scorecardresearch
 

लॉकडाउनः मेरठ में हुई एक ऐसे जोड़े की शादी, जिसे देखने जुट गई भीड़

मेरठ के रहने वाले तीन फुट के फिरोज के लिए दूल्हा बनना किसी सपने के सच होने जैसा है. परिवार के लोग लगभग 5-6 सालों से शादी के प्रयास में थे. लेकिन हर बार लंबाई आड़े आ जाती थी. लेकिन अचानक एक दिन एक पहचान वाले ने उन्हें देखा और अपनी तीन फुट की बहन के लिए पसंद कर लिया.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • छोटे कद की वजह से नहीं हो रही थी फिरोज की शादी
  • लेकिन संयोग से फिरोज के कद की दुल्हन मिल गई
  • नए जोड़े की शादी देखने के लिए अचानक जुट गई भीड़

मेरठ के रहने वाले तीन फुट के फिरोज के लिए दूल्हा बनना किसी सपने के सच होने जैसा है. परिवार के लोग लगभग 5-6 सालों से शादी के प्रयास में थे. लेकिन हर बार लंबाई आड़े आ जाती थी. लेकिन अचानक एक दिन एक पहचान वाले ने उन्हें देखा और अपनी तीन फुट की बहन के लिए पसंद कर लिया. 

फिर क्या था, दोनों परिवार के लोग बैठे और रिश्ता तय हो गया. बताया जा रहा है कि ढाई माह पहले शादी की तारीख तय हो गई थी, लेकिन लॉकडाउन के दौरान इंतजार करना पड़ा और अब दोनों एक-दूसरे को हो गए.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के लक्खीपुरा निवासी फिरोज की लंबाई तीन फुट है. बाकी सभी घर वाले सामान्य कद के हैं. फ़िरोज़ की शादी के लिए परिजनों को चिंता लगी रहती थी. 

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...
 

उम्र के साथ ही शादी की बात चलने लगी, लेकिन लंबाई आड़े आ जाती थी. लेकिन एक दिन वह अपने एक पहचान वाले के घर गए तो वहां उन के उस के रिश्तेदार ने देखा. उन के घर में भी एक लड़की थी जिस की शादी के लिए वो भी परेशान थे. वह भी अपनी तीन फुट की बहन जैनब की शादी के लिए परेशान थे. बात आगे बढ़ी और दोनों परिवारों की रजामंदी के बाद रिश्ता तय हो गया और फिर शादी हो गई.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें
 

बरात में घर-परिवार के ही कुछ खास लोग गए थे. दोनों की जोड़ी देखने के लिए दोनों जगहों पर ही लोग एकत्र हो गए थे. दूल्हा फ़िरोज़ का कहना है कि जोड़ी ऊपर वाले ने सभी की बनाई है और वो अपनी शादी से बहुत खुश हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें