scorecardresearch
 

दिल्ली सरकार के प्लाज्मा बैंक से अब तक 710 लोगों को मिला मुफ्त प्लाज्मा

कोविड-19 से ठीक हो चुके अब तक 921 लोगों ने प्लाज्मा बैंक में आकर प्लाज्मा दान किया है. इसमें 14 लोगों ने एक से अधिक बार प्लाज्मा दान किया है.

ILBS और LNJP अस्पताल में है प्लाज्मा बैंक ILBS और LNJP अस्पताल में है प्लाज्मा बैंक

  • 921 लोग कर चुके हैं दान, ILBS व LNJP में है प्लाज्मा बैंक
  • 'AB' ब्लड ग्रुप का प्लाज्मा भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है

दिल्ली सरकार के ILBS और LNJP अस्पताल में स्थापित प्लाज्मा बैंक से राज्य सरकार, केंद्र सरकार व एमसीडी के अस्पतालों के अलावा सभी निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे कोरोना के गंभीर मरीजों को निशुल्क प्लाज्मा उपलब्ध कराया जा रहा है. अब तक इन दोनों प्लाज्मा बैंक से 710 यूनिट प्लाज्मा दिल्ली के विभिन्न सरकारी व निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे कोरोना के गंभीर मरीजों को निशुल्क दिया जा चुका है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि प्लाज्मा थेरेपी ने गंभीर रूप से बीमार मरीजों को ठीक करने में उत्साह जनक परिणाम दिखाया है. उन्होंने कहा कि कोविड -19 मरीजों की मृत्यु दर कम करने में प्लाज्मा की महत्वपूर्ण भूमिका रही है और जब तक कोई टीका नहीं आता है, तब तक प्लाज्मा थेरेपी को कोविड -19 के प्रभावी उपचार के रूप में देखा जाना चाहिए.

मुख्यमंत्री के मुताबिक, ILBS और LNJP अस्पताल में स्थापित प्लाज्मा बैंक में सभी ब्लड ग्रुप का प्लाज्मा उपलब्ध है. यहां तक कि ‘AB’ ब्लड ग्रुप का प्लाज्मा मिलने में दिक्कत होती है, लेकिन प्लाज्मा बैंक के स्टॉक में ‘AB’ ब्लड ग्रुप का प्लाज्मा भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है और डॉक्टर की सलाह पर अब तक ‘AB’ ग्रुप के 90 मरीजों को प्लाज्मा दिया जा चुका है. इसके अलावा, दोनों प्लाज्मा बैंक के स्टॉक से ‘A’ ब्लड ग्रुप के 171, ‘O’ ग्रुप के 180 और ‘B’ ब्लड ग्रुप के 269 मरीजों को प्लाज्मा दिया जा चुका है.

प्लाज्मा बैंक से अब तक 60 साल से कम उम्र के 388 मरीजों को उच्च गुणवत्ता का प्लाज्मा उपलब्ध कराया जा चुका है और 60 साल से उपर के उम्र के 322 मरीजों को प्लाज्मा दिया जा चुका है, जो कोरोना से गंभीर रूप से बीमार होने के कारण खतरे में थे. इसमें सबसे कम उम्र के 18 वर्षीय युवक को उच्च गुणवत्ता का प्लाज्मा दिया गया है, जबकि सबसे अधिक उम्र के 94 वर्षीय एक बुजुर्ग को प्लाज्मा दिया गया है. इसी तरह, अब तक दोनों प्लाज्मा बैंकों के स्टाॅक से कोरोना से पीड़ित 522 पुरुष और 188 महिलाएं लाभान्वित हुए हैं.

कोरोना वैक्सीन पर कल एक्सपर्ट कमेटी की अहम बैठक, सभी पहलुओं पर होगी चर्चा

कोविड-19 से ठीक हो चुके अब तक 921 लोगों ने प्लाज्मा बैंक में आकर प्लाज्मा दान किया है, जिसमें 86 स्वास्थ्यकर्मी, 209 उद्यमी, 8 मीडियाकर्मी, 28 पुलिस अधिकारी, 50 छात्र, 32 सरकारी अधिकारी और नौकरी पेशा, सेल्फ एम्प्लाइड प्रोफेशनल्स, गैर निवासियों समेत 508 अन्य लोग शामिल हैं. वहीं, कोविड-19 से ठीक हो चुके करीब 14 लोगों ने एक से अधिक बार प्लाज्मा दान किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें