scorecardresearch
 

वैक्सीन की कमी के आरोपों पर सरकार ने जारी किया आंकड़ा, बताया मौजूदा स्टॉक

कोरोना वैक्सीनेशन के मसले पर देश में राजनीतिक बयानबाजी जारी है. इस बीच शुक्रवार को केंद्र सरकार ने आंकड़ा जारी कर बताया है कि अभी देश में वैक्सीन की कमी नहीं है.

सरकार ने जारी किया वैक्सीन का आंकड़ा (फोटो: PTI) सरकार ने जारी किया वैक्सीन का आंकड़ा (फोटो: PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना मसले पर हुई जीओएम की मीटिंग
  • देश में वैक्सीनेशन तेज़ हुआ: डॉ. हर्षवर्धन

महाराष्ट्र समेत कई राज्यों द्वारा लगाए जा रहे वैक्सीन की कमी के आरोपों के बीच सरकार की ओर से जवाब दिया गया है. केंद्र सरकार का कहना है कि देश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है.  केंद्र सरकार द्वारा वैक्सीनेशन का खाका भी बता दिया गया है. सरकार के मुताबिक, अभी तक 9.8 करोड़ वैक्सीन की डोज़ दी जा चुकी है.

आंकड़ों के मुताबिक, 2.4 करोड़ वैक्सीन का स्टॉक है और राज्यों को सौंपी जा रही हैं. जबकि 1.9 करोड़ वैक्सीन पाइपलाइन में हैं, जो सरकार के पास पहुंच रही है. 

आपको बता दें कि देश में कोरोना संकट लगातार बढ़ रहा है, ऐसे में वैक्सीनेशन को लेकर सवाल खड़े हो रहे थे. महाराष्ट्र समेत कई राज्यों ने कहा था कि उनके यहां वैक्सीन की कमी है. कुछ राज्यों में तो वैक्सीन की कमी के कारण सेंटर्स को ही बंद करना पड़ा था. लेकिन केंद्र का कहना है कि वैक्सीन की कमी नहीं है, हर किसी को ज़रूरत के हिसाब से वैक्सीन दी जा रही है. 


ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक में बोले हर्षवर्धन
कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच शुक्रवार को ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक हुई. इस मीटिंग को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी संबोधित किया. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि देश में वैक्सीनेशन का काम रफ्तार पकड़ रहा है और बीते दिन भी देश में करीब 37 लाख डोज़ दी गई हैं. 

डॉ. हर्षवर्धन ने जानकारी दी कि हमने अभी तक 1.4 करोड़ वैक्सीन की डोज़ डोनेट की हैं, करीब 5 करोड़ डोज़ कमर्शियल क्रॉन्ट्रैक्ट के तहत 44 देशों को दी हैं. भारत में वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज़ हो रही है, पिछले हफ्ते में एक दिन 43 लाख डोज़ दी गई थीं. जबकि बीते दिन भी 37 लाख से अधिक डोज़ दी गई हैं. 

डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि इस वक्त देश में कुल कोरोना मरीज़ों में से 0.46 फीसदी वेंटिलेटर पर हैं, जबकि 2.31 फीसदी ICU पर और 4.51 फीसदी मरीज़ ऑक्सीज़न सपोर्ट बेड पर हैं.

स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक, 149 जिलों में पिछले 7 दिनों से कोई केस नहीं आया, जबकि 8 जिले ऐसे हैं जहां 14 दिन में कोई केस नहीं आया. इसके अलावा 3 जिलों में 21 दिनों से कोई केस नहीं है और 63 जिलों में 28 दिनों से कोई मामला नहीं है. हर्षवर्धन ने बताया कि देश में पहले रिकवरी रेट 96-97 फीसदी तक पहुंच गया था, जो अब 91.22 फीसदी पर पहुंच गया है. 

ये भी पढ़ें

 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें