scorecardresearch
 

हार्ट अटैक, धीमा जहर या जादू टोना.. सोनाली फोगाट की मौत पर क्या और क्यों उठ रहे सवाल?

क्या ये हार्ट अटैक से मौत का एक सीधा सा मामला है? या फिर उनकी मौत के पीछे कोई गहरी साजिश है? क्या इस साजिश के पीछे कोई सियासी वजह है? या फिर उनकी तरक्की और बढ़ती शोहरत के चलते कोई उन्हें रास्ते से हटाना चाहता था? कहीं ऐसा तो नहीं कि कोई उन्हें खाने में धीमा ज़हर दे रहा था? आखिर सोनाली की मौत का सच क्या है?

X
सोनाली फोगाट की मौत लेकर उनके घरवालों ने किसी साजिश का शक जताया है
15:39
सोनाली फोगाट की मौत लेकर उनके घरवालों ने किसी साजिश का शक जताया है

6 साल पहले रहस्यमयी तरीके से उनके पति की मौत हुई. अब 6 साल बाद ठीक उसी तरह से अचानक सोनाली फोगाट ने भी दुनिया को अलविदा कह दिया. 42 साल की सोनाली फोगाट की पहचान एक टिकटॉक स्टार और बीजेपी नेता के तौर पर थी. शुरुआती जांच में उनकी मौत की वजह हार्ट अटैक बताया जा रहा है. लेकिन उनके घरवालों का इल्जाम है कि उनकी मौत के पीछे एक गहरी साजिश है. आखिर वो कौन सी बात है जिसकी बिनाह पर घरवालों ने सोनाली की मौत पर सवाल उठाए हैं? 

हर पोस्ट पर लाइक्स की झड़ी
22 अगस्त की रात 9 बजकर 25 मिनट पर वो अपने ट्विटर एकाउंट का डीपी चेंज करती हैं. सिर पर गुलाबी रंग का साफा बांधे सुनहरे बालों के साथ सोनाली की इस नई तस्वीर को देखते ही देखते सैकड़ों लाइक मिलते हैं. कॉम्पलिमेंट्स और कमेंट्स की झड़ी लग जाती है. ट्विटर के साथ-साथ वो इंस्टाग्राम पर भी वो अपना एक शॉर्ट वीडियो पोस्ट करती हैं, जिसमें वो उसी गुलाबी रंग के साफे से अपना चेहरा ढंके हुए मुहम्मद रफी एक गाने पर एक्टिंग करती हुई दिखाई देती हैं. गाना है 'रुख से ज़रा नक़ाब उठा दो मेरे हुजूर...' इंस्टाग्राम पर सोनाली के इस बेहद खुशगवार वीडियो पर भी उनके फॉलोअर्स की लाइक्स की झड़ी लग जाती है.

हार्ट अटैक से मौत!
लेकिन अगले चंद घंटों में जो कुछ होता है, वो हर किसी की सोच से परे है. अचानक उनकी तबीयत बिगड़ती है और जब तक उन्हें डॉक्टर के पास ले जाया जाता है, देर हो चुकी होती है. बेहद खूबसूरत और चर्चित टिकटॉक स्टार और बीजेपी नेता सोनाली फोगाट की मौत हो जाती है और वजह हार्ट अटैक यानी दिल का दौरा पड़ने को बताया जाता है.

Credit: Sonali Phogat Twitter

मौत के पीछे कोई साजिश तो नहीं?
लेकिन क्या कहानी इतनी भर है? क्या ये हार्ट अटैक से मौत का एक सीधा सा मामला है? या फिर उनकी मौत के पीछे कोई गहरी साजिश है? क्या इस साजिश के पीछे कोई सियासी वजह है? या फिर उनकी तरक्की और बढ़ती शोहरत के चलते कोई उन्हें रास्ते से हटाना चाहता था? कहीं ऐसा तो नहीं कि कोई उन्हें खाने में धीमा ज़हर दे रहा था? आखिर सोनाली की मौत का सच क्या है? महज़ 42 साल की सोनाली की अचानक हार्ट अटैक से हुई इस मौत ने ऐसे कई सवाल खडे कर दिए हैं.

घरवाले जता रहे हैं शक
असल में उनके घरवालों के साथ-साथ उन्हें जाननेवाले करीबी लोगों ने उनकी मौत के बाद कुछ ऐसे ही सवाल उठाए हैं. जिन्होंने उनकी मौत के रहस्य को गहरा कर दिया है. लेकिन इससे पहले कि हम सोनाली की मौत के रहस्य को और समझने की कोशिश की जाए, उससे पहले उनके परिवार की बात सुन लें. सोनाली की मौत पर खुद उनके घरवालों को शक है. उनकी बहन बता रही है कि अपनी मौत से चंद घंटे पहले खुद सोनाली ने अपनी मां को फोन कर अपने किसी साजिश का शक जताया था. सोनाली ने अपनी मां से कहा था कि वो जब-जब खाना खाती है, उसे तकलीफ और बेचैनी सी होती है. उसे शक है कि कोई उनके साथ साजिश कर रहा है. 

जहर या जादू टोना!
ठीक ऐसे ही सोनाली के दूसरे घरवालों का भी कहना है कि सोनाली की अचानक हुई ये मौत सामान्य मौत नहीं है, बल्कि इसके पीछे कोई साजिश जरूर है. सवाल ये है कि आखिर सोनाली का इशारा किस ओर था? वो किससे और कैसी साज़िश की बात कर रही थी? अगर उनकी तबीयत खाना खाने के बाद बिगडती थी, तो फिर सवाल ये है कि क्या कोई उनके खाने में कोई ऐसी-वैसी चीज मिला रहा था? अगर ऐसा ही था तो यकीनन उनका कोई करीबी ही हो सकता है. या फिर उनका इशारा किसी जादू टोने की तरफ था? जाहिर है. घरवालों के इन बातों से कई सवाल खडे होते हैं और उनकी मौत का सच जानने के लिए इन सवालों की तह तक जाना भी बेहद जरूरी है.

Credit: Sonali Phogat Instagram

मां से कही थी साजिश की बात
सोनाली की बहन की मानें तो एक दिन पहले ही उनकी सोनाली से बात हुई थी. इस दौरान सोनाली फोगाट ने कहा था कि वे ठीक हैं. शूटिंग के लिए जा रही हैं. उन्होंने बताया था कि वे 27 तारीख को लौट कर घर आ जाएंगी. इसके बाद सोनाली की सोमवार सुबह अपनी मां से बात हुई और इसी दौरान सोनाली ने अपनी मां को बताया कि खाना खाने के बाद उनके शरीर में कुछ हरकत सी हो रही है और ऐसा लग रहा है कि खाने में कुछ गड़बड़ की गई है, शायद कोई साजिश रच रहा है. 

गोवा में थी सोनाली
सूत्रों की मानें तो सोनाली फोगाट को बेचैनी की शिकायत के बाद उत्तरी गोवा जिले के अंजुना के सेंट एंथोनी अस्पताल में लाया गया था. गोवा डीजीपी जसपाल सिंह ने भी इसकी पुष्टि की है कि फोगाट अंजुना में करलिस रेस्टोरेंट में थीं, इसी दौरान उन्हें बेचैनी की शिकायत हुई. इसके बाद उन्हें अस्पताल लाया गया. हालांकि, उन्होंने कहा कि मामले में कोई भी गड़बड़ी नजर नहीं आ रही है.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार
अब तक की छानबीन के मुताबिक सोनाली फोगाट के शरीर पर किसी तरह के कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं. हालांकि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही उनकी मौत की वजह पूरी तरह साफ हो सकेगी. दूसरी ओर अस्पताल से जुडे सूत्रों का कहना है कि उन्हें मृत अवस्था में लाया गया था.

CBI जांच की मांग
अब हरियाणा के ही आम आदमी पार्टी के नेता नवीन जयहिंद ने एक ट्वीट किया. नवीन ने भी सोनाली की मौत पर शक जताते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर से इस मामले की जांच किसी सीटिंग जज या फिर सीबीआई से करवाने की मांग की है. हरियाणा में आम आदमी पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिन्द ने ट्वीट कर कहा, 'सोनाली फोगाट की आकस्मिक मौत होना दुखद है. भगवान उनकी आत्मा को शान्ति दे. उन्होंने कहा, हम मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मांग है कि लोग कह रहे हैं कि ये मौत संदिग्ध और रहस्यमयी है. इसकी CBI या हाईकोर्ट के सिटिंग जज से जांच करवाई जाए. Aiims में पोस्टमार्टम होना चाहिए क्योंकि लोगों को सोनाली की मौत पर संदेह है. ऐसे में सीएम को जांच के आदेश देने चाहिए.'

Credit: Sonali Phogat Instagram

शूटिंग के लिए गोवा गई थी सोनाली
जाहिर है सोनाली की मौत पर शक सिर्फ उनके घरवालों को ही नहीं, बल्कि उन्हें जाननेवाले दूसरे लोगों को भी है. ऐसे में भी मौत का सच सामने आने के लिए जांच भी जरूरी है. अपनी खूबसूरती और दिलकश अदाओं के साथ-साथ सियासी मौजूदगी के लिए पहचानी जानेवाली हरियाणा की सोनाली फोगाट अपने आख़िरी वक्त में शूटिंग के लिए अपनी टीम के साथ गोवा गई थी और वहीं उन्होंने आखिरी सांस ली. सोनाली के घरवालों की मानें तो इस दौरान उन्होंने कई बार उनसे फोन पर बात की थी और सोनाली ने अपनी मां से खुद हो रही तकलीफ और साजिश के बारे में बताया था.

बीजेपी से चुनाव लड़ चुकी थी सोनाली
सोनाली फोगाट ने 2019 के हरियाणा विधानसभा चुनाव में आदमपुर विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ा था, हालांकि वो हार गई थीं. उन्हें कांगेस के कुलदीप बिश्नोई ने हराया था. अब कुलदीप बिश्नोई भी बीजेपी में आ चुके हैं और इस सीट से वो अपने बेटे को चुनाव लड़ाना चाहते हैं. हालांकि इस पर होने वाले उपचुनाव में सोनाली फोगाट ने भी अपनी दावेदारी की थी. जाहिर है आदमपुर सीट को लेकर फोगाट और कुलदीप विश्नोई के बीच कहीं ना कहीं अंदरखाते सियासी रस्साकशी भी चल रही थी. हालांकि कुछ रोज़ पहले बेजीपी नेता कुलदीप विश्नोई ने सोनाली से उनके फार्म हाउस में आकर मुलाकात की थी और तब 18 अगस्त को सोनाली फोगाट ने इस मुलाकात की कुछ तस्वीरें भी सोशल मीडिया में पोस्ट की थी. इसके बाद नए सियासी समीकरणों का गुना-भाग भी शुरू हो चुका था. लेकिन इसी बीच अब सोनाली फोगाट की अचानक ही मौत हो गई. 

बीजेपी महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष थी सोनाली
सोनाली सोशल मीडिया पर काफी चर्चित थीं. वे टिकटॉक स्टार भी कही जाती थीं. सोनाली को बीजेपी ने महिला मोर्चा का उपाध्यक्ष बनाया था. वे हरियाणा, नई दिल्ली, चंडीगढ़ में एसटी विंग की इंचार्ज भी थी और बीजेपी की नेशनल एक्जीक्यूटिव कमेटी की मेंबर भी थीं. हरियाणा के फतेहाबाद की रहनेवाली सोनाली फोगाट का सफर बेशक तमाम संघर्ष और उतार चढावों से भरा हो, लेकिन उनकी जिंदगी अपने-आप में किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं.

दूरदर्शन से की थी करियर की शुरुआत
सोनाली फोगाट शुरू से ही एक अभिनेत्री बनना चाहती थीं. उन्होंने दूरदर्शन में एक हरियाणवी प्रोग्राम की एंकरिंग से अपने करियर की शुरुआत की. लेकिन तकदीर ने आखिरकार उन्हें एक सियासतदान बना दिया. लेकिन इससे पहले कि सियासत की दुनिया में और ऊंचे मुकाम हासिल करती, महज 42 साल की उम्र में उनकी मौत हो गई. उनकी मौत की शुरुआती वजह हार्ट अटैक बताई गई है, लेकिन घरवालों के साथ-साथ उनके बहुत से चाहनेवालों को लगता है कि शायद उनकी मौत के पीछे कोई साजिश है.

Credit: Sonali Phogat Instagram

2016 में हुई थी पति की मौत
फतेहाबाद की सोनाली सिंह की शादी हिसार करनेवाले संजय फोगाट से हुई थी. लेकिन शादी के कुछ साल बाद ही यानी 2016 में उनके पति संजय की अपने खेतों में रहस्यमयी हालत में मौत हो गई थी. अपने पति की मौत के वक्त सोनाली मुंबई में थीं. सोनाली और संजय को एक बेटी हैं, जिसकी परवरिश का जिम्मा अब अकेली सोनाली पर आ गया था और सोनाली इसे बेहतरीन तरीके से निभा भी रही थी, लेकिन अब अचानक उनकी मौत ने मासूम बच्ची के सिर से उसकी मां का साया भी छीन लिया.

अभिनेत्री बनना ही था मकसद
सोनाली जितनी खूबसूरत और दिलकश थीं, उनके इरादे भी उतने ही शानदार थें. उन्होंने चमक-दमक से भरी जिंदगी अच्छी लगती थीं और इसीलिए वो एक्टिंग में ही अपना करियर बनाना चाहती थीं. उन्होंने आजतक के टॉप क्राइम शो जुर्म और वारदात के लिए भी कई नाट्य रुपांतरणों में एक्टर के तौर पर हिस्सा लिया और अपनी अभिनय क्षमता का लोहा मनवाने में कामयाब रहीं. 

आदमपुर सीट से चुनाव हारी थी सोनाली
सोनाली ने साल 2008 में बीजेपी की मेंबरशिप ली और लगातार एक्टिव रहीं. पार्टी ने उन्हें साल 2019 में हुए विधानसभा चुनाव में हिसार जिले के आदमपुर सीट से कुलदीप बिश्नोई के खिलाफ मैदान में उतारा था. लेकिन बिश्नोई परिवार का मजबूत गढ़ होने के चलते वो चुनाव में हार गई. इसके बाद भी वो लगातार आदमपुर में एक्टिव रहीं. सोनाली और कुलदीप बिश्नोई राजनीतिक विरोधी थे. ऐसे में हाल ही में दोनों की मुलाकात हुई थी और माना जा रहा था कि आपसी गिले-शिकवे दूर करने के लिए मिले हैं. ये मुलाकात सोनाली के घर पर ही हुई थी. 

विवादों से रहा सोनाली का नाता
सोनाली का विवादों से भी नाता रहा और वो विवादों के चलते भी चर्चे में रहीं. सोशल मीडिया पर जून, 2020 में एक वीडियो खूब वायरल हुआ था. वीडियो में सोनाली फोगाट गल्ला मंडी में एक अफसर को चप्‍पल से मारती हुई नजर आईं थीं. इस पर खूब बवाल मचा था, जिसके बाद उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ था. साल 2019 में विधानसभा चुनाव के दौरान सोनाली अपने एक भाषण के कारण भी विवादों में रही थीं. उन्‍होंने हिसार के एक गांव में रैली के दौरान लोगों से 'भारत माता की जय' के नारे लगाने को कहा था. सोनाली ने इस दौरान कहा कि जो लोग नारे नहीं लगा रहे हैं, वो जरूर पाकिस्‍तान से हैं. 

हालांकि, बाद में सोनाली फोगाट ने अपने इस विवादित भाषण पर माफी भी मांगी थी. सोनाली फोगाट ने बीते साल अपनी बहन और बहनोई के खिलाफ पुलिस में मारपीट मामले को लेकर शिकायत दर्ज करवाई थी. बिग बॉस 14 में उनकी वाइल्ड कार्ड एंट्री हुई थी. अपनी छोटी परफॉर्मेंस में ही उन्होंने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा था.

  • क्या सोनाली फोगाट की मौत की सीबीआई जांच होनी चाहिए?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें