scorecardresearch
 

Corona: भारत में ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BA.4 और BA.5 की पुष्टि, अब तक तीन केस मिले

Coronavirus News: BA.4 और BA.5 वायरस तेजी से फैलता है. ऑमिक्रॉन के ये दोनों सब वैरिएंट सबसे ज्यादा संक्रमण फैलाने वाले वायरस माने गए हैं. ये सबसे पहले इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका में रिपोर्ट किए गए थे.

X
INSACOG ने कहा कि सब वैरिएंट पर नजर रखी जा रही है. फिलहाल, चिंताजनक स्थिति नहीं है. INSACOG ने कहा कि सब वैरिएंट पर नजर रखी जा रही है. फिलहाल, चिंताजनक स्थिति नहीं है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • INSACOG ने तीनों केस की पुष्टि की
  • एक केस तमिलनाडु और दो केस तेलंगाना में मिले

भारत में एक बार फिर कोरोनावायरस कहर बरपा सकता है. इसके लिए अभी से सचेत रहने की जरूरत है. इंसाकोग (INSACOG) ने भारत में कोरोनावायरस के BA.4 और BA.5 ओमिक्रॉन सब वैरिएंट के होने की पुष्टि की है. अब तक देश में तीन केस मिले हैं. इनमें एक मामला तमिलनाडु में और दो केस तेलंगाना में पाए गए हैं.

बताते चलें कि BA.4 और BA.5 वायरस तेजी से फैलता है. ऑमिक्रॉन के ये दोनों सब वैरिएंट सबसे ज्यादा संक्रमण फैलाने वाले वायरस माने गए हैं. रविवार को भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) ने  एक बयान में कहा कि तमिलनाडु में एक 19 साल की लड़की वायरस BA.4 सब वैरिएंट से संक्रमित पाई गई है. मरीज में सिर्फ हल्के ​​लक्षण देखने को मिले. उसे कोरोना वैक्सीन की डबल डोज लग चुकी है. उसकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री भी नहीं है.

इससे पहले हैदराबाद के एयरपोर्ट पर एक दक्षिण अफ्रीकी नागरिक को ओमिकॉन के BA.4 सब वैरिएंट से संक्रमित पाया गया. ये मरीज दक्षिण अफ्रीका से हैदराबाद आया था. यहां एयरपोर्ट पर जांच की गई तो चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई. मरीज की निगरानी की जा रही है.

एक अन्य मामले में तेलंगाना में एक 80 वर्षीय बुजुर्ग भी BA.5 सब वैरिएंट से संक्रमित पाया गया. बुजुर्ग में सिर्फ हल्के ​​लक्षण देखने को मिले हैं और उन्हें कोरोना वैक्सीन की डबल डोज लग चुकी है. मरीज की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है. 

संपर्क में आए लोगों का पता किया जा रहा

INSACOG ने बताया कि एहतियाती के तौर पर BA.4 और BA.5 संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगों को ट्रेस किया जा रहा है. उनकी पूरी जानकारी जुटाने के बाद निगरानी की जाएगी. INSACOG ने कहा कि चिंताजनक स्थिति नहीं है. सब-वैरिएंट से संक्रमितों मरीजों को फिलहाल हॉस्पिटल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है.

वैश्विक स्तर पर टेंशन बढ़ा रहे BA.4 और BA.5

बता दें कि BA.4 और BA.5 वैश्विक स्तर पर टेंशन बढ़ा रहे हैं. ये ओमिक्रॉन (Omicron) के सब वैरिएंट माने गए हैं. ये सबसे पहले इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका में रिपोर्ट किए गए थे. अब कई अन्य देशों में भी इस सब वैरिएंट के मरीज मिल चुके हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
; ;