scorecardresearch
 

Coronavirus: रिकॉर्ड वैक्सीनेशन पर WHO ने दी पीएम मोदी को बधाई, जानें किसे लगा 100 करोड़वां टीका

India 100 Crore Corona Vaccines: भारत में कोरोनावायरस वैक्‍सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ को पार कर गया है. पीएम मोदी ने इस अवसर पर डॉक्‍टरों और नर्सों को धन्‍यवाद कहा, WHO ने भी PM मोदी को बधाई दी है.

PM Modi 100 Crore vaccination PM Modi 100 Crore vaccination
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 100 करोड़ के पार हुआ देश में वैक्‍सीनेशन
  • PM मोदी को WHO ने कहा धन्यवाद

100 crore Vaccination India: भारत ने कोरोनावायरस वैक्‍सीनेशन में नया इतिहास रच दिया है, इस मौके पर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) के डायरेक्‍टर जनरल Tedros Adhanom Ghebreyesus ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी है. इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों, हेल्‍थवर्कर्स और लोगों को भी बधाई दी है. इस मौके पर आज देश भर में कई जगह कार्यक्रम हुए. 
पीएम मोदी दिल्‍ली में मौजूद राममनोहर लोहिया अस्‍पताल (RML Hospital) भी पहुंचे, जहां उन्‍होंने उस शख्‍स से भी बातचीत की जिसको 100 करोड़वां वैक्‍सीन लगा. 

पीएम जब राममनोहर लोहिया अस्‍पताल पहुंचे तो उन्‍होंने यहां मौजूद अस्‍पताल के स्‍टाफ से भी बात की, इसके अलावा उन्‍होंने अस्‍पताल में मौजूद एक गार्ड से भी संवाद किया साथ ही उसके परिवार का हाल जाना. जब 100 करोड़वां वैक्‍सीन लग रहा था तो पीएम मोदी उस शख्‍स के पास खड़े हुए नजर आए, जिसे टीका लगा. अस्‍पताल में पीएम मोदी को एक मरीज ने गाना भी सुनाया.  

वाराणसी के अरुण को लगा वैक्‍सीन नंबर 100 करोड़ 
वाराणसी से दिल्ली आए अरुण राय को दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में 100 करोड़वां वैक्‍सीन लगा. भारत ने 100 करोड़ वैक्‍सीन लगाने का लक्ष्‍य में नौ महीने का समय लिया. इससे पहले पीएम मोदी ने 100 करोड़ वैक्‍सीन लगने पर ट्वीट किया, जिसमें उन्‍होंने लिखा भारत ने इतिहास रचा. हम भारतीय विज्ञान, उद्यम और 130 करोड़ भारतीयों की सामूहिक भावना की जीत देख रहे हैं. 100 करोड़ टीकाकरण पार करने पर भारत को बधाई. हमारे डॉक्टरों, नर्सों और इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए काम करने वाले सभी लोगों को धन्‍यवाद. 

100 Crore Vaccine

कब कैसे लगा लोगों को वैक्‍सीन 
भारत में वैक्‍सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी, पहले चरण में स्‍वास्‍थकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना का टीका लगाया गया. इसके बाद दूसरे चरण की शुरुआत 1 मार्च से हुई थी, 60  साल से ऊपर की उम्र वाले सभी लोगों को वैक्‍सीन दी गई, वहीं गंभीर बीमारी से जूझ रहे 45 साल से ज्‍यादा उम्र वाले लोगों को टीका लगाने की शुरुआत हुई. 1 अप्रैल से देश में 45 साल से ज्‍यादा उम्र वाले लोगों को वैक्‍सीन लगाया गया. 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र वालों को टीका लगा, अब देश में बच्‍चों को भी जल्‍द वैक्‍सीन लगने की शुरुआत हो सकती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें