scorecardresearch
 

कोरोना से जंग में छत्तीसगढ़ ने किया कमाल, 10 में से 9 मरीजों ने वायरस को दी मात

15 मार्च को जब प्रदेश में पहला कोरोना संक्रमित केस उजागर हुआ था, तभी से मंत्री काफी सक्रिय रहे हैं. वो बार-बार लोगों से घरों में रहने और बेवजह बाहर नहीं निकलने की अपील करते रहे हैं.

छत्तीसगढ़ में ठीक हो रहे मरीज (फोटो-पीटीआई) छत्तीसगढ़ में ठीक हो रहे मरीज (फोटो-पीटीआई)

  • कोरोना के 10 संक्रमितों में से नौ हुए ठीक
  • एक का अभी भी चल रहा है इलाज

कोरोना वायरस के प्रसार को कम करने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन है. इसके बावजूद लोगों के बीच यह महामारी तेजी से पांव पसार रही है. पंजाब, हिमाचल समेत कई राज्यों में कई लोग हताश होकर कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद आत्महत्या तक कर रहे हैं. लेकिन इन सब के बीच एक राहत की खबर है. छत्तीसगढ़ में मरीजों का रिकवरी दर 90 प्रतिशत है. यानी 10 में से 9 मरीज ठीक हो रहे हैं.

बता दें, छत्तीसगढ़ में कुल 10 कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए थे. लेकिन उनमें से नौ अब रिकवर कर चुके हैं, यानी वो अब पूरी तरह ठीक है. सिर्फ एक मरीज बचा है जिसका इलाज किया जा रहा है. प्रदेश सरकार को उम्मीद है कि वो भी जल्द ठीक होकर घर वापस लौट जाएगा.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

छत्तीसगढ़ के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'छत्तीसगढ़ में COVID-19 के दस मरीजों में से नौ मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. इसलिए अब सिर्फ एक मरीज बचा है जो COVID-19 संक्रमित है. विशेषज्ञ डॉक्टर्स की एक टीम उनकी देखभाल कर रही है. बाकी सभी मरीज अब पूरी तरह ठीक हो गए हैं.'

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने इससे पहले लोगों से खुद को सेल्फ आइसोलेशन में रखने की भी अपील की थी. 15 मार्च को जब प्रदेश में पहला कोरोना संक्रमित केस उजागर हुआ था, तभी से मंत्री काफी सक्रिय रहे हैं. वो बार-बार लोगों से घरों में रहने और बेवजह बाहर नहीं निकलने की अपील करते रहे हैं.

जाहिर है अब तक कोई भी देश इस बीमारी का समुचित इलाज करने का दावा नहीं कर रहा है. इसके बावजूद छत्तीसगढ़ में 10 में से 9 मरीजों का ठीक होकर घर लौटना उम्मीद जगाता है.

देश में अबतक कोरोना के मरीजों की संख्या 4067 हो चुकी है. वहीं मरने वालों का आंकड़ा 109 तक पहुंच गया है. हालांकि अबतक 291 मरीज कोरोना के खिलाफ जंग जीतकर घर लौट चुके हैं. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 748 लोगों में कोरोना संक्रमण है, जबकि 45 मरीजों की मौत हो चुकी है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

अकेले मुंबई शहर में कोरोना का सबसे ज्यादा खौफ देखा जा रहा है, जहां मरीजों की संख्या 458 हो चुकी है, जबकि 30 मरीजों की जान जा चुकी है. दिल्ली में कोरोना से 503 लोग संक्रमित हैं, जिनमें 320 मरीजों का निजामुद्दीन के तबलीगी जमात के मरकज से संबंध हैं, जिसका मुखिया मौलाना साद फरार चल रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें