scorecardresearch
 

कोरोना संक्रमित बेटे को बचाने की गुहार लगाती रही मां, युवक ने अस्पताल में तोड़ा दम

इस घटना ने कोरोना संकट से जूझ रहे तेलंगाना की चरमराती स्वास्थ्य व्यवस्था को एक बार फिर उजागर कर दिया है. यह घटना नलगोंडा जिला सरकारी अस्पताल की है.

जवान बेटे को बचाने की गुहार लगाती रही मां, नहीं मिली मदद (फोटो-आशीष पांडेय) जवान बेटे को बचाने की गुहार लगाती रही मां, नहीं मिली मदद (फोटो-आशीष पांडेय)

  • सरकारी अस्पताल में वेंटिलेटर की कमी का आरोप
  • कई घंटे तक कोई डॉक्टर मरीज को देखने नहीं आया
  • मां अपने जवान बेटे को बचाने की लगाती रही गुहार

तेलंगाना के नलगोंडा से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है. एक मां के सामने ही उसके जवान बेटे ने सांस लेने में हो रही तकलीफ के चलते दम तोड़ दिया. परिवार ने आरोप लगाया है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के कारण बेटे की मौत हुई है.

अस्पताल के वार्ड में मौजूद एक शख्स ने इस घटना को अपने कैमरे में कैद कर लिया. इस घटना ने कोरोना संकट से जूझ रहे तेलंगाना की चरमराती स्वास्थ्य व्यवस्था को एक बार फिर उजागर कर दिया है. यह घटना नलगोंडा जिला सरकारी अस्पताल की है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

युवक नलगोंडा जिले के मदुगुलापल्ली मंडल के सलकनूर गांव का रहने वाला था. कोरोना के लक्षण दिखने के बाद इस युवक को नलगोंडा के जिला सरकारी अस्पताल में शनिवार को भर्ती कराया गया था.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

परिवार का आरोप है कि घंटों तक कोई डॉक्टर कोरोना संक्रमित युवक को देखने नहीं आया जिससे उसकी हालत बिगड़ती गई. युवक सांस नहीं ले पा रहा था और उसकी मां मदद की गुहार लगा रही थी. लेकिन उसे कोई मदद नहीं मिली. वह अपने बेटे की जान बचाने के लिए ईश्वर से प्रार्थना कर रही थी. नेबुलाइजर लगाने की कोशिश की गई ताकि उसके बेटे की जान बच जाए, लेकिन दुर्भाग्य से जवान बेटे ने अपनी मां की आंखों के सामने ही दम तोड़ दिया.

मानवाधिकार आयोग ने भेजा नोटिस

आरोप लगाया जा रहा है कि अस्पताल में वेंटिलेटर नहीं है और न ही कोई जीवन रक्षक उपकरण है. इस बीच, राज्य के मानवाधिकार आयोग ने इस मामले में स्वतः संज्ञान लिया है. राज्य मानवाधिकार आयोग ने जिला कलेक्टर और जिला चिकित्सा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण अधिकारी को नोटिस जारी किया है. आयोग ने 21 जुलाई तक इस मामले में रिपोर्ट तलब की है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें