scorecardresearch
 

प्रत्यर्पण से बचने के लिए नीरव मोदी के वकील की अजीबोगरीब दलील, कोर्ट और जेल पर उठाए सवाल

नीरव मोदी की वकील ने लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में प्रत्यर्पण की सुनवाई के दौरान कई विवादित बयान दिए. उन्होंने दलील में भारत की न्याय प्रणाली पर सवाल उठाए और जेल की स्थितियों पर तीखे हमले किए. 

नीरव मोदी (फाइल फोटो) नीरव मोदी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्रत्यर्पण को लेकर लंदन की कोर्ट में सुनवाई
  • नीरव मोदी की वकील ने दिया विवादित बयान
  • अस्पताल और जेल की स्थितियों का मामला उठाया

भारत के भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी की वकील ने लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में प्रत्यर्पण की सुनवाई के दौरान कई विवादित बयान दिए. उन्होंने दलील में भारत की न्याय प्रणाली पर सवाल उठाए और जेल की स्थितियों पर तीखे हमले किए. 

नीरव मोदी की वकील क्लेयर मॉन्टगोमेरी ने सुप्रीम कोर्ट को राजनीतिक रूप से 'प्रभावित' और जेल की स्थितियों को 'शेमलेस' बताया है. वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की सुनवाई के दूसरे चरण के दूसरे दिन क्लेयर मॉन्टगोमेरी ने अपने बयान में भारत में 'पक्षपाती' राजनीतिक माहौल पर कड़ा प्रहार किया.

क्लेयर मॉन्टगोमेरी ने भारत के अस्पतालों में बेड से लेकर स्टाफ की कमी और जेल की स्थितियों पर हमला किया और शेमलेस करार दिया. क्लेयर मॉन्टगोमेरी ने नीरव मोदी को डिप्रेशन का मरीज मानते हुए कहा कि भारत में जेलों की जिस तरह की स्थिति है उससे वह आत्महत्या कर सकते हैं.

नीरव मोदी की वकील का विवादित बयान देना यहीं नहीं थमा. उन्होंने कहा कि भारत में नीरव मोदी का निष्पक्ष ट्रायल नहीं होगा, क्योंकि ये एक राजनीतिक मामला हो चुका है. वहां भय का माहौल है. भारत की न्याय प्रणाली में गिरावट आई है. राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का संदर्भ लेते हुए उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट पर भी राजनीतिक प्रभाव है. 

बता दें कि नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मुकदमे के दूसरे चरण की सुनवाई सोमवार से शुरू हुई है. ये सुनवाई पांच दिन चलेगी. इससे पहले न्यायाधीश गूजी ने मई में प्रत्यर्पण के पहले चरण की सुनवाई की अध्यक्षता की थी, जिसके दौरान नीरव मोदी के खिलाफ धोखाधड़ी और धन शोधन का एक प्रथम दृष्टया मामला कायम करने का अनुरोध किया गया था. बता दें कि ब्रिटेन की क्राउन अभियोजन सेवा (सीपीएस) के जरिए भारत सरकार ने नीरव के प्रत्यर्पण को लेकर लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर अदालत में मुकदमा दायर किया हुआ है.

नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से करीब 14,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है. वह लंदन की जेल में है. धन शोधन के मामले में भी भारत में 49 वर्षीय हीरा व्यापारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें