scorecardresearch
 

गुजरात: बच्चों के लिए भी घातक हुआ कोरोना, 13 साल के बच्चे की बुखार, सांस लेने में परेशानी के बाद मौत

कोरोना का नया स्ट्रेन अब बच्चों को भी अपनी चपेट में ले रहा है. सूरत के 13 साल के ध्रुव ने कोरोना का इलाज शुरू होने के महज 5 घंटे में ही दम तोड़ दिया. कोरोना की वजह से सबसे छोटी उम्र की मौत का शायद ये पहला मामला सामने आया है.  

13 वर्षीय बच्चे का फाइल फोटो 13 वर्षीय बच्चे का फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बुखार के बाद सांस लेने में हुई ​थी दिक्कत
  • ध्रुव को प्रोटीन डेवलप न होने की थी समस्या 

गुजरात के सूरत में 13 वर्षीय ध्रुव की मौत से दहशत है. ये दहशत इसलिए भी है, क्योंकि ध्रुव कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. उसे हल्का बुखार आया, सांस लेने में दिक्कत हुई. अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया, जहां महज पांच घंटे बाद उसकी मौत हो गई. बताया गया है कि ध्रुव कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित हुआ था.  

सूरत के रहने वाले भावेश के मुताबिक, रविवार दोपहर तक उनका 13 वर्षीय बेटा ध्रुव घर में सामान्य हालात में था. उसे थोड़ा बुखार शुरू हुआ, अचानक ध्रुव को सांस लेने में दिक्कत होने लगी. ध्रुव का कोरोना टेस्ट किया, जो पॉजिटिव आया. उसके बाद ध्रुव को अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल में ध्रुव का इलाज शुरू हुआ, लेकिन इलाज 5 घंटे भी ना चला और ध्रुव मौत से हार गया.

जानकारी के मुताबिक ध्रुव के शरीर में लंबे वक्ते से प्रोटीन डेवलप न होन की समस्या थी. जिसका ट्रीटमेन्ट सूरत में चल रहा था. ध्रुव के पिता भावेश कोरोट रविवार शाम को 7 बजे उसे साची अस्पताल में ट्रीटमेंट के लिए ले गए, जहां तुरंत ही उसका इलाज शुरु किया गया. डॉक्टर उसकी जांच कर रहे थे. कुछ देर बाद ही डॉक्टर ने ध्रुव की मां को बुलाने के लिए कहा और अचानक कह दिया कि ध्रुव की मौत हो चुकी है. 

साची अस्पताल के डॉ.हिमांशु तलवी ने कहा कि जिस समय ध्रुव को अस्पताल में लाया गया था, उसी समय उसकी कोरोना टेस्टिंग कराई गई. ध्रुव की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई. उसकी ​त​बीयत बेहद खराब थी, जिसके बाद उसे वेंटिलेटर पर रखा गया. कुछ ही घंटों में उसकी मौत हो गई. ध्रुव को बचाने के लिए अस्पताल के सीनियर डॉक्टर ने काफी प्रयास किया, लेकिन डॉक्टर कुछ न कर सके. 

बता दें कि सूरत में कोरोना का संक्रमण खतरनाक तरीके से आगे बढ़ रहा है. पिछले 24 घंटे में 603 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 7 लोगों की मौत हो गई. सूरत प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक सूरत के अस्पताल में 10 साल का एक और बच्चा वेंटिलेटर पर है. वहीं बच्चों में बढ़ते कोरोना संक्रमण की वजह से वडोदरा में बच्चों के लिए नया कोविड केयर सेन्टर शुरू किया गया है. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें