scorecardresearch
 

कोरोना से जंग तेज, समस्तीपुर में भी 20 रेलवे कोच बने आइसोलेशन वार्ड, 54 का टारगेट

समस्तीपुर रेल मंडल के कोचिंग डिपो में खड़ी ट्रेन के 54 कोचों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया जा रहा है. इसमें 20 कोच आइसोलेशन वार्ड के रूप में तैयार कर लिए गए हैं.

समस्तीपुर रेलमंडल में आइसोलेशन कोच (फोटो- जहांगीर आलम) समस्तीपुर रेलमंडल में आइसोलेशन कोच (फोटो- जहांगीर आलम)

  • ट्रेन के डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में बदलने का काम जारी
  • समस्तीपुर रेलमंडल में 54 कोच होंगे आइसोलेशन वार्ड में तब्दील

देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. इस बीच कोरोना के संकट से निपटने के लिए भारतीय रेलवे भी अपने कोचों में आइसोलेशन वार्ड तैयार करने में जुटा हुआ है. बिहार में समस्तीपुर रेलमंडल भी इसकी तैयारी में लग गया है.

समस्तीपुर रेलमंडल के कोचिंग डिपो में खड़ी ट्रेनों के 54 कोचों को आइसोलेशन कोच में तब्दील किया जा रहा है. इसमें 20 कोच आइसोलेशन कोच के रूप में तैयार कर लिए गए हैं. इस कोच में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों को इलाज की सारी सुविधा प्रदान की जाएगी.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

यात्री रेल के कोच को आइसोलेशन वार्ड में बदलने का काम समस्तीपुर, दरभंगा, रक्सौल, सहरसा समेत पांच जगहों के रेलवे स्टेशन के कोचिंग डिपो में चल रहा है. मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी ने बताया कि रेलवे बोर्ड के जरिए 54 कोच का लक्ष्य दिया गया, जिसमें 20 कोच को आइसोलेशन कोच में तब्दील कर दिया गया है. जल्द ही बाकी बचे कोचों को भी आइसोलेशन कोच बना दिया जाएगा.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचाव है जरूरी, इस एक आदत से रहें बिल्कुल दूर

समस्तीपुर रेलमंडल के 5 स्टेशनों के कोचिंग डिपो में 54 बोगियों को आइसोलेशन वार्ड बनाने का निर्देश मंडल रेल प्रबंधक अशोक माहेश्वरी ने दिया है. वहीं डीआरएम ने बताया कि एक कोच में डॉक्टर-नर्स के अलावा 18 बेड की सुविधा दी गई है. इन कोचों में ऑक्सीजन के लिए भी होल्डर्स लगाए गए हैं. साथ ही चिकित्सा उपकरणों के लिए प्रत्येक डिब्बे में 220 वोल्ट बिजली का प्रावधान किया गया है.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस आम सर्दी-जुकाम से कितना अलग? ये होते हैं लक्षण

इसके अलावा रेल के हर कोच में एयर प्लास्टिक के पर्दे लगाए जा रहे हैं. साथ ही मिडल बर्थ को हटा दिया गया है. वहीं एक शौचालय में फर्श लगाकर स्नान कक्ष में बदला गया है. स्नान कक्ष में हैंड शॉवर, एक बाल्टी और मग रखा गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें