार्ट पर भी चोट के निशान मौजूद थे. ऐसा लग रहा था कि किसी ने बड़ी बेरहमी से उनका कत्ल किया है.

डबल मर्डर का मामला

दोनों लाशों की हालत और मौका-ए-वारदात के हालात देखकर पुलिस समझ चुकी थी कि इन दोनों का कत्ल किया गया है. लेकिन सबसे पहले पुलिस को उन दोनों की पहचान करनी थी. पुलिस जानना चाहती थी कि आखिर मरने वाले दोनों लोग कौन थे? इस काम में पुलिस को ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी. कुछ भागदौड़ और पूछताछ के बाद पुलिस को पता चल चुका था कि मरने वाले कौन थे?   

दोनों मृतकों की शिनाख्त

दरअसल, मरने वाले युवक का ताल्लुक आदिवासी समुदाय से था. उसकी शिनाख्त 30 वर्षीय राहुल मीणा के रूप में हुई जो कि पेशे से एक टीचर था. वहीं, युवती की पहचान 28 साल की सोनू कुंवर के तौर पर हुई. जिसका संबंध राजपूत समाज से था. दोनों के घर मौका-ए-वारदात से 10 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों में ही मौजूद थे. अब पुलिस कत्ल की वजह और कातिल को तलाश कर रही थी.

कातिल की तलाश में जुटी पुलिस

पुलिस ने दोनों लाशों को पंचनामे के बाद मोर्चरी के लिए रवाना कर दिया और आस-पास के इलाके में कातिल का सुराग और सबूत जुटाने के लिए छानबीन की. लेकिन काफी देर सर्च करने के बाद भी पुलिस को कुछ नहीं मिला. लेकिन पुलिस ने इस मामले को एक चुनौती के तौर पर लिया और आस-पास के इलाके में रहने वाले, मृतकों के परिचित और जान पहचान वाले और दोनों के गांव वालों से भी पूछताछ की.

दोनों के बीच था एक्सट्रा मैरिटल अफेयर 

पूछताछ में पुलिस को हैरान करने वाली बात पता चली. मरने वाले राहुल और सोनू दोनों ही शादीशुदा थे. उन दोनों जीवन साथी भी कोई और ही थे. मगर इन दोनों के बीच एक्सट्रा मैरिटल अफेयर चल रहा था. इसके बाद पुलिस ने इस मामले में कई एंगल से जांच करने का फैसला किया. पुलिस ने इस काम के लिए अलग-अलग टीम गठित करके तफ्तीश आगे बढ़ाई. नतीजा ये हुआ कि पुलिस ने इस सनसनीखेज और खौफनाक हत्याकांड का खुलासा महज 72 घंटे में कर दिया.  

तंत्र-मंत्र और डबल मर्डर

इस दोहरे कत्ल की जघन्य, बर्बर और सनसनीखेज वारदात की कहानी सुनकर लोगों की रूह कांप गई. इस डबल मर्डर का खुलासा खुद उदयपुर के पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने किया. असल में इस डबल मर्डर कहानी का ताल्लुक तंत्र-मंत्र और अंधविश्वास से था. इस केस की पटकथा में टोना-टोटका भी शामिल था. पुलिस ने इस मामले में एक शातिर तांत्रिक को गिरफ्तार किया है, जिसने पूरी वारदात की खौफनाक कहानी बयां की. 

कातिल निकला तांत्रिक  

पुलिस ने जब 55 साल के तांत्रिक भालेश कुमार को पकड़कर सख्ती से पूछताछ की तो डबल मर्डर की ऐसी कहानी सामने आई कि पुलिस भी हैरान थी. तांत्रिक भालेश कुमार ने पुलिस को बताया कि वह पिछले करीब आठ साल से भादवी गुड़ा के इच्छापूर्ण शेषनाग भावजी मंदिर में लोगों का कष्ट निवारण के लिए ताबीज बनाता है. वहीं सोनू कुंवर नाम की लड़की और मृतक राहुल मीणा के घरवाले भी आया-जाया करते थे. 

पत्नी से झगड़ा करने लगा था राहुल

उसी मंदिर में एक दिन दर्शन के दौरान राहुल मीणा और सोनू कुंवर की मुलाकात हुई. वहीं दोनों की आँखें चार हो गई. अक्सर दोनों मंदिर में आते और मिलते. जल्द ही उनकी दोस्ती हो गई थी. लेकिन परेशानी ये थी कि दोनों ही पहले से शादीशुदा थे. सोनू से अफेयर हो जाने के बाद राहुल अपनी पत्नी से दूर रहने लगा था. इसी बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा होने लगा.

तांत्रिक से मदद मांगने पहुंची थी राहुल की पत्नी 

आए दिन होने वाली कलेश और झगड़े से तंग आकर एक दिन राहुल की पत्नी भी मदद मांगने के लिए इच्छापूर्ण शेषनाग भावजी मंदिर में बैठने वाले तांत्रिक भालेश कुमार के पास जा पहुंची. उसने तांत्रिक को सारी बात बताकर मदद की गुहार लगाई. महिला की परेशानी सुनकर तांत्रिक भालेश ने राहुल और सोनू के अवैध संबंधों के बारे में उसे सब कुछ बता दिया. ये बात सुनकर राहुल पत्नी दंग रह गई. इस खुलासे के बाद भालेश ने राहुल को पत्नी को अपने विश्वास में ले लिया. 

राहुल और सोनू के खिलाफ तांत्रिक ने रची साजिश

अब तांत्रिक की नजर राहुल की महबूबा सोनू कुंवर पर थी. इसलिए तांत्रिक ने सोनू कुंवर से नजदीकियां बढ़ानी शुरू कर दीं. मगर राहुल को सारा माजरा पता चल चुका था. तब राहुल और सोनू दोनों तांत्रिक भालेश के पास पहुंचे और उसे बदनाम करने की धमकी दे डाली. भालेश उनकी धमकी से डर गया. उसे भक्तों के बीच अपने नाम और पहचान के खराब होने के डर सताने लगा. इसी परेशानी में तांत्रिक ने एक खौफनाक साजिश रच डाली. जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था.

तांत्रिक ने खरीदे थे फेवीक्विक के 50 पाउच

तांत्रिक भालेश कुमार राहुल और उसकी प्रेमिका को रास्ते से हटाने का पूरा प्लान बना चुका था. उसी प्लान के मुताबिक भालेश बाजार गया और उसने वहां से एक साथ करीब 50 फेवीक्विक के पाउच खरीदे. फिर उसने उनके केमिकल लिक्विड को एक बोतल में भरकर अपने पास रख लिया. अब प्लान को अंजाम तक पहुंचाने का वक्त आ चुका था.  

बहाने से राहुल और सोनू को बुलाया

तांत्रिक भालेश ने 15 नवंबर 2022 की शाम राहुल और सोनू को फोन करके एक टोटके का बहाना बनाया और दोनों को अपने पास सुखाड़िया सर्किल में बुला लिया. फिर तांत्रिक उवन दोनों को साथ लेकर अनुष्ठान के नाम पर गोगुंदा इलाके के सुनसान जंगल में ले गया.

तांत्रिक ने कहा- शारीरिक संबंध बनाओ 

जंगल में एक दम सन्नाटा था. दूर दूर तक कोई भी इंसान नहीं दिख रहा था. तांत्रिक ने दोनों से कहा कि अगर तुम दोनों हमेशा के लिए एक होना चाहते हो तो जैसा कहता हूं, करते जाओ. सबसे पहले भालेश ने उन दोनों को अपने-अपने कपड़े उतारने के लिए कहा. जब दोनों नग्न हो गए तो उन दोनों को उसी के सामने शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहा. 

दोनों पर उड़ेला फेवीक्विक

जब भालेश की बात मानकर दोनों इंटीमेट होने लगे, तभी अचानक तांत्रिक ने बोतल में भरा फेवीक्विक उन दोनों के ऊपर उड़ेल दिया. इससे पहले कि राहुल और सोनू कुछ समझ पाते, वो दोनों एक-दूसरे से बुरी तरह चिपक गए. उनके जिस्म कई जगह से बुरी तरह से चिपक चुके थे. जिसकी वजह से दोनों की हालत खराब हो गई. जब दोनों ने जबरन अलग होने की कोशिश की तो उनकी खाल तक जिस्म से उखड़ गई. 

दोनों के प्राइवेट पार्ट पर किए वार

राहुल और सोनू संभलने की कोशिश कर ही रहे थे कि तांत्रिक भालेश उन दोनों पर चाकू और पत्थरों से हमला कर दिया. उसने दोनों के प्राइवेट पार्ट पर एक बाद एक कई वार किए. उन्हें पत्थरों से कुचला. नतीजा ये हुआ कि दोनों लहूलुहान होकर वहीं गिर पड़े और उनकी मौत हो गई. डबल मडर की इस वारदात को अंजाम देकर भालेश वहां से भाग निकला. पुलिस ने तीन दिन बाद उन दोनों की लाशें जंगल से बरामद की.

50 सीसीटीवी कैमरे, 200 लोगों से पूछताछ

उदयपुर के पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने बताया कि दोनों की लाशें बरामद होने के बाद पुलिस की टीमों ने करीब 50 जगहों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला और साथ ही करीब 200 लोगों से पूछताछ की गई. लंबी और तेज तहकीकात के चलते ही कुछ ऐसे सुराग और सबूत मिले, जिनके आधार पर पुलिस तांत्रिक भालेश कुमार पुत्र गणेशलाल जोशी तक पहुंची. जब उससे पूछताछ की गई तो डबल मर्डर का ये मामला खुल गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें