scorecardresearch
 

पुणे: कोरोना मरीजों के लिए बेड कम पड़े, अस्पताल ने तीन होटल किराए पर लिए

कोरोना के मामले तेजी से बढ़ हैं, इस वजह से अस्पतालों में बेड्स की कमी हो गई है. बेड्स की कमी होने से लोगों में भी डर बढ़ गया है. इससे निपटने के लिए पुणे के एक अस्पताल ने तीन होटल को किराए पर लिया है, जहां आईसीयू और स्पेशल बेड्स की व्यवस्था भी की गई है.

पुणे में बीते 15 दिन से हर दिन 4 हजार पॉजिटिव केस आ रहे हैं. (फाइल फोटो-PTI) पुणे में बीते 15 दिन से हर दिन 4 हजार पॉजिटिव केस आ रहे हैं. (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुणे के रूबी अस्पताल ने होटल किराए पर लिए
  • इन तीनों होटलों में 180 बेड की सुविधा है

कोरोना एक बार फिर डराने लगा है. कोरोना से हालात फिर वैसे ही होने लगे हैं, जैसे एक साल पहले तक थे. इस बार फिर कोरोना कितना खतरनाक हो चुका है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अस्पतालों में कोरोना मरीजों को इलाज के लिए बेड तक नहीं मिल पा रहे हैं. ऐसे ही हालात महाराष्ट्र के पुणे शहर में भी बन गए हैं. यहां मरीज बेड के लिए इंतजार कर रहे हैं. इस बीच पुणे के एक अस्पताल ने तीन होटलों को किराए पर लिया है. 

पुणे शहर में बीते 15 दिनों से रोज 4 हजार के करीब कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं. इतना ही नहीं हर दिन औसतन 25 से ज्यादा लोगों की जान भी जा रही है. कई अस्पतालों की तरफ से मरीजों को बेड नहीं होने की बात भी कही जा रही है, जिससे लोगों में डर का माहौल है.

औंध जिला अस्पताल में डिप्टी सर्जन श्रीमती डोईफोडे ने बताया कि हमारे अस्पताल में 85 बेड में से 15 वेंटिलेटर बेड हैं, जिनमें से 10 बेड उपलब्ध हैं. वहीं, रूबी अस्पताल के संचालक परवेझ ग्रैंट ने कहा कि, कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है, इसी कारण हमने 3 होटल किराए पर लिए हैं. वहां आम बेड के साथ-साथ ऑक्सीजन, स्पेशल बेड की व्यवस्था की है. इन तीनों होटलों में मिलाकर 180 बेड्स हैं. जबकि 200 बेड्स अस्तपाल में हैं. इस तरह हमारे पास कुल 380 बेड्स हैं. रूबी क्लिनिक में 90 वेंटिलेटर बेड की सुविधा है, सभी वेंटिलेटर बेड्स का उपयोग गंभीर मरीजों के इलाज के लिए हो रहा है.

पुणे महानगरपालिका के नायडू अस्पताल में डॉक्टर श्री. पाटसुते ने कहा कि, शहर में कोरोना का पहला मरीज मिलने के समय से वो सेवा दे रहे हैं, लेकिन पिछले 15 दिनों में मरीजों की संख्या बहुत बड़ी है. फिलहाल अस्पताल में 120 बेड हैं और हम 155 मरीजों पर उपचार कर रहे हैं. इन 120 में से 25 आईसीयू और 11 वेंटिलेटर बेड हैं.

शहर के अस्पतालों में 80% इलाज कोरोना मरीजों का होगा
पुणे महानगर पालिका आयुक्त विक्रम कुमार ने कहा कि आर्मी अस्पताल से भी बात की है, आज 5 नए वेंटिलेटर बेड COEP जम्बो अस्पताल में लगाए गए हैं. शहर में कुल 445 वेंटिलेटर बेड्स हैं, लेकिन मरीज ज्यादा होने के कारण सभी वेंटिलेटर बेड्स फुल हैं. पुणे जिले में लगभग 800 वेंटिलेटर बेड्स हैं और लगभग सभी इस्तेमाल में हैं. उन्होंने बताया कि 6 निजी अस्पतालों के साथ करार किया गया है, जहां सिर्फ कोरोना मरीजों का ही इलाज होगा. इसके अलावा शहर के सभी अस्पतालों में 80% कोरोना मरीजों का इलाज किए जाने के आदेश भी दिए हैं.

पुणे में 8 हजार से ज्यादा मामले मिले
पुणे में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. मंगलवार को यहां बीते 24 घंटे में 8,211 नए मामले सामने आए, जबकि 6 मरीजों की मौत हो गई. पुणे में अब तक कोरोना के 5,84,969 मामले सामने आ चुके हैं. 8,440 मरीजों की मौत हो चुकी है. जबकि, 4,95,102 लोग ठीक हो चुके हैं. 81,378 मरीजों का अभी इलाज चल रहा है. वहीं, महाराष्ट्र की बात करें तो पूरे राज्य में मंगलवार को 47,288 नए मामले सामने आए और 155 मरीजों की मौत हुई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें