scorecardresearch
 

कोरोना की आफत में भी जारी सियासत, कहीं कीर्तन तो कहीं भीड़ में बंटे कंबल

कोरोना की आफत में भी जारी सियासत, कहीं कीर्तन तो कहीं भीड़ में बंटे कंबल

देश भर में कोरोना विकराल रूप अख्तियार करता जा रहा है. लेकिन जिन पर इस वक्त कोरोना को लेकर जागरुकता लाने की जिम्मेदारी है वो माननीय खुद कोरोना फैलाने जैसे काम कर रहे हैं. कोई पार्टी, कोई नेता पीछे नहीं है नासमझी दिखाने में. सियासी विरोध या नफे के लिए कोरोना का खतरा हर जगह मोल लिया जा रहा है. कहीं ये नेता भजन कीर्तन करते नजर आ रहे हैं तो कहीं यही नेता भीड़ इकठ्ठा कर कंबल बांटते नजर आए. अब सवाल उठता है कि जब कोरोना रोकने के नाम पर सरकारें, दुकान और फैक्ट्रियां बंदकर जनता को घर पर बैठा देती हैं. उनके लिए कोरोना के नियम कहां चले जाते हैं?

No party, no leader is behind in showing ignorance towards Corona Guidelines. Somewhere these leaders are seen doing bhajan kirtan, and somewhere these leaders are seen gathering the crowd and distributing blankets. Now the major question is that are these guildelines for people but not not for these MLA and Ministers? Watch video to know more.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×