scorecardresearch
 

कोरोना: गोवा में स्वास्थ्यकर्मियों की कमी, मंत्री बोले- ICU में काम करने वाले लोग चाहिए

एक वक्त पर कोरोना फ्री घोषित हो चुके गोवा में इस वक्त स्वास्थ्यकर्मियों की कमी है. स्वास्थ्य मंत्री की ओर से बयान दिया गया है कि ICU में काम करने वाले लोगों की तलाश जारी है.

X
कोरोना की बढ़ती रफ्तार (PTI)
कोरोना की बढ़ती रफ्तार (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गोवा में जारी है कोरोना वायरस का कहर
  • स्वास्थ्यकर्मियों की कमी से जूझ रहा राज्य

गोवा में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए मामलों के बीच राज्य के स्वास्थ्य मंत्री का चौंकाने वाला बयान आया है. स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे का कहना है कि गोवा में इस वक्त स्वास्थ्यकर्मियों की कमी है, यही कारण है कि कोरोना का संकट बढ़ता जा रहा है.

शुक्रवार को मीडिया को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि मंत्रालय की ओर से लगातार नए लोगों को शामिल किया जा रहा है, जबकि राज्य के अलग-अलग अस्पतालों में तैनात स्वास्थ्यकर्मियों को गोवा मेडिकल कॉलेज में लाया जा रहा है.

यहां गोवा मेडिकल कॉलेज ही सबसे बड़ा कोरोना वायरस का अस्पताल है. मंत्री ने कहा कि अभी ऐसे लोगों की जरूरत है, जो ICU में काम कर सकें.

गौरतलब है कि हाल ही में गोवा में करीब दो दर्जन डॉक्टर और दो दर्जन अन्य स्वास्थ्यकर्मी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे. यही कारण है कि अचानक से कमी सामने उजागर हुई है. स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक, राज्य में कोशिश की जा रही है कि तीन-चार बेड पर एक नर्स जरूर रहे.

बता दें कि गुरुवार को राज्य में कोरोना वायरस के कारण आठ लोगों की मौत हुई थी, मंत्री ने कहा कि हमारी कोशिश है कि मौत की संख्या को लगातार कम किया जाए. गोवा में इस वक्त कोरोना वायरस 13 हजार केस हो गए हैं, जबकि 126 लोगों की मौत हो चुकी है.

शुरुआत में गोवा में कोरोना वायरस के केस आने के बाद सभी मरीज ठीक हो गए थे, जिसके बाद राज्य को कोरोना फ्री घोषित कर दिया गया था. लेकिन अब एक बार फिर केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें