scorecardresearch
 

बलिया गोलीकांड: बिहार भाग गया था मुख्य आरोपी धीरेंद्र, ढूंढ रहा था छिपने का ठिकाना

एसटीएफ के मुताबिक इसकी पहली लोकेशन बिहार में मिली थी. इसके पास न तो मोबाइल था और न ही कोई असलहा था. धीरेंद्र सिंह की गिरफ्तारी का न तो कोई विरोध हुआ और न ही बल प्रयोग करना पड़ा.

धीरेंद्र सिंह (फाइल फोटो) धीरेंद्र सिंह (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बलिया कांड का आरोपी धीरेंद्र गिरफ्तार
  • लखनऊ से एसटीएफ ने किया गिरफ्तार
  • धीरेंद्र की गिरफ्तारी का नहीं हुआ विरोध

बलिया गोलीकांड में फरार मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया जा चुका है. उत्तर प्रदेश के लखनऊ से धीरेंद्र सिंह की गिरफ्तार हुई. हालांकि धीरेंद्र सिंह की गिरफ्तार के दौरान एसटीएफ को किसी तरह के बल का इस्तेमाल नहीं करना पड़ा.

धीरेंद्र सिंह लखनऊ में गाजीपुर थाना क्षेत्र के पॉलिटेक्निक इलाके से गिरफ्तार हुआ था. हालांकि शुरू में जो पुलिस सूत्रों ने खबर दी उसके मुताबिक उसकी गिरफ्तारी लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क की जगह बताई गई. जानकारी के मुताबिक धीरेंद्र बिहार से लखनऊ आ रही बस में सवार था और इंटेलिजेंस के आधार पर इसकी गिरफ्तारी हुई है.

एसटीएफ के मुताबिक इसकी पहली लोकेशन बिहार में मिली थी. इसके पास न तो मोबाइल था और न ही कोई असलहा था. धीरेंद्र सिंह की गिरफ्तारी का न तो कोई विरोध हुआ और न ही बल प्रयोग करना पड़ा. एसटीएफ के मुताबिक वह अपने किसी विश्वास पात्र के घर जाना चाहता था, जहां वह कुछ दिन गुजार सके, लेकिन इसी बीच वह गिरफ्तार हो गया.

बलिया लाया गया धीरेंद्र

वहीं धीरेंद्र सिंह को बलिया लाया जा चुका है. एसटीएफ धीरेंद्र सिंह के साथ दोपहर करीब 12:30 बजे लखनऊ से निकली थी और रात 8.30 बजे बलिया कोतवाली पहुंची. सूत्रों का कहना है कि पुलिस उसे सुबह 10 बजे के आसपास अदालत में पेश कर रिमांड में ले सकती है. इस बीच उसका बयान भी यहां दर्ज किया जाएगा.

देखें: आजतक LIVE TV

सीबीआई जांच की मांग
बलिया गोलीकांड में आरोपी धीरेंद्र सिंह का परिवार मामले की सीबीआई जांच चाहता है. इसके साथ ही नार्को टेस्ट कराये जाने की मांग कर रहा है. धीरेंद्र सिंह की भाभी आशा प्रताप और बेबी सिंह (नरेंद्र और प्रयाग सिंह की पत्नियां) एक तरफा जांच होने का आरोप राज्य सरकार पर लगा रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें